जब मेरे लंड पर चिकनाहट आ गई

hindi sex stories, antarvasna हेल्लो दोस्तो | आज मैं आपको अपनी पत्नी की एक सेक्सी सहेली को मैंने कैसे चोदा आज सुनाने जा रहा हूँ | मैं एक दिन अपने घर पर बैठा हुआ था | तब कुछ समय के बाद मेरे घर पर उसकी सहेली आई | वो दरवाजा खटखटा रही थी | दरवाजे पर खट खटाने कि आवाज़ सुनने के बाद मेरी पत्नी ने दरवाजा खोला | मैं उस समय सोफे पर बैठा हुआ था | तब मेरी पत्नी के साथ उसकी सहेली घर के अन्दर आ गई और मेरे सामने बैठ गयी | जब वो मेरे सामने बैठ गयी तब वो मुझ से बात करने लगी | मैंने अपनी पत्नी की सहेली के बारे जानने के लिए उससे पूछा की आप कहाँ रहती हो | तो उसकी सहेली ने मुझे बताया की उसका घर हमारे घर से काफी दूर है | मेरी पत्नी की सहेली एक नए जमाने की लड़की थी इसलिए वो लड़की टी शर्ट और जीन्स पहन कर आई थी |

जब वो टी शर्ट पहनकर आई थी तब उसके बड़े उभार साफ़ दिख रहे थे | उसके उभार टी शर्ट से बाहर आने के लिए मचल रहे थे | मैं अपनी पत्नी की सहेली से एक खास पहचान बनाने की कोशिशि में था क्यूंकि एक चूत को कब तक चोदा जाए | मैंने एक पार्टी का आयोजन किया ताकि उस पार्टी में मेरी पत्नी की सहेली भी आये | मैंने अपनी पत्नी से पूछा की तुम्हारी सहेली किधर रहती है | हमारे घर पर पार्टी होने वाली थी और मुझे महमानो को बुलाने के लिए जाना था | मैं अपनी पत्नी के साथ उस लड़की के घर पर गया और जब मैं वहां पहुंचा तब मुझे पता चला कि उस लड़की ने फिलहाल शादी नही की | उस अब मुझे उसके बारे में कुछ पता चल चुका था जिससे काम आसान हो गया | जब मैं अपनी पत्नी के साथ उस लड़की के घर पर गया था तब उस लड़की ने मुझे और मेरी पत्नी को घर के अन्दर आने के लिए कहा | हम उस लड़की के घर के अन्दर जा कर बैठ गया और फिर उसने मेरे और मेरी पत्नी के लिए चाय बनाकर लाई | वो लड़की घर की एक अकेली घर की लड़की थी | पर उसकी माँ का आना जाना भी होता रहता था जैसे 10 दिन में एक बार |

सबसे पहले मैंने उस लड़की के लिए एक नौकरी की जुगाड़ की ताकि को अपना गुज़ारा कर पाए और मेरे गियर में आ जाये | जब भी मैं अपने कार्यलय पर पहुंचा करता था तब उस लड़की के लिए मिठाई तो कभी चोकलेट ले जाया करता था | उस लड़की को मैं हर महीने नए कपडे भी दिया करता था पर उसने मेरी बीवी को पता चलने नहीं दिया | उस लड़की को बहलाने के लिए मैं ऐसा किया करता था | जब समय बीत गया और मेरी पहचान एक कार्यलय के मालिक के रूप में हो गयी तो एक दिन जब कार्यलय में कोई नही था तब मैंने उस लड़की को फोन लगाया और वो लड़की कार्यालय आ गई | उस लड़की को चोदने के लिए मेरे पास एक सुनहरा मौका था इसलिए मैंने मौका पाकर उस लड़की को उस दिन चोदने में सफलता पा ली | पर दोस्तों ये उतन आसान भी नहीं था क्यूंकि मुझे पता था कि ये मेरे गियर में है पर ये नहीं जानता था कि वो चुदवा लेगी |

मैं उस लड़की को देख रहा था और वो मुझे देख रही थी | फिर मैंने उस लड़की को गले लगा लिया और उस लड़की ने भी मुझे गले लगा लिया | ऐसा करने पर उस लड़की को एक नया अनुभव मिला | क्योकि उस लड़की ने अब तक किसी से नही चुदवाया था | चुदाई को शुरु करने से पहेले मैंने उसके होटो को चूमा | जब मैं उसके होटो को चूमकर थक गया तब मैंने अपना लंड बाहर निकाला और उसके मुह के अन्दर डाल दिया | जब मेरा लंड उस लड़की के मुह के अन्दर था तब वो लड़की मेरे लंड को चूस रही थी और मेरे अन्टोलो से खेल रही थी | लंड को चुसवाने के बाद मैंने फिर अपने लंड को पकडकर उसकी चूत में घुसेड दिया और उसकी चूत गीली और एकदम टाइट थी | उसकी गुलाबी चूत में जैसे ही मेरा लंड घुसा मुझे तो मज़ा आ आ गया | फिर उस लड़की की चूत के अन्दर अपने लंड को अन्दर और बाहर करने लगा | कुछ समय तक ये सिलसिला चलता रहा | फिर कुछ समय के बाद मेरे लंड ने मुट्ठ बहाने का इशारा किया और मैंने उस लड़की के ऊपर अपना वीर्य गिरा दिया | कार्यालय में कोई नही था इसलिए मैंने उस दिन उस लड़की को पूरा नंगा कर के चोदा था | हम दोनों थक चुके थे पर मेरा मन उसको एक बार चोदके भरा नहीं था | मैं उसके ऊपर लेता था और उसके दूध चूस रहा था और उसकी चूत से खेल रहा था | पर कुछ देर ऐसा करने के बाद और उस लड़की को चोदने के बाद मैंने उस लड़की से कहा की तुम अब तुम्हारे घर चली जाओ |

फिर मैं कार्यालय बन्द करके मैं भी अपने अपने घर लौटकर चला गया | अगले दिन वो लड़की मेरे कार्यालय में फिर आई और वो मेरे कार्यालय पर इसलिए आई थी क्योकि उस दिन तनखा का दिन था | उस दिन तनखा लेकर वो बड़ी खुश लग रही थी और इसी ख़ुशी में उसने मुझे गले लगाया पर किस किया | उस दिन वो उसकी एक सहेली को भी मेरे कार्यालय में लाई थी और उसने मुझ से कहा कि आप मेरी इस सहेली को किसी कार्य पर लगा लो | उस लड़की के अनुरोध पर मैंने उस नयी लड़की को भी कार्य पर लगा लिया | उसकी सहेली के उपर भी उस लड़की की संगत का असर पड़ा हुआ था | वो लड़की भी जिस दिन मेरे कार्यालय पर आई थी तो उसने मेरे साथ कुछ करने की उम्मीद जगाई थी | मुझे मालूम चल गया था कि उस लड़की को नौकरी की सख्त आवश्यकता थी इसलिए वो मुझ से मिलने के लिए आई थी | जब वो मुझ से मिलने के लिए आई थी तब मैंने उस लड़की से कहा था कि मैं आपको नौकरी पर रखने के लिए तैयार हूँ | कुछ दिन के बाद वो लड़की मेरे कार्यालय आने लगी और जब मैंने उस लड़की को कुछ उपहार खरीदकर दिया तो वो लड़की मुझ से खुश रहने लगी और एक दिन मौका पाकर मैंने उस लड़की को चोद दिया | वो लड़की लोवर और टी शर्ट पहनकर सवेरे घुमने के लिए आया करती थी | वो सवेरे मेरे सामने कसरत करने के लिए आया करती थी | जब वो कसरत करती थी तब मैं उसे देखा करता था | वो जब कसरत करती थी तब मैं उसे देखा करता था और उसके दूद हिला करते थे | मैं जब कसरत करता था तब मैं उस लड़की की गांड को धोके से छुल देता था | एक दिन जब लड़के और लडकिया मेरे कार्यालय पर कार्य कर रहे थे तब मैंने उस लड़की को अपने कमरे पर बुलाया जो की मेरी कार्यालय पर अलग से बना हुआ था | वो लड़की मेरे कार्यालय के अन्दर आई और मेरे कमरे पर बैठी हुई थी | जब वो लड़की मेरे अलग से बने हुए कमरे पर रुकी हुई थी तब मैंने वो लड़की मेरे साथ थी | फिर कुछ समय के बाद मैंने उस लड़की को गले लगाया | उस लड़की ने मेरा साथ दिया |

जब मैंने उसके होटो को चूमा तो उस लड़की ने भी मेरे होटो को भी चूमा | इसके बाद मैं उस लड़की को चोदने लगा | मुझे उस लड़की के गाड को दबाना था इसलिए मैंने अपने हातो से उसकी गाडो को दबाया | इसलिए तब मेरे पास एक मौका था की मैं उस लड़की की चूत के अन्दर अपना लंड डालकर हिला सकू | जब मेरे लंड से वीर्य गिरने लगा तो मैंने उस लड़की को चोदने रोक दिया | फिर वो लड़की से मैंने कहा की तुम्हारे पास जब फुर्सत का समय रहेगे तब तुम मुझ से मिलने के लिए आया करो | वो लड़की मुझ से चुदाई करवाने के लिए तयार थी | लेकिन किसी दिन मेरी पत्नी को मालूम चल गया की मैं अपनी कार्यालय की लडकियो को चोदता हूँ |

एक दिन मेरी पत्नी ने मुझे उसकी सहेलियो को चोदते हुए मुझे मेरे घर पर पकड लिया | मैंने अपनी पत्नी की सहेली को फोन लगाया और उससे पूछा की तुम कहा पर हो | उसकी सहेली ने फोन उठाया और मुझ से कहने लगी की मैं घर पर अकेली हूँ और मेरे पापा किसी वजय से घर के बाहर गए हुए है तब उस लड़की को चोदने का मौका मुझे मिल गया था | लेकिन मेरे पास उस लड़की को चोदने का मौका तो था लेकिन ऐसा करने से मैं पकड़ा भी जा सकता था इसलिए मैंने उस लड़की से फोन पर कहा की मेरे घर पर कोई नही है इसलिए अगर तुम घर पर आ सकती हो तो आजाओ | उस लड़की से मैंने कहा अगर मेरी पत्नी आ जाती है तो तुम मेरी पत्नी से कहना की मैं तुम से मिलने के लिए आई हूँ | उस लड़की को मैंने पहले सतर्क कर दिया था | मेरी सतर्कता के कारण उस दिन वो लड़की मेरे घर पर आई थी | फिर मैं उस लड़की को चोदना शुरु कर दिया | जब वो लड़की मेरी घर पर पहुच गयी और मैंने उस लड़की को घर के अन्दर आने के लिए कहा | वो लड़की मेरे घर के अन्दर घुस गयी | फिर उस लड़की को चोदने के लिए मैंने अपने लंड में थूक लगाया ताकि मेरे लंड पर चिकनाई आ जाये | फिर जब मेरे लंड पर चिकनाहट आ गई तब मैंने उस लड़की के चूत में अपना लंड डाल दिया | कुछ समय तक उस लड़की को चोदने के बाद मैंने उस लड़की से कहा की तुम घर लौटकर चली जाओ वर्ना मेरी पत्नी आ सकती है | फिर मेरे कहने पर वो लड़की उसके घर पर चली गई |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *