नौवीं कक्षा में मैं अपने पड़ोसियों से सेक्स का मजा ली – 5

जिससे इसे आज एक नया अहसास चुदाई का हो, चाचा ने मुझसे कहा बंध्या बोल चोदे कि नहीं मैं बोली मुझे कुछ नहीं पता चाचा जो मन हो करो पर ये मेरी आग को मेरी तड़प को खत्म करो इसे मिटाओ, चाचा बोले कि एक साथ तीनों होल में लन्ड डालेंगे सह लोगी, मैं फिर से बोली चाचा मुझे कुछ नहीं पता जो करना है बस जल्दी करो मुझसे रहा नहीं जा रहा है। चाचा ने कताहुर को बोला तुझे बंध्या से शादी करना है ना चल ऐसा चूत में लन्ड डाल और चोद कि तेरे अलावा बंध्या को किसी का लन्ड पसंद ही नहीं आये दिखा दे अपनी मर्दानगी,कताहुर बोला चाचा बंध्या की चूत को जबरदस्त चोदूंगा चाहे फट क्यूं न जाये, अब कताहुर ने मेरी दोनों टांगों को पूरा फैलाकर अपने कंधे पर चढ़ा लिया और अपने मोटे लम्बे लन्ड को मेरी चूंत में टच कराया मतलब मेरी चूंत के मुहाने पर कताहुर का लन्ड रख गया, मुझे ऐसा लगा कि बिना देर किए कताहुर लन्ड को सीधा घुसा दे और कताहुर ने बोला बंध्या तेरी चूंत बहुत चुदासी है और मेरा लौड़ा भी पागल हो रहा है,अब मैं तेरी चूंत में लन्ड घुसा रहा हूं।

कताहुर ने तुरंत मेरी चूंत में अपना लन्ड डालना शुरू किया मेरी चूंत बहने लगी थी मतलब बहुत गीली हो चुकी थी, तो कताहुर के लन्ड का टोपा तो आराम से घुसा तभी कताहुर ने बोला कि चाचा ये बंध्या तो बहुत बड़ी छिनाल है चाचा साली इतनी छोटी उम्र में न जाने कितने बड़े बड़े लन्ड से चुदवा चुकी है कि मेरा लन्ड आराम से घुस रहा है, जबकि कताहुर का लौड़ा चूंत की चिकनाहट के कारण घुसा था, चाचा बोले कि कताहुर इसकी मां भी तो रंडी ही है, बनती बड़ी सती सावित्री है पर पैसे लेकर चुदवाती है, वैसी ही बंध्या होगी, अभी जब मैं आया था तब दो कम उम्र के लड़के अपने उपर चढ़ाये हुये थी, मैं बोली चाचा सच बताओ मम्मी पैसे लेकर करवाती है करता? चाचा बोले हां बंध्या तेरी मम्मी को के ई बार तो मैंने पैसे देकर चोदा है, एक बार बोली कि मुझे पांच हजार चाहिए कैसे भी एक घंटे के अंदर, मैं बोला खेत में हूं चार पांच लोग हैं हम तो बोली मैं खेत आती हूं, मैं बोला सब चोदेंगे तो तेरी मम्मी बोली ठीक है पर मुझे पैसे अभी चाहिए, और खेत आ गई तब हम तक वहां छह लोग हो चुके थे, तेरी मम्मी सभी छह लोगों से एक साथ जमके चुदवायी और पांच हजार रुपए लिए और आ गई, और के ई लोगों से जुड़ी है,

बहुत बड़ी रंडी है तेरी मम्मी,तु तो धमाल है बंध्या तेरे को मैं मजे भी दिलाऊंगा और पैसे भी कमवाऊगा।कताहुर एक झटके में डाल पूरा लन्ड बंध्या की चूत में निकाल इसकी चीख, अगर मर्द लड़की की चीख ना निकाले तो वो मर्द ही कैसा भले ही लड़की छिनाल हो मैं भी घुसा रहा हूं बंध्या की गांड में अपना पूरा लौड़ा, इतना बोले चाचा कि कताहुर ने अपना लौड़ा पूरा एक झटके में पूरी ताकत से मेरी चूंत में पेल दिया और मेरी चूंत को चीरता हुआ कताहुर का लन्ड घुस गया, मुझे ऐसा लगा जैसे मैं मर गई और मेरी चूंत फट गई पर मैं बहुत जोर से चिल्लाई कि बचाओ कताहुर ने मेरी चूंत फाड़ दी, जैसे ही चीखी दिनेश ने मेरा मुंह पकड़ लिया और अपने हाथ से मेरा मुंह दबा दिया और मेरी आवाज़ अब बन्द हो गई, मुझे लगा कि दर्द से मेरी जान निकल जाएगी और मैं बहुत जोर से झटका देकर बोली मुझे छोड़ दो मुझे नहीं करना,

मुझसे दर्द बर्दाश्त नहीं हो रहा तुम लोग बहुत कमीने हो बहुत घटिया हो, मुझे बहुत दर्द हो रहा है प्लीज छोड़ दो, भगवान के लिए छोड़ दो और जोर जोर से रोने लगी उन तीनों से गिड़गिड़ाने लगी पर उन तीनों ने छोड़ा नहीं बल्कि,कताहुर ने और जोर से मेरे अंदर लन्ड डाल दिया और फिर अंदर बाहर करने लगा, मैं जोर-जोर से चिल्ला रही थी और रोनी लगी कि मुझे छोड़ दो मुझे नहीं करवाना, मुझे जाने दो मैं मर जाऊंगी मुझे बहुत दर्द हो रहा है प्लीज छोड़ दो मुझे मत चोदो मुझे नहीं चुदवाना, तभी चाचा बोले कमीनी चिल्ला मत शोर करेगी तो पूरा नगर यहां इकट्ठा हो जाएगा,और फिर सारे के सारे तुझे चोदेंगे, तेरे जैसे माल को कोई छुड़ाने वाला नहीं और न ही कोई छोड़ने वाला समझी, बंध्या तू इतना चुदवा चुकी होगी, फिर भी तुझे दर्द है नाटक मत कर आवाज मत निकालना, मैं अभी तेरी गांड में अपना लन्ड डालता हूं यह कहकर चाचा ने जोर से एक झटके में मेरी गांड में अपना पूरा लन्ड घुसाने लगे जब नहीं घुस रहा था तो चाचा ने मेरे बाल पकड़ कर पूरी ताकत से अपना लन्ड मेरी गान्ड के अंदर पेल कर घुसा दिया। मैं बहुत जोर से चीखी बहुत जोर से चिल्लाई बचाओ मुझे मार डाला और रोने लगी, मम्मी बचा लो,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *