फल की दुकान पर मिली लड़की की चूत

kamukta, hindi sex story हेल्लो दोस्तो | आज आप मेरे विषय में कुछ जानने वाले हो | मेरी एक फल की दुकान है | मैं फल बेचकर अपना गुजारा चलाता हूँ | मेरे पड़ोस के लोग मेरे घर पर फल लेने के लिए आते थे | एक पड़ोस की लड़की भी मेरे घर पर फल लेने के लिए आती थी | जब मेरे घर पर कोई नही था तब वो लड़की मेरे घर पर बैठी हुई थी और फिर मैंने वो किया जिसके लिए मुझे उस दिन मौका मिला था | मैंने उस लड़की की चूत के अन्दर अपना लंड डाल दिया था | चलिए जानते है मैंने ऐसा कैसे किया | मैं एक फल वाला हूँ इसलिए जब मैं सड़क पर दुकान लगाता हूँ तब मेरी दुकान पर कई लोग फल लेने के लिए आते थे | जितने लोग मेरे परिचय के होते थे वो लोग भी मेरे घर पर फल लेने के लिए आते थे | फल लेने के दौरान मेरा उन लोगो से खास परिचय हो जाता था | उस दिन जब वो लड़की मेरे घर पर आई हुई थी तब उस लड़की का पहला दिन था जब वो मेरे घर पर आई हुई थी | उस दिन के बाद से उस लड़की का परिचय मुझ से खास बन्दे के रूप में हो गया था | इसके आलावा मैंने उस लड़की को अपना फोन नम्बर भी दिया था ताकि वो लड़की मुझ से फल मंगवा सके |

उस लड़की को और उसकी दादी को फल खाने का सौक था | इसलिए वो लड़की अक्सर मेरे घर पर आया करती थी | जब उस लड़की का परिचय मुझ से हो गया था तब वो लड़की एक दिन मेरे घर पर फल लेने के लिए आई हुई थी | कुछ समय तक तो मैंने उस लड़की से दुनिया की बाते करते हुए समय बिताया | फिर उस लड़की से बात करने के बाद मैंने उस लड़की के होटो को चूमना शुरु कर दिया | उस लड़की ने मुझे उसके बाहो में ले लिया | उस लड़की से मिलकर मुझे वो मिला जिसकी मैं तलाश किया करता था | उस लड़की से मिलकर मुझे एक अपनापन सा मिला | उस दिन मैं उस लड़की की चूत को चाटने का जो अवसर मिला था वो कमाल था | मैं घर पर अकेला रहता हूँ | क्योकि मेरे पापा और मम्मी घर पर नही रहते है | मेरे पापा और मम्मी किसी अन्य शहर पर रहते है | जिस दिन मैं उस लड़की की चुदाई करने में व्यस्त था उस दिन मेरे घर पर कोई नही था इसलिए मौके का फायदा उठाते हुए मैंने वो किया जिसके लिए मुझे उस दिन अवसर मिला था |

जब उस लड़की ने मुझे उसकी बाहो में लिया तो मैं उस लड़की के दूध को पीने के लिए उस लड़की की टी शर्ट को ऊपर खीचकर उस लड़की के कपडे को उतार दिया | तब उस लड़की ने सिर्फ ब्रा पहना हुआ था | फिर मैं उस लड़की की ब्रा के ऊपर से उसके दूध को दबाने लगा | कुछ समय के बाद फिर मैंने उस लड़की के दूध को पीने के लिए उस लड़की के ब्रा को उतार दिया | जब मैंने उस लड़की की ब्रा को उतारा तब मैंने पाया की उस लड़की के दूध काफी बड़े थे | उस लड़की के बड़े दूध को फिर मैं पीने लगा | कुछ समय के बाद वो हुआ जिसके लिए मैंने बन्दोबस किया था | उस लड़की से कहा की तुम अब तुम्हारा पजामा को खोल दो | उस लड़की ने भी वैसा ही किया | उस लड़की ने उसका पजामा खोला | जब वो लड़की पजामा खोलकर नंगी थी तब मैंने पाया की उस लड़की के चूत पर बालो का झड़ी लगी हुई थी | उन बालो के झड़ी से उस लड़की की चूत डक्की हुई थी | मैंने उस लड़की की चूत के ऊपर जो बाल थे उसे हटाया फिर मैंने उस लड़की की चूत के अन्दर अपनी उंगली को डाल दिया | मैं अपनी उंगली को उसकी चूत के अन्दर डालकर उसकी चूत को सहला रहा था |

कुछ देर तक तो ये चलता रहा | फिर जब मेरे लंड की गर्मी बड़ने लगी तो मेरे लंड से मलाई की बुन्दे फिर गिरने लगे | जब मेरे लंड से मलाई की बुन्दे गिरने लगे तब मैंने उनको अपने लंड के ऊपर लगाया ताकि मुझे चिकनाई मिले जब मैं उस लड़की की चूत में अपने लंड को डालूँगा | लंड में अगर चिकनाई नही होती है तो लंड चूत के अन्दर सरलता से नही घुस पाता है | लंड की सफलता से चूत के अन्दर घुसवाने के लिए अवश्यक होता है की आपके लंड के ऊपर चिकनाई हो | लंड से निकल रहे मलाई के आलावा मैंने अपने थूक का भी प्रयोग किया था ताकि उस लड़की के चूत के अन्दर आसानी से अपना लंड को घुसेड सकू | मेरे लंड के उपर चिकनाई आ गई थी और मेरे लंड आसानी से उस लड़की की चूत के अन्दर जा रहा था | जब मैं उस लड़की को चोदकर थक गया तो मैंने उस लड़की को कपडे पहनने के लिए कहा | वो लड़की ने फिर उसके कपडे को पहन लिया | मैं भी कपडे पहनकर तयार हो गया था | फिर वो लड़की उसके घर चली गई | अगले दिन मैंने उस लड़की को फोन लगाया और पूछा की तुम मेरे घर पर कब आ सकती हो | तब उस लड़की ने मुझे बताया की आज मैं आपके घर पर नही आ सकती हूँ | क्योकि मेरे घर पर महमान लोग आये हुए थे इसलिए आज मैं आपके घर पर नही आ सकती हूँ |

कुछ महीनो तक तो मैं उस लड़की से मिल नही पाया क्योकि उस लड़की के घर पर महमान लोग आये हुए थे | कुछ महीने के बाद वो लड़की मेरे घर पर आई हुई थी उसकी एक बुआ के सात | वो लड़की उसकी बुआ के साथ मेरे पड़ोस के घर पर रहती थी | उस लड़की के पापा और मम्मी किसी अन्य शहर पर रहते थे | वो लड़की मेरे शहर नौकरी करने के मकसद से आई हुई थी | लेकिन उस लड़की को कोई भी नौकरी नही करना था उस लड़की को वहा पर नौकरी करना था जहा से उस लड़की को बड़ी तनखा मिल सके | जब भी मैं उस लड़की को फोन लगाया करता था तब उस लड़की से उसकी नौकरी के विषय में पूछा करता था | वो लड़की मेरे शहर पर नौकरी करने के लिए आई थी लेकिन एक साल हो चूका था फिर भी वो लड़की ने अब तक एक भी नौकरी करना शुरु नही किया था | एक दिन मुझे उस लड़की को चोदने का अवसर मिल गया क्योकि उस लड़की की बुआ कुछ महीने के लिए उस लड़की की मा और पापा के शहर घुमने के लिए गई हुई थी | उसकी बुआ एक महीने तक शहर के बाहर रहने के लिए गई थी | लेकिन उसकी बुआ को उस लड़की पर भरोसा था इसलिए उसकी बुआ उस लड़की को अकेले घर पर छोडकर गई हुई थी | जब उस लड़की की बुआ शहर से बाहर घुमने के लिए गई हुई थी तब उसकी बुआ ने उस लड़की से कहा था की तुम्हे घर पर अकेले रहना पड़ेगा इसलिए तुम तुम्हारी सहेली को घर पर ले आना और उसके साथ घर पर रहना | उस लड़की ने मुझे ऐसा तब बताया जब मैंने एक दिन उस लड़की को फोन लगाया था |

मेरे फोन का जवाब देते हुए मुझे उस लड़की के घर के विषय में मालूम चला था | एक दिन मैं उस लड़की से मिलने के लिए उस लड़की के घर पर गया हुआ था | मैं फल लेकर उस लड़की के घर पर गया हुआ था ताकि अगर कोई पड़ोस वाला मुझे देख लेते तो उसे लगता की मैं फल पहुचाने के लिए उस लड़की के घर पर गया हूँ | लेकिन अफसोस ये था की उस लड़की ने मेरे विषय में उस लड़की को बता दिया था की मैं उसका बॉयफ्रेंड हूँ | जब मैं उस दिन उस लड़की के घर पर गया हुआ था तब मैंने पाया की उस लड़की के घर पर कोई नही था | जब घर पर कोई नही था तब मेरे लिए एक सुनहरा अवसर था की मैं उस लड़की को आसानी से चोद सकू | लेकिन अफसोस जब मैं उस लड़की को चोद रहा था तब उस लड़की की सहेली कमरे के अन्दर मौजूद थी | मुझे उस लड़की की सहेली देख रही थी जब मैं उस लड़की को चोद रहा था | घर पर वो लड़की अकेले है मुझे ऐसा लग रह था लेकिन कोई मुझे देख रहा था | जब उस लड़की को मुझे चोदना था तब मैंने उस लड़की के घर पर पहुचकर मैंने उस लड़की को फल दिया | उस लड़की ने फल खाया और जब वो लड़की फल खा चुकी थी तब मैंने उस लड़की के होटो को चूमने के लिए उसके चहरे को अपने हातो से पकड लिया और फिर मैं उसके होटो को चूमने लगा | उस लड़की ने कसकर मुझे पकड लिया और फिर मैंने उसके दूध को अपने हाथों से दबाना शुरु कर दिया |

मैं जब उस लड़की के दूध को दबा चूका था | तब मैंने उस लड़की के कपडे को उतारा | पहले मैंने उस लड़की का लोवर उतारा और फिर उसकी चड्डी को निचे उतार दिया | जब उसकी चड्डी निचे उतरी हुई थी तब मैंने उस लड़की की चूत को चाटना शुरु कर दिया | चूत को चाटने के बाद मुझे जो करना था तब मैंने वैसा ही किया | उस दिन वो लड़की मेरे लंड से निकल रहे मलाई को अपने चहरे पर लगा रही थी | वो लड़की फिर मेरे लंड से निकल रहे मलाई को फिर मेरे बदन पर लगाने लगी | जब मेरे लंड से माल निकल रहा था तब उस लड़की ने उस मलाई को चाटा भी था | वो लड़की कुछ समय तक मेरे लंड से निकल रहे मलाई को चाटने के बाद मेरे लंड को अपने मुह के अन्दर लेने लगी और चूसने लगी | ऐसा करने से मेरे लंड से मलाई की नदिया बहना शुरु हो गया था | फिर कुछ समय के बाद मैंने उस लड़की की चुतड को चोदने के लिए अपने लंड को उसकी चुतड के अन्दर घुसेड दिया | मेरा लंड और उसकी चूत गिला हो चूका था मेरे मलाई निकलने से लंड के उपर चिकनाई आ गई थी | जब मैं उस लड़की को चोद चूका था तब उस लड़की से मैंने कहा अब मैं चलता हूँ | क्योकि हो सकता है की तुम्हारे घर पर कोई आ सकता है | घर पर किसी के आ जाने के डर से मैंने उस लड़की से कहा की अब काफी समय हो चूका है इसलिए अब तुम कपडे पहन लो वर्ना कोई आ सकता है | मैं अपने कपडे पहनकर उस लड़की के घर से बाहर जाने लगा | तभी मैंने वो देखा जिसकी वजय से मैं डर गया था क्योकि उस लड़की की कमरे में उसकी सहेली बैठी हुई थी | उसकी सहेली ने मुझे उस लड़की की चुदाई करते हुए देख लिया था | फिर मैंने उस लड़की को कहा की तुम्हारी सहेली ने मुझे देख लिया है तब उस लड़की ने मुझे बताया की डरो नही क्योकि मेरी सहेली को मालूम है तुम मेरे बॉयफ्रेंड हो और वो किसी को कुछ नही बताएगी |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *