पड़ोस वाली सेक्सी टीचर की चुदाई

प्रेषक : राज …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राज है, में दिल्ली में रहता हूँ, में एक जवान और सुंदर लड़का हूँ। मेरी उम्र 24 साल है, में बी.ए. कर रहा हूँ और मेरे लंड का साईज 9 इंच लंबा और 4 इंच मोटा है। अब में आपको ज़्यादा बोर ना करते हुए सीधा अपनी कहानी पर आता हूँ। ये कहानी कुछ 6 महीने पहले की है। नॉर्मली में रोज सुबह 8 बजे निकल जाता था और फिर दोपहर में आता था। मेरे पड़ोस में मिस्टर शर्मा रहते है, वो बिजनसमैन है, उनकी एक मस्त सी वाईफ है हीना, जो पास के ही एक स्कूल में टीचर है, वो सुबह 8 बजे स्कूल जाती है और दोपहर को 1 बजे घर आ जाती है और फिर दिनभर घर में अकेली रहती थी। फिर एक दिन मेरा छुट्टी वाला दिन था तो में आराम से सो रहा था। फिर माँ ने मुझे जगाया और बोली कि दरवाजा लॉक कर लो, में ऑफिस जा रही हूँ। तो मैंने उठकर दरवाजा लॉक किया और फिर से सो गया।

फिर करीब 30 मिनट के बाद डोरबेल बजी तो मैंने दरवाजा खोला और देखा तो हीना सामने खड़ी थी। अब में हैरान हो गया था और सोच रहा था कि यह हॉट लेडी आज मेरे घर पर कैसे? अब में नींद में यह भी भूल गया था कि में सिर्फ़ चड्डी में हूँ। अब वो मुझे बड़े ध्यान से देख रही थी कि तभी वो अचानक से हँसने लगी और बोली कि घर में कपड़े नहीं है क्या? तो तभी मैंने नीचे देखा और भागकर अपने रूम में गया और पजामा और बनियान पहनकर आया। तब तक वो हॉल में बैठ गयी थी। फिर मैंने पूछा कि कहिए कैसे आना हुआ? तो वो बोली कि कल हमारे स्कूल में पार्टी है, में उसकी टिकट बेच रही हूँ, अब 2 टिकट बची थी तो सोचा कि आप को दे दूँ। तो मैंने कहा कि आपने बिल्कुल ठीक सोचा और फिर मैंने उनसे टिकट ले ली।

फिर थोड़ी देर तक हमारे बीच में बातचीत हुई। अब मेरी उससे अच्छी फ्रेंडशिप हो गयी थी। अब हमारी मुलाकात के कुछ 15 दिन के बाद वो मेरे कमरे में बैठी थी। अब में उसके साथ मस्ती कर रहा था तो मैंने मस्ती-मस्ती में उसकी चूचीयों को दबाया और फिर वो उठकर चली गयी। फिर दूसरे दिन वो मेरे कमरे में फिर से आई, लेकिन जब वो आने वाली थी तो उसके पहले मैंने अपने कंप्यूटर पर सेक्सी मूवी लगाकर रखी थी। फिर जब वो कमरे में आई तो उसने देखा कि सेक्सी फिल्म चल रही है तो तब मैंने वो झट से बंद कर दी। अब मुझे पता था कि वो मुझसे पूछेगी कि तुम क्या देख रहे थे? और उसने वही पूछा तो मैंने कहा कि कुछ नहीं, वो तुम्हारे काम की चीज नहीं है। फिर वो ज़िद करने लगी, तो तब मैंने उससे कहा कि में सेक्सी मूवी देख रहा था। तब वो बोली कि मुझे भी देखनी है। मैंने फिर से मूवी ऑन की।

फिर थोड़ी देर के बाद में उसके करीब जाकर बैठा तो उसने मुझसे पूछा कि क्या तुमने कभी ऐसा किया है? तो मैंने कहा कि हाँ और अब में समझ गया था कि वो मुझसे चुदवाना चाहती है। फिर में उसे झट से पकड़कर किस करने लगा तो पहले तो वो नहीं नहीं करने लगी, लेकिन में नहीं माना, तो वो नॉर्मल हो गयी। फिर में धीरे-धीरे उसे चूमता रहा और फिर जब मुझे एहसास हुआ कि वो पूरी गर्म हो चुकी है, तो मैंने उसके कपड़े उतारना शुरू किया, उसने टाईट साड़ी बाँध रखी थी, जिसमें वो बहुत सेक्सी लग रही थी। अब उसके कपड़े उतरने के बाद उसकी कोमल नाज़ुक जवानी देखकर में थोड़ी देर दंग सा रह गया था। उसका फिगर बिल्कुल आइडीयल फिगर था, उसका फिगर यही कोई 36-28-34 था, उसके बूब्स तो बड़े-बड़े और गोरे-गोरे थे, उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था और गुलाबी रंग की रसीली चूत थी। फिर मैंने अपने कपड़े भी उतार दिए। फिर जैसे ही मैंने अपना अंडरवियर उतारा तो वो मेरा 9 इंच लंबा और 4 इंच मोटा लंड देखकर दंग रह गयी और उसके मुँह से एक हाईईईईईईई निकली और बोली कि क्या में इसको झेल पाऊँगी? तो में बोला कि मेरी जान अगर तुम खुद अपने कूल्हें उठा-उठाकर मेरा पूरा लंड अपनी चूत में ना लो तो मेरा नाम बदल देना।

फिर मैंने उससे अपना लंड मुँह में लेने के लिए कहा तो तब वो बोली कि तुम्हारा लंड कितना बड़ा है? में तो मर जाऊंगी। फिर मैंने कहा कि चिंता मत कर मेरी जान में धीरे धीरे करूँगा। फिर वो मेरा लंड अपने मुँह में लेकर 20 मिनट तक चूसती रही, वो पहली बार ये सब कर रही थी, लेकिन किसी अनुभव वाली लड़की की तरह ये सब कर रही थी। फिर थोड़ी देर के बाद हम 69 पोजिशन में आ गये। अब वो मेरे ऊपर थी और मेरा लंड खूब ज़ोर-ज़ोर से जितना हो सकता था उतना अपने मुँह में लेकर चूस रही थी। अब में भी उसकी चूत चाटने और चूसने लगा था, तो वो झटपटाने लगी थी। फिर में मेरी जीभ उसकी चूत में डालकर उसे अपनी जीभ से चोदने लगा। तो वो अपने मुँह से उहहहहहह, आअहह कर रही थी, अब उसे 2 मज़े मिल रहे थे एक तो चूत चाटने का और दूसरा लंड चूसने का। अब मेरा लंड लोहे की तरह सख़्त हो गया था। फिर मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और मेरा लंड उसकी चूत पर रखकर धीरे-धीरे अंदर डालने की कोशिश कर रहा था, लेकिन उसकी चूत टाईट होने के कारण वो अंदर नहीं जा रहा था।

फिर में उठा और तेल लाकर उसकी चूत पर और कुछ अपने लंड पर लगाकर उसकी चूत के छेद पर अपना लंड रखने के बाद उसके लिप्स पर मेरे लिप्स रखकर उसे किस करने लगा और एक ज़ोर का झटका दिया तो मेरा पूरा लंड उसकी चूत में अंदर तक चला गया। फिर उसके मुँह से एक चीख निकल गयी, लेकिन उसकी चीख मेरे मुँह के अंदर ही दब गयी थी। अब उसकी सील टूटने की वजह से उसका ब्लडिंग शुरू हो गया था और वो रोने लग गयी थी। फिर में थोड़ी देर तक उसकी टाईट और रसीली चूत में मेरा बड़ा और मोटा लंड डाले हुए बिना हीले उसके ऊपर ही पड़ा रहा और उसके बूब्स दबाता रहा और उसे किस करता रहा। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर थोड़ी देर के बाद जब उसे अच्छा लगने लगा तो तब मैंने झटके देना शुरू किया। अब में उसकी बिल्कुल फ्रेश चूत में मेरा बड़ा और मोटा लंड अंदर बाहर करके उसे चोद रहा था और वो भी नीचे से उसके कूल्हे उठा उठाकर मज़े लेकर मुझसे चुदवा रही थी। अब उसके मुँह से बड़ी अज़ीब सी आवाजे आ रही थी आह्ह राहुल, मेरे राजा आज मुझे औरत बना दो, इस कली को फूल बना दो। अब वो मेरा पूरा लंड ले रही थी और मुझे ललकार रही थी और ज़ोर से चोदो अपनी रानी को, आज तुमने मुझे स्वर्ग का मज़ा दिया है, आआअहह, अब तो में तुमसे रोज़ाना ही चुदवाया करूँगी, फाड़ दो अपनी रानी की चूत को, बना दो उसका भोसड़ा। अब उसके मुँह से ऐसी बातें सुनकर मुझे बड़ा जोश आ रहा था और में ज़ोर-ज़ोर से उसकी चूत को चोद रहा था। अब मेरे हर धक्के में वो 1-2 इंच ऊपर हो रही थी। फिर करीब 40 मिनट की चुदाई के बाद वो बोली कि मेरे राजा में झड़ने वाली हूँ, आआहह लो में झड़ गयी, हाइईईईईई। अब उसने मुझे अपने दोनों पैरो के बीच में जकड़ लिया था। अब में भी रुक गया था।

फिर जब वो पूरी तरह से झड़ गयी तो वो बोली कि राज मेरी जान आज तुमने मुझे फूल बना दिया है। तो तब मैंने पूछा कि तुम खुश तो हो ना? तो वो बोली कि आज से पहले में कभी भी इतनी खुश नहीं हुई। फिर में बोला ठीक है, अभी मेरा झड़ना बाकी है, अब तुम डॉगी स्टाइल में हो जाओ, में तुम्हें पीछे से चोदूंगा तो वो तुरंत घूम गयी, उसके कूल्हें पीछे से बहुत मस्त लग रहे थे। फिर मैंने पूछा कि क्या में तुम्हारी गांड में अपना लंड डाल सकता हूँ? तो वो बोली कि जो चाहे करो, बस मुझे मज़ा आना चाहिए। फिर में बोला कि शुरू में थोड़ा दर्द होगा। तो वो बोली कि पता है, में ना भी करूँ तो तब भी तुम जबरदस्ती मेरी गांड जरूर मारोगे, वैसे में भी गांड चुदवाने का मज़ा लेना चाहती हूँ, बस मेरी गांड को आराम से मारना। तो मैंने कहा कि ठीक है।

फिर मैंने थोड़ा सा तेल लिया और उसकी गांड पर लगाया और कुछ अपने लंड पर लगाया। फिर मैंने उसकी गांड के छेद पर अपना 9 इंच लंबा और 4 इंच मोटा लंड रखा और एक जोरदार धक्का मारा तो उसने अपने होंठ दबा लिए जिससे उसकी चीख बाहर नहीं आ सकी। फिर मैंने देखा कि वो रो रही थी। फिर मैंने पूछा कि हीना क्या दर्द हो रहा है? तो रहने देते है। फिर वो बोली कि नहीं राज, प्लीज अपना लंड बाहर मत निकलना, पूरा लंड मेरी गांड में डाल दो। फिर में भी नहीं रुका और अपना पूरा लंड बाहर करके एक जोरदार झटका मारा तो मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी गांड में समा गया। फिर में रुका नहीं और उसकी गांड मारता रहा, उसकी गांड उसकी चूत से भी ज़्यादा टाईट थी। अब मुझे उसकी गांड मारने में बहुत मज़ा आ रहा था और अब वो भी मेरी चुदाई का मज़ा ले रही थी और ऑश आआआआहह मारो राज और ज़ोर से मारो मेरी गांड, जितना चाहो मारते रहो, मुझे तुमसे चुदवाने में बहुत मज़ा आ रहा है। फिर करीब 30-35 मिनट तक उसे चोदने के बाद मैंने हीना से कहा कि मेरी जान अब में झड़ने वाला हूँ।

फिर वो बोली कि प्लीज राज मेरी गांड को अपने अनमोल रस से भर दो, में तुम्हारी बहुत एहसान मंद रहूंगी। अब इस दौरान में भी अपनी चरम सीमा पर आ गया था और खूब ज़ोर-ज़ोर से अपना लंड उसकी गांड में डालकर उसे चोद रहा था। अब वो आहह, उहहहहह, मारो-मारो चिल्ला रही थी की तभी में झड़ने लगा और फिर मैंने अपना सारा रस उसकी गांड में डाल दिया। अब मेरे झड़ने दौरान उसे भी मेरा रस अपनी गांड में महसस हो रहा था। फिर जब मैंने मेरा पूरा पानी उसकी गांड में निकालकर अपना लंड बाहर किया, तो उसकी गांड में से मेरा पानी बाहर आ रहा था। फिर वो उठकर बाथरूम में चली गयी और अपने कपड़े पहनने लगी और फिर मुझे किस करने लगी। फिर मैंने हीना से पूछा कि तुम तो शादीशुदा हो तो फिर तुम्हारी चूत से खून कैसा? तो तब वो बोली कि प्लीज किसी को नहीं बताना, मेरे पति मुझे ठीक से चोद नहीं पाते है, उनका लंड 3-4 इंच से ज़्यादा नहीं है जिसकी वजह से वो मेरी सील भी नहीं तोड़ सके है, वो तो 1-2 मिनट में ही झड़ जाते है और में प्यासी रह जाती थी, तुम तो संध्या को जानते हो, वो मेरी अच्छी फ्रेंड है।

फिर जब मैंने उसे अपनी प्रोब्लम बताई, तो उसने मुझसे प्रॉमिस लिया और बोला कि में तेरी प्रोब्लम ठीक कर सकती हूँ अगर तुम मानो तो। फिर मैंने संध्या से कहा कि में वादा करती हूँ कि यह बात मेरे सिवा किसी को पता नहीं चलेगी। फिर उसके बाद उसने मुझे तुम्हारे और उसके रीलेशन के बारे में बताया और कहा कि तुम कहो तो राहुल को पटा सकती हो और उसके लंड का मज़ा ले सकती हो। फिर में टिकट के बहाने तुमसे मिली और धीरे-धीरे तुमसे खुल गयी। अब में उसकी बात सुनकर हैरान था, लेकिन मुझे क्या? मुझे तो चूत चाहिए थी जो मुझे मिली और वो भी फ्रेश। फिर उसने पूछा कि राज जब कभी सेक्स करने का मौका मिलेगा तो क्या तुम मुझे चोदोगे? तो मैंने कहा कि तुम्हें ना करने वाला कोई पागल ही हो सकता है, तुम जब भी मुझे याद करोगी में आ जाऊँगा। फिर वो मुझे किस करके चली गयी। फिर 2-3 दिन तक वो मेरे यहाँ नहीं आई, लेकिन उसके बाद जब भी हमें मौका मिलता है तो में उसे खूब चोदता हूँ, आज तक मैंने उसे कितनी बार चोदा है? यह मुझे भी याद नहीं है, लेकिन आज भी में उसे बड़े प्यार और मज़े से चोदता हूँ और वो भी चुदवाती है ।।

धन्यवाद …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *