सर्दियों की चुदाई का सुख

प्रेषक : रेहान …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम रेहान है, में लखनऊ का रहने वाला हूँ और अभी दिल्ली में रह रहा हूँ। मैंने बहुत सारी लड़कियों के साथ सेक्स किया है और ये कहानी उसमें से ही एक की है। में अभी नॉएडा से बी.टेक कर रहा हूँ और टाइम्स से कैट की तैयारी कर रहा हूँ। आपको में पहले अपने बारे में बता दूँ, मेरी हाईट 5 फुट 11 इंच है और में 20 साल का हूँ, वैसे तो लोग बोलते है कि में बहुत सुंदर हूँ, लेकिन मुझे नहीं लगता है। मैंने एक साल पहले सितम्बर में टाइम्स की 1 साल वाली कोचिंग जॉइन की है, मेरे बैच में बहुत ही सेक्सी-सेक्सी लड़कियां है, तो उनको लाईन मारने के लिए में रेग्युलर कोचिंग जाता हूँ। फिर एक दिन गणित वाले सर ने कहा कि उन्होंने वाट्सअप पर ग्रुप बनवाया है, जिसमें पढ़ाई और फॉर्म से सम्बंधित जो भी परेशानी हो, वो उस ग्रूप में सब शेयर कर सके और बोला कि जिसे-जिसे ये ग्रूप जॉइन करना है, वो उन्हें अपना-अपना नंबर दे दे।

अब में तो बहुत खुश हो गया कि इसी बहाने सभी लड़कियों से बात करने को मिलेगा। अब ग्रूप बनते ही लोग अपनी अपनी परेशानी उस ग्रूप में डालने लगे और ऐसे ही उस पर आपस में बात होने लगी। मेरी क्लास में एक लड़की है निवेदिता, जो कि मुझे बहुत पसंद है। फिर मैंने एक दिन ग्रूप के कांटेक्ट नंबर से उसका नंबर देखा और वाट्सअप पर उसको मिस्ड कॉल मार दिया। तो उधर से रिप्लाई आया कि तुम कौन हो? फिर मैंने रिप्लाई में कहा कि में तुम्हारी कोचिंग का क्लासमेट हूँ और तुम्हारी फोटो देख रहा था तो ग़लती से कॉल लग गयी, तो उसने कहा कि ओके।

फिर मैंने भी मौके का फायदा उठाकर उसकी तारीफ स्टार्ट कर दी कि वो क्लास में सबसे ज्यादा क्यूट दिखती है और सारे क्लास के लड़के उस पर लाईन मारते है। फिर ऐसे ही वो भी हंस-हंसकर मेरी बातों का रिप्लाई देने लगी और हमारी अच्छे से दोस्ती हो गयी। अब हमारी हमेशा चैट पर बात होने लगी और मैंने भी उससे फ्लर्ट करते-करते एक दिन बोल दिया कि आई लाईक यू, तो उसने भी पॉज़िटिव रिप्लाई दिया और फिर हमारी बातें और भी ज़्यादा होने लगी। फिर ऐसे ही बात करते-करते नवम्बर आ गया, उस टाईम पर बहुत ठंड पड़ रही थी में अपने दोस्त के साथ फ्लेट पर रहता था। फिर एक दिन जब मेरा दोस्त अपने घर चला गया। तो में घर पर अकेला था, तो मैंने निवेदिता से मज़ाक-मज़ाक में ही बोला कि मुझे तुम्हारे हाथ से बना खाना खाना है। तो वो भी मान गयी और मेरे फ्लेट पर आ गयी, मेरा फ्लेट नॉएडा सेक्टर 37 में है, वो शाम को मेरे आई थी। फिर हमने ऐसे ही 8 बजे तक बात की और फिर वो खाना बनाने लग गयी।

फिर मैंने भी उसकी हेल्प की, उस टाईम पर बहुत ज़्यादा ही ठंड थी, फिर 9 बजे तक खाना बन गया और हम दोनों ने खाना खाया। मुझे खाना खाने के बाद छत पर घूमना बहुत पसंद है, अक्सर में 1-2 घंटे रात में छत पर बैठा रहता हूँ। फिर हम दोनों अपने घर की छत पर गये, जब बहुत बहुत ज़्यादा ही ठंड थी। फिर हमने थोड़ी देर बात की और फिर मैंने देखा कि वो ठंड से काँप रही है, तो फिर मैंने उसका हाथ अपने हाथों में लिया और फिर प्यार से उसके हाथ पर किस किया और पूछा कि अब ठंड लगना बंद हुआ? तो उसने बोला कि नहीं। फिर मैंने उसके गालों पर किस किया और पूछा कि अब भी ठंड लग रही है क्या? तो उसने बोला कि अब थोड़ी ठंड कम हुई है। फिर मैंने उसके लिप्स पर अपने लिप्स रखे और उसके लिप्स पर बहुत ही प्यार से 3 सेकेण्ड तक किस किया और फिर पूछा कि अब ठंड कम हुई? तो फिर उसने मेरी आँखो में देखा और मुझे अपनी बाँहों में खींच लिया और मुझे स्मूच करने लगी। अब वो पागलों की तरह मुझे किस कर रही थी, अब हमने 10 मिनट तक ऐसे ही किस किया।

फिर उसके बाद किस करते-करते मैंने उसके बूब्स दबाने स्टार्ट कर दिए। अब वो और पागल हो गयी थी और मेरे पजामे के ऊपर से ही मेरा लंड सहलाने लगी थी। अब मेरा लंड पहले से ही खड़ा था, फिर उसने अपना हाथ मेरे पजामे के अंदर डालकर मेरे लंड को पकड़ लिया। उसका हाथ बहुत ही ठंडा था और उसके टच करते ही मुझे करंट सा लगा और मेरा लंड और बड़ा हो गया। फिर उसने मेरे सारे कपड़े उतारे, उसने पहले मेरी जैकेट उतारी, फिर मेरी स्वेटर और फिर मेरी टी-शर्ट उतारी। तो मैंने उसे बोला कि मुझे बहुत ठंड लग रही है, फिर मैंने भी उसके ऊपर से नीचे तक के सारे कपड़े उतार दिए। फिर वो ठंड के मारे मुझे बहुत टाईट से हग करने लगी, अब मेरा लंड उसकी चूत पर टच हो रहा था और वो गर्म होने लगी थी। फिर उसने मेरी गर्दन पर किस किया और सक करने लगी, अब मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था, फिर उसने मेरी छाती पर बहुत सारे किस किए।

फिर वो ऐसे ही नीचे आ गयी, फिर उसने बहुत ही प्यार से मेरा पजामा उतारा और मेरी अंडरवेयर भी उतार दी। फिर उसने प्यार से मेरे खड़े लंड पर किस किया और फिर बहुत ही स्लोली-स्लोली उसको अपने मुँह में अंदर ले लिया। अब उसके लिप्स मेरे लंड पर टच होते ही मुझे बहुत ही ज्यादा अच्छा लग रहा था। फिर उसने मेरा लंड सक करना स्टार्ट कर दिया, अब मुझसे तो और कंट्रोल ही नहीं हो रहा था। अब मेरा मन कर रहा था कि उसको बस अब चोद दूँ, लेकिन फिर 5 मिनट के बाद मेरा निकलने वाला था तो मैंने उसको बोला कि मेरा निकलने वाला है। तो उसने कोई रिप्लाई नहीं दिया और अच्छे से मेरे लंड को सक करने लगी। फिर मेरा पानी उसके मुँह में ही निकल गया और उसने उसको भी पूरा सक कर लिया। फिर मैंने उसकी पूरी बॉडी पर किस करना स्टार्ट किया, मैंने पहले उसके लिप्स पर किस किया, फिर मैंने उसकी गर्दन पर किस किया और मैंने उसकी गर्दन पर काट भी दिया था, तो उसने बहुत ही प्यार से आआआ की आवाज़ निकाली।

अब मुझे उसकी सिसकियाँ सुनकर और जोश चढ़ गया था, अब उसकी ये आवाजे सुनते ही मेरा लंड वापस से खड़ा हो गया था। फिर मैंने अच्छे से उसके बूब्स सक किए, अब वो बहुत तेज़-तेज़ से मौन कर रही थी। फिर में किस करते हुए उसकी चूत के पास आ गया, अब वो तड़प रही थी और बोली कि प्लीज़ सक मी पुसी। तो फिर मैंने प्यार से उसकी चूत पर किस किया और उसको चूसने लगा, अब वो भी अपनी चूत को उठा-उठाकर सक करवा रही थी और बहुत तेज-तेज मौन कर रही थी। अब लगभग 10 मिनट तक सक करने के बाद वो जब झड़ने वाली थी तो उसने बोला कि अब मेरा निकलने वाला है। तो मैंने भी उसकी तरह कोई रिप्लाई नहीं दिया और सक करता ही रहा। फिर वो झड़ गयी, अब मैंने अच्छे से उसके पानी को सक किया और फिर भी सक करता रहा। अब वो तड़प-तड़पकर अपनी चूत को उठा-उठाकर सक करवाने लगी और बोल रही थी कि प्लीज़ अब बस करो प्लीज़ फुक मी नाउ। फिर मैंने भी उसको एकदम से टाईट हग किया और फिर उसको ज़मीन पर ही लेटा दिया।

फिर में अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा, अब वो जल्दी से चुदने के लिए अपनी चूत को आगे करने लगी थी। फिर मैंने एक ही झटका दिया और मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में चला गया, अब उसकी चूत से खून निकल रहा था। फिर मैंने उसको ऐसे ही बिना अपने लंड को मूव किए 5 मिनट तक हग किया। फिर उसने बोला कि अब वो ठीक है और अपने आप ही अपनी चूत से मेरे लंड से चुदने लगी, अपनी चूत को आगे पीछे करते हुए। अब मैंने भी उसको चोदना स्टार्ट कर दिया, अब वो अपनी आँखे बंद करके मज़ा ले रही थी। फिर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी, तो वो बोलने लगी कि प्लीज़ स्लो अया आ प्लीज़ स्लो वाह आ आ। तो अब मैंने भी अपनी स्पीड स्लो नहीं की और में 10 मिनट में ही झड़ गया। फिर मैंने वैसे ही उसकी चूत के अंदर अपना लंड बिना निकाले ही उसको अपने हाथों से उठाया और फिर अपने रूम में ले गया। फिर हमने चादर ओढ़ा और हम ठंड के मारे एक दूसरे को एकदम टाईट-टाईट से हग करने लगे, उसी टाईम फिर से 10 मिनट के बाद मेरा लंड वापस से खड़ा हो गया।

फिर मैंने उसको वैसे ही धीरे-धीरे चोदना स्टार्ट कर दिया, अब वो भी अच्छे से चुदने लगी थी। फिर मैंने अपनी पोज़िशन चेंज की, इस बार मैंने उसके पैरो को अपने हाथों से उठाया और उसको चोदने लगा, इस पोज़िशन में मैंने उसे 2 मिनट तक चोदा और फिर में थक गया। फिर हमने पोज़िशन चेंज की और वो मेरे ऊपर आ गयी और उछल-उछलकर चुदने लगी और फिर उसने अपनी स्पीड बढ़ा ली। फिर थोड़ी देर के बाद उसने बोलना स्टार्ट किया कि आई एम गॉना कम। अब मैंने ये सुनते ही जल्दी से अपनी पोज़िशन चेंज की और उसको कुत्तियाँ की तरह बनाकर अपनी फुल स्पीड में उसे चोदने लगा। अब वो भी चिल्लाने लगी आ आ आई एम गॉना कम फुक मी हार्ड फुक मी हार्ड, फिर वो झड़ गयी और में फिर भी उसको चोदता रहा। अब वो और तड़पने लगी थी, फिर 1 मिनट के बाद में भी झड़ गया। फिर उसने मुझे हग किया और प्यार से किस करते हुए बोली कि जान आई लव यू। अब उसके चेहरे पर एक अजीब सी ख़ुशी थी, अब मुझे वो देखकर बहुत अच्छा लगा। फिर हम दोनों एक दूसरे को किस करते हुए वैसे ही सो गये।

धन्यवाद …

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *