क्लास की लड़की को होटल में चोद कर मजा आ गया

sex stories in hindi

मेरा नाम पारस है मैं रांची का रहने वाला हूं, मेरी उम्र 22 वर्ष है। मेरे पिताजी बैंक में है और मेरी मां घर का काम संभालती हैं। मेरे बड़े भैया विदेश में रहते हैं। मेरा ग्रेजुएशन मैंने रांची से ही किया, उसके बाद मैंने एमबीए करने का फैसला किया। मैंने एमबीए करने के लिए दिल्ली में अप्लाई कर दिया और मेरा वहां पर एडमिशन हो गया। जब मेरा दिल्ली में एडमिशन हो गया तो उसके बाद मैं दिल्ली जाने की तैयारी करने लगा। मैंने अपने माता पिता से भी इस बारे में बात कर ली थी। मेरी मां मुझे कहने लगी कि तुम आज तक कभी भी घर से बाहर नहीं गए हो इसलिए तुम्हारे पिताजी तुम्हारे साथ आएंगे। मेरे पिताजी ने अपने बैंक से कुछ दिनों के लिए छुट्टी ले ली और उसके बाद वह मेरे साथ आ गए।

जब वह मेरे साथ आए तो हम लोग एक होटल में रुके थे, हम लोग जिस होटल में रुके थे वहां से मेरा कॉलेज पास ही था। हम लोगों ने कॉलेज में सारी प्रक्रिया पूरी कर ली और उसके बाद मेरे पिताजी ने मेरे लिए एक पीजी देख लिया, मैं वहीं पर रहने लगा और मेरे पिताजी रांची वापस लौट गए। कुछ दिनों बाद मैं भी कॉलेज जाने लगा, मेरे साथ में जितने भी मेरे कॉलेज के दोस्त है वह सब बहुत ही अच्छे थे और उनके साथ मेरी अच्छी बनती थी लेकिन उसके बावजूद भी मैं अपने आप को अकेला महसूस करता था। मुझे मेरे घर वालों की बहुत ज्यादा याद आ रही थी, मेरे पास ऐसा कोई भी नहीं था जिसे मैं खुलकर बात कर सकूँ। हमारे क्लास में एक लड़की है उसका नाम काजल है। काजल और मेरी पहले बात नहीं होती थी लेकिन धीरे-धीरे हम दोनों की बात होने लगी। मैंने उसे बताया कि मैं यहां पीजी में रहता हूं। वह मुझे कहने लगी कि क्या तुम्हें तुम्हारे घर वालों की याद नहीं आती, मैंने उसे कहा कि मेरा मन तो होता है लेकिन मैंने ऐडमिशन यही ले लिया है इसी वजह से अब मुझे यही पढ़ाई करनी पड़ेगी। कई बार मुझे लगता है कि मैं वापिस चले जाऊं परंतु मैं अपनी पढ़ाई पूरी कर के ही घर वापस लौटूंगा। मैंने काजल का नंबर ले लिया था, मैंने जब काजल का नंबर लिया तो उसके बाद मैंने उसे मैसेज करना शुरू कर दिया और मैं उसे काफी मैसेज करता था।

वह भी मुझसे मैसेज में ही बात करती थी लेकिन धीरे-धीरे हम दोनों के बीच में फोन पर बात होने लगी। मैं उससे फोन पर बात किया करता था। मैंने एक दिन उसे फोन पर ही प्रपोज़ कर दिया,  मैंने उससे कहा कि मैं जब भी तुमसे बात करता हूं तो मुझे बहुत अच्छा लगता है। काजल भी मुझसे अपनी बहुत सी बातें शेयर करती थी। मुझे भी उससे बात शेयर करना अच्छा लगता था। अब हम दोनों कॉलेज में ही काफी बातें किया करते थे और मेरी फोन में भी उससे बहुत बात होती थी। एक दिन काजल हमारे ही क्लास के किसी और लड़के के साथ बैठी हुई थी, उसका नाम करन है। वह उससे पहले कभी भी करन के साथ नहीं बैठी थी, मुझे लगा शायद वह दोनों किसी काम के सिलसिले में बैठे हैं लेकिन उन दोनों के बीच में अब रिलेशन चलने लगा था और मुझे इस बात की बिल्कुल भी जानकारी नहीं थी। काजल ने मुझे यह बात नहीं बताई थी इसलिए मुझे उसकी यह बात बहुत बुरी लगी और मैंने उसके बाद उससे बात करनी बंद कर दी। उसने भी मुझसे काफी समय तक बात नहीं की और मुझे ऐसा लगा कि शायद उसे मुझसे कुछ भी फर्क नहीं पड़ता इसीलिए मैं भी अपनी पढ़ाई में ही बिजी हो गया। उसका और करन का रिलेशन चलने लगा,  वह दोनों क्लास में भी साथ में ही बैठते थे। काजल करन के साथ घूमने के लिए भी जाती थी, जब भी वह घूमने जाती तो अपनी फोटो अपनी फेसबुक पर लगा दिया करती थी। मैं हमेशा ही उसे देखता था लेकिन उसके बावजूद मैंने उसे कुछ नहीं कहा और ना ही मैंने उसके बाद उससे कभी बात करने की कोशिश की। कई बार मैं यह सोचता था कि काजल तो मुझसे बहुत अच्छे से बात करती थी लेकिन अब वह मुझसे बिल्कुल भी बात नहीं करती, मैंने तो उसे ऐसा कुछ भी नहीं कहा लेकिन अब वह मुझसे भी बात नहीं कर रही थी और ना ही मेरी उससे बात हो रही थी, अब हम दोनों अलग ही रहते थे। एक दिन मैं कैंटीन में बैठा हुआ था, उस दिन काजल मेरे पास आई और मेरे साथ बैठ गई।

मैंने उसे कुछ देर तक बात नहीं की लेकिन उसने ही मुझसे बात की और कहने लगी कि तुम मुझसे क्यों बात नहीं कर रहे हो, मैंने काजल से कहा कि तुम ही मुझसे बात नहीं कर रही हो। मैंने उस दिन काजल को बता दिया कि मुझे तुम्हारा और करन का रिलेशन बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता क्योंकि तुमने मुझे यह बात नहीं बताई इसलिए मुझे तुम्हारी यह बात बहुत बुरी लगी। वह कहने लगी कि मैं तुम्हें बताना चाहती थी लेकिन मैं बता नहीं पाई। मैंने काजल से कहा कि मैं तो तुम्हें हमेशा ही फोन करता था, उसके बावजूद भी तुमने मुझे कभी भी यह बात नहीं बताई, मुझे इस बात का बहुत ही बुरा लगा। काजल ने उसके लिए मुझसे सॉरी कहा और कहने लगी कि मुझे लगा शायद तुम ही मुझसे बात नहीं करना चाहते। मैंने काजल से कहा कि मैं तो तुमसे हमेशा ही बात करना चाहता हूं लेकिन तुम्हें मुझे करन के बारे में बताना चाहिए था। अब हम दोनों बैठ कर बात कर रहे थे और काजल कहने लगी कि करण के साथ मेरा रिलेशन बहुत अच्छा चल रहा है, मैं उसके साथ रिलेशन में बहुत खुश हूं। मैंने काजल से कहा कि मैं तुम्हारी फोटो हमेशा ही देखता हूं, तुम उसमें बहुत ही अच्छी लगती हो।

काजल और मैं उठकर अपने क्लास में चले गए, हम लोग जब क्लास में गए तो कुछ देर बाद हमारे टीचर आ गए और वह हमें पढ़ाने लगे। जब हमारी क्लास खत्म हुई तो उसके बाद मैं सीधा ही अपने पीजी में चला गया। उस दिन काजल ने मुझे फोन किया और काजल से मेरी काफी देर तक बात हुई। अगले दिन जब मैं काजल के साथ अपनी क्लास में बैठा हुआ था तो उस दिन यह बात करन को बिल्कुल भी अच्छी नहीं लगी और करन हमारे साथ बैठ गया वह कहने लगा कि तुम काजल के साथ क्यों बैठे हो, मैंने करन से कहा कि काजल मेरी अच्छी दोस्त है इसलिए हम दोनों साथ में बैठे हुए हैं लेकिन करन को मुझ पर बहुत गुस्सा आ गया और उसने मुझे धक्का मार दिया। जब उसने मुझे धक्का मारा तो उसके बाद मैं दूसरी सीट पर जाकर बैठ गया लेकिन काजल को यह बात बहुत बुरी लगी और उसने करन को कहा कि तुम आज के बाद कभी भी मुझसे बात मत करना। उसके बाद करन और काजल की बात बंद हो गई। काजल, करन के साथ बिल्कुल भी बात नहीं करती थी। अब काजल और मैं साथ में ही कॉलेज में आते थे, हम लोग क्लास में भी साथ में बैठा करते थे। करन ने उससे कई बार माफी मांगने की कोशिश की लेकिन काजल ने उससे कभी भी बात नहीं की। करन ने एक बार मुझे भी फोन किया था और कहा था कि क्या तुम काजल को समझा सकते हो। मैंने करन से कहा कि मै इस बारे में काजल से बात करूंगा। मैंने इस बारे में काजल से भी बात की लेकिन काजल ने मुझे कहा कि अब तुम करन बात कभी मुझसे मत करना क्योंकि मैं बिल्कुल भी नहीं चाहती कि अब मेरी बात करन के साथ हो। मुझे नहीं पता था कि वह इस प्रकार का लड़का है और वह मुझ पर इतना शक करता है इसीलिए मैंने अब उससे बात करना बिल्कुल बंद कर दिया है। काजल और मेरी दोस्ती पहले से ही अच्छी थी और वह मुझसे हर बात शेयर करती थी। उसने उसके बाद कभी भी करन से बात नहीं की। मैंने एक दिन काजल से कहा कि क्या हम लोग कभी आउटिंग पर जा सकते हैं। वह कहने लगी हां क्यों नहीं हम लोग जरूर जा सकते हैं। काजल ने अपने घर पर कहा कि मैं अपने दोस्तों के साथ बाहर जा रही हू और कल सुबह आऊंगी। मैं काजल को अपने साथ एक अच्छे होटल में ले गया और हम लोग होटल के रेस्टोरेंट में बैठे हुए थे। उस दिन हम लोगों ने साथ में डिनर किया और उसके बाद काफी देर हो चुकी थी। मैंने उस होटल में ही रूम ले लिया हम लोग रूम में बैठे हुए थे और बात कर रहे थे।

काजल उस दिन बहुत सुंदर लग रही थी इसलिए मैंने उसकी जांघों को कसकर पकड़ लिया और दबाना शुरू कर दिया। मुझे बड़ा अच्छा लग रहा था जब मैं उसकी जांघों को दबा रहा था और काजल पूरे मूड में आ रही थी। मैंने काफी देर तक उसकी जांघ को दबाया। मैंने उसके होठों को अपने होठों में लेकर किस करना शुरू कर दिया काफी समय तक मैंने उसके होठों का रसपान किया। उसके बाद मैंने उसके स्तनों को बाहर निकालते हुए जैसे ही अपने मुंह में लिया तो उसकी उत्तेजना बढ़ने लगी और वह पूरे मूड में आ गई। मैंने उसके स्तनों को बहुत अच्छे से चूसा उसके बाद मैंने अपने लंड को बाहर निकालते हुए काजल के मुंह में डाल दिया। मुझे बड़ा अच्छा लग रहा था जब काजल मेरे लंड को मुंह में ले रही थी। उसके बाद मैंने उसके दोनों पैरों को चौड़ा कर दिया। मैंने जैसे ही अपनी जीभ को उसकी योनि के अंदर डाला तो उसका पानी बाहर आ गया। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था जब मै उसकी चूत को चाट रहा था तो वह भी पूरे मूड में थी। मैंने अपने लंड को काजल के अंदर डाल दिया जैसे ही मेरा लसकी चूत मे गया तो उसका खून बाहर की तरफ आने लगा और उसे बहुत अच्छा महसूस होने लगा। मैं उसे बड़ी तेजी से चोद रहा था और मुझे भी काफी अच्छा लग रहा था। उसने अपने दोनों पैरों को चौड़ा कर लिया और मै उसे बड़ी तेजी से चोद रहा था। उसकी योनि से खून भी बाहर निकल रहा था और कुछ ही झटकों के बाद हम दोनों एक दूसरे की गर्मी को नहीं झेल पाए और मेरा लंड बुरी तरीके से छिल चुका था। जब उसकी योनि से उसका पानी ज्यादा ही बाहर निकलने लगा तो उसने मुझे कसकर पकड़ लिया और मैंने उसे बड़ी तेज झटके मारे। मैंने उसे 15 मिनट तक बड़े अच्छे से चोदा और उसके बाद मेरा वीर्य काजल की योनि में गिर गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *