गाँव के खेत में पुष्पा भाभी की चुदाई 2 Hindi Sex Stories

Hindi Chudai kahani – Gav ke khet mai Pushpa Bhabhi ki chudai तुवर के घने खेत में घुस कर मेरे पास आ गई , आते ही मैंने पुष्पा को बोरे के बिस्तर पर बिठा दिया और बोला साडी ऊपर करो तो पुष्पा ने तुरंत ही साडी उठा दिया तो बुर दिखाई देने लगी तब मैंने प्लास्टिक कि एक पन्नी से कैंची और बीट निकला और बुर के बड़े बड़े बाल को कैंची से काट दिया और बीट लगा दिया और ब्लाउज उतारने को कहा तो पुष्पा ने जल्दी से ब्लाउज भी उतार दिया तो पुष्पा के कखौरी के दोनों तरफ भी बीट लगा दिया और 10 मिनट तक रुकने के लिए कहा तब तक पुष्पा के स्तनो से खेलने लगा ,मस्त मस्त बड़े बड़े स्तनो को चूसने लगा ,पुष्पा भी मेरे लण्ड के साथ खेलने लगी और बोली ”आज ये तो ज्यादा मोटा और लंबा लग रहा है ” [वियग्रा के कारण लण्ड में आज ज्यादा तनाव है] तो मैंने बोला ” नहीं भौजी ये तो रोज ही ऐसा रहता है ” तो पुष्पा बोली ” ठकुराइन बड़ी नसीब वाली है जिसे इतने मोटे और लम्बे लण्ड का सुख मिलता है ” तब मैंने कुछ नहीं कहा और पुष्पा को किस करने लगा पुष्पा खूब गरम पड़ चुकी थी पर मैं अभी और गर्म करना चाहता था ,मैंने पुष्पा को बोला कि लेट जाओ अब तुम्हारे बाल साफ़ कर दू तो पुष्पा लेट गई तो मैं पुष्पा के बुर के बाल को हाथ से घिस घिस कर निकाल दिया बीट हेयर रिमूवर क्रीम के कारण सारे बाल

साफ़ हो गए चूत मस्त चकनी हो गई तब मैंने पुष्पा का हाथ पकड़ा और उसकी चूत पर हाथ रख दिया पुष्पा हाथ लगाते ही चौक गई और बोली ये तो कुंवारे कि तरह चिकनी ही गई फिर मैंने पुष्पा कि ‘कखोरी’ के भी बाल साफ़ कर दिया और पुष्पा कि कई फोटो ले लिया अपने गैलक्सी मोबाइल से और पुष्पा को ओ सभी फोटो दिखाया तो पुष्पा बहुत खुस हुई और बोली मैं इतनी ”स्मार्ट” हु , मैं स्मार्ट सब्द सुनकर पुष्पा से पूछा कि तुम कितना पढ़ी हो तो पुष्पा ने कुछ नहीं कहा और मेरे लण्ड को फिर से खिलाने लगी और बोलती है ”’पहले मेरे तन कि आग बुझाइये जली जा रही हु इस जवानी कि आग में फिर सब बता दुगी आपको” ,तब मैं पुष्पा के सभी कपडे उतार कर एकदम नंगी कर दिया और पुष्पा कि चूत को उसके पेटीकोट से थूक लगाकर साफ़ किया और चूत कोचाटने लगा ,पुष्पा तो गर्म थी मेरे जीभ के स्पर्श से पुष्पा के तन वदन में आग लग गई पुष्पा उठकर बैठ गई और लण्ड को पकड़ने लगी तो मैंने लण्ड को पुष्पा कि बुर के पास ले गया तो पुष्पा ने अपने चूतड़ो को आगे खिसकाया और लण्ड को बुर में घुसाने लगी तो मैंने लण्ड को पीछे कर लिया पुष्पा को तड़पाने के लिए तो पुष्पा ने अपने दोनों हाथ को मेरे दोनों कंधो पर लगाया और [लण्ड कि आगे कि चमड़ी हटाये बिना लण्ड पर कंडोम चढ़ा लिया जिससे बहुत देर तक चुदाई कर सकू पुष्पा कि ]
मुझे बोरे के बिस्तर पर उलटा गिरा दिया और मेरे खड़े लण्ड को पकड़ा और मेरे ऊपर चढ़ गई और लण्ड को बुर में घुसेड़ लिया और बैठ गई तब मेरा 10 इंची लंबा और खूब मोटा लण्ड पुष्प कि नाभि तक घुस गया तब मैं हल्का सा उठकर आधा बैठ गया पाँव को फैला कर जमीन पर हाथ को रखकर और पूषा के बड़े बड़े मस्त चुचियो को चूसने लगा और पुष्पा घुटने के बल खड़ी होकर ऊपर -नीचे होने लगी ,पुष्पा खड़े लण्ड में मलखम्ब कर रही थी और मैं पुष्पा कि बड़ी बड़ी चुचियो को चूसता रहा पुष्पा जोर जोर से अपने चूतड़ को मेरे जांघो पर पटक रही थी सुनसान खेत में फट फट कि जोर जोर से आवाज आ रही थी मैं घबरा गया कही कि ये आवाज सुनकर आ नहीं
जाए तब मैं पुष्पा को इसारा किया कि धीरे -धारे करो तो पुष्पा मेरे ऊपर लेट गई और अपनी दोनों टांगो कि पौली को मेरे पाँव में टिका कर मेरे सीने पर अपनी बड़ी बड़ी चुचियो को घिसते हुए आगे -पीछे करने लगी औरमेरी जीभ को अपने मुह में डाल कर चूसने लगी और मुह से उउउउउ उउउ ऊ आ आ आ आ आह आह आह आह सी सी सी स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स आआआआआआआ आए अह अह अह अह अह कि आवाजे निकलाने लगी औरजल्दी जल्दी अपनी चुचियो को मेरे सीने पर घिसने लगी इस तरह करीब 9 मिनट हो गए थे पुष्पा के चेहरे पर पसीना आ गया पुष्पा थकने लगी तो मैंने पुस्पा को बोला
कि उठो तो पुष्पा उठ गई ओट मैंने पुष्पा कि बुर में लण्ड को डालकर पुष्पा को उठाने लगा तो पुष्पा बोली क्या कर रहे हो मैं नहीं उठोगी आपसे तब भी मैं नहीं मना और पुष्पा को दोनों हाथो से उठा लिया ,पुष्पा ने अपने दोनों हाथ को मेरे कंधे में डाल लिया और दोनों पाँव को मेरे चूतड़ के पास आपस में फसा लिया तब मैं मजे से पुष्पा को हवा में लहरालहरा कर चोदना सुरु कर दिया पुष्पा मेरे कंधो को पकड़ कर झूलती रही और मेरे गले में जोर जोर से किस करती रही लगातार 6 मिनटक मैं झूला झुला -झूला कर पूषा को चोदता रहा पर मेरे कंधे भी दर्द करने लगे पर पुष्पा अभी तक झरी नहीं तो मैंने पुष्पा को जमीन में बोरे पर लिटा दिया और पुष्पा के ऊपर चढ़ गया तो पुष्पा ने अपनी दोनों टांगो को मेरे पीठ पर रख दिय मैं पुष्पा को बड़े मजे से चोदने लगा पुष्पा बार बार मेरे गालो को -गले को चूसने लगी मैं भी पुष्पा की जीभ को अपने मुह में डाल कर चूसने लगा पुष्पा बड़े मजे के साथ चुदा रही थी पुष्पा के मुह से जोर जोर से उउउ ऊ ऊ आ आ आ आ आ आह आह आह हा सी सी सी सी स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स स्स्स्स्स्स्स्स्स स्स्स्स्स कि आवाज निकालने लगी और कहने लगी जल्दी जल्दी करो ना जान लोगे क्या मेरी तब मैं जोर जोर से जल्दी जल्दी प्यूरी ताकत लगाकर झटके मारने लगा कुछ ही देर में पुष्पा और मैं ढेर हो गए मैं पुष्पा के ऊपर बेजान होकर लेट गया ढेर सारा वीर्य कंडोम में भर गया करीब 3 मिनट तक हांफते हुए पुष्पा के ऊपर पड़ा रहा तो पुष्पा बोली अब उठिए भी तब मैं उठ गया और मोटा सा लण्ड को बाहर निकाला जो वियाग्रा के अशर से अभी तक तना हुआ था जिसे देखकर पुष्पा ने कहा कि क्या हुआ आपका मन नहीं भरा अभी तो और कर लीजिये तब मैंने कहा कि हो गया शान्त पर भौजी आपने तो थका लिया मुझे तो पुष्पा बोली आपने तो हलाल ही डाला आज इसके पहले कभी भी मेरे पहले वाले पति और ये नहीं चोदे थे जितना आपने आज चोदा मजा आ गया आज और फिर पुष्पा मेरे कंडोम में लगे खून को देखी और बोली कि लगता है महीना आ गया फिर पुष्पा उठी और कपडे पहनने लगी तो मैंने पुष्पा को अपनी पत्नी कि ब्रा और पेंटी दिया जो एकदम से नै थी आते समय खरीदा था मैंने पुष्पा को कहा कि पहन लो इसे तो पुष्पा ने एक बार मेरी तरफ देखा और लेकर पहन लिया पहले पैंटी और बाद में ब्रा पहना तो पुष्पा और सेक्सी लगने लगी तो मैंने पुष्पा कि दो तीन फोटो लिया ब्रा और पैंटी में फिर पुष्पा ने पेटीकोट साड़ी-ब्लाउज पहन लिया मैं भी अपने कपडे पहन लिया और एक तरफ से निकल गया खेत से बाहर तो दूसरी तरफ से पुष्पा खेत से बाहर निकल गई बोरे का बिस्तरा साथ लिए हुए और हम दोनों कुछ देर में फिर से प्याज के खेत में बैठ कर बाते करने लगे ,ब्रा पहनने के बाद पुष्पा के बड़े बड़े बूब्स बहुत ही आकर्षक लगने लगे फिर पुष्पा से बहुत से बाते किया पुष्पा ने बताया कि ओ 12 वी तक पढ़ी है पहले वाले पति मर गए तो 70 साल ससुर परेसान करने लगा ओ बोलता कि मेरे साथ सोया कर ,ससुर से परेसान होकर पुष्पा ने दुसरी सादी कर लिया मंगलू अहीर के साथ | बहुत देर तक बाते करने के बाद मैं जब चलने लगा तो पुष्पा बोली कि मैं अभी यहाँ रोज आउगी तो मैंने बोला टीक है और इस तरह लगातार 10 दिन तक पुष्पा कि चुदाई किया 5 दिन तो पुष्पा की माहवारी में ही पुष्पा कि चुदाई किया बिना कंडोम लगाए इसके बाद भी पुष्पा ने कांडोम नहीं लगाने दिया बोली कि मुझे एक लड़का चाहिए जो मंगलू के नाम पर पाल पोश कर बड़ा करुँगी पर ओ होना चाहिए आपका मैंने बोला टीक है पुष्पा को एक मोबाइल खरीद कर दे दिया और रोज बाते करने लगा अब पहले कि तुलना में गाँव भी ज्यादा जाता और पुष्पा को मोका देखकर खूब चोदता पुष्पा को एक लड़का भी हुआ जो कि मेरा ही है ओ अब करीब 15 माह का हो गया है | पुष्पा पहले से कुछ दुबली हो गई पर चुदाई में अब पहले से ज्यादा मजा देती है | जब भी मैं गाँव जाता तो पुष्पा के लिए अच्छी अच्छी साडी ले जाता पुष्पा को एक दम से शहरी बना दिया पुष्पा का बैंक खता खुलवा दिया और उसके खाते में बीच बीच में कुछ हजार रुपये भी डाल देता ये बात आज तक गोपनीय बनी है मैं और पुष्पा दोनों खूब चुदाई करते मोका मिलते ही !
———————————————————————–
पुष्पा को पहली बार उसके
घर में चुदाई किया ! पढ़िए पूरी सत्य घटना चुदाई की !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *