Month: May 2018

dost ki buwa ki chudai kahani

dost ki buwa ki chudai kahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
dost ki buwa ki chudai or gand mari आज मैं आप लोगों को अपना सच्चा अनुभव बताने जा रहा हूँ। बात आज से लगभग ५ साल पहले की है जब मैं १८ साल का था। स्कूल में शीतकालीन छुट्टियां थी, मैं अपने दोस्त श्यामू की बुआ के घर दुर्ग गया था। बुआ के यहाँ पर कुल थी लोग ही रहते हैं एक बुआ, उनकी सास और श्यामू । बड़े भैया दूसरे शहर में नौकरी करते हैं और उनकी लड़की की शादी हो चुकी है। फूफा जी का देहांत बहुत पहले हो चुका है। अब मुद्दे की बात पर आते हैं। एक रोज मैं सुबह सो कर उठा तो पाया कि श्यामू जिम जा चुके थे और दादी (बुआ की सास) अपने कमरे में थी। श्यामू और बुआ के कमरे के बीच एक खिड़की है जो कि ठीक से बंद नहीं थी। अचानक मेरी नज़र बुआ के कमरे में गई तो देखा कि बुआ बाथरूम से नहाकर आ रही हैं। उस समय बुआ ने केवल गाउन पहना था और आते ही अपना गाउन उतार दिया क्योंकि उन्हें स्कूल जाने की जल्दी थी। बुआ स्कूल टीचर है
Bagal wali pooja di ke sath

Bagal wali pooja di ke sath


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
  Bagal wali pooja di ke sath   Hello frnds myself david. mai delhi ka rahne wala hu .ye kahani tb ki hai jab mai mere ganv gaya tha . Pahle mai poo di ke baare me bta dun wo ekdum karishma kapoor ki role model hain.mai aap sabhi ko bta du ye story 1 month pahle ki hai.mere bagal me shadi thi wahi pe sab log jute hue the mai vi shadi ko enjy kar rha tha achanak tej barish hone lagi sab log system sambhalne me lag gye .barish me bhigne ki vajah se mai apne r6om pe sone chala gya karib 12:30 hue the tavi kisi ne mera dbrwaja nock kiya to dekha meri daadi aur poo di khadi hain di poori tarah se bhigi hui hain . daadi boli tu aaj thoda kasht utha le pooja ko rat gujarna hai subah chali jayegi pahle to maine manaa kar diya lekin dekha di thand se kanp rhi hain to...
pados ki aunty ke sath sex chudai

pados ki aunty ke sath sex chudai


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
pados ki aunty ke sath sex chudai यह जो कहानी लिखने जा रहा हूँ वो कल की ही बात है। मेरे पड़ोस में एक आंटी रहती है उनकी कहानी है। मुझे यह आंटी बहुत अच्छी लगती थी। क्या मौसी ल था। उनकी फ़ीगर 38-30-38 है। चूतड़ो का पूछो मत, मोटी मोटी जांघे मोटे मोटे बड़े-2 चूतड़ ! जब जब वो चलती थी तो उनके बड़े-2 चूतड़ हिलती रहती। जब जब मैं आंटी के बड़े-2 चूतड़ो को देखता मेरा सात इन्च लम्बा तीन इन्च मोटा लण्ड जोश में आ कर तन जाता था। आंटी बहुत ही सेक्सी थी। बेचारी आंटी अंकल के काम की वजह से मस्ती भी नहीं करती थी। उसके पति आर्मी ओफ़िसर थे, अक्सर बाहर ही रहते थे। एक दिन मैं उनके घर गया, सोनिया आंटी अकेली थी। मैंने आंटी से पूछा कि सब लोग कहाँ है? आंटी ने जवाब दिया कि अंकल का तो तुमको पता ही है और सभी बच्चे मामा के घर गये हैं। आज रात को नहीं आयेंगे। फिर मैंने आंटी को कहा- ओके आंटी, मैं चलता हूँ। आंटी
shadi mai saali ki chudai kahani

shadi mai saali ki chudai kahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
shadi mai saali ki chudai kahani मेरा नाम विजय है । मैं 35 साल का नौजवान हूँ। सुन्दर लड़की को देखकर मेरा लण्ड खड़ा होने लगता है और बेकाबू हो जाता है । चोदने की ईच्छा तीव्र हो जाती है। मन करता है कि उसके नर्म नर्म गालों को छू लूँ और उसके होठों को चूम लूँ। उसे अपनी बाहों में भरकर उसकी चूचियों को दबा दूँ और अपना लण्ड उसके बुर में डालकर चोद डालूँ। सर्दियों के दिन थे और शादी का माहौल था। मेरे तीसरे छोटे साले की शादी थी और हमलोग ससुराल में इके हुए। काफी लोग होने की वजह से हर कमरे में कई लोगों के सोने का इन्तजाम था। मेरी सलहज यानि पहले साले की बीवी का नाम था सरला। गेहुआँ रगं भरा हुआ बदन 34 26 34 के आकंड़ों जैसा गदराया बदन थिरकती बड़ी बड़ी चूचियां मोटी मोटी केले के तने जैसी जांघें और गज़ब की सुन्दर। इच्छा करती कि दबोच कर बस चबा ही डालूँ। इठलाती हुई जब चलती अपनी साड़ी को सामने हाथ से चूत के पा
सेक्सी भाभी का हरामी देवर

सेक्सी भाभी का हरामी देवर

Desi Boobs, Desi Khani, Girls Sex Nude Stories, Hindi Sex Stories, Indian XXX, Telugu sex stories
प्रेषक : विशाल … हैल्लो दोस्तों, मेरी कामुकता डॉट कॉम पर यह दूसरी स्टोरी है। ये बात सर्दियों की है मेरे घर के बाहर एक रेस्ट हाउस बना है, जो हमने किराए पर दिया था। सर्दीयों में अक्सर लोग रज़ाई में जल्दी सो जाते है, लेकिन जब जवानी चढ़ी हो और लंड कुंवारा हो तो नींद कहाँ आती है? रज़ाई में मन चूत खाने को करता है और लंड भी अकड़कर तनकर सौ गालियाँ देता है की भोसड़ी के एक चूत (गुझिया) का इंतज़ाम भी नहीं कर पा रहा है गांडू। गुझिया हम लोग औरत की चूत को कहते है, वाकई में दोनों टांगो के बीच में जब चड्डी को गोरी-गोरी मोटी मासल जाँघो से नीचे सरकाओ तो हल्के घुँगराले झाटों के नीचे पतली सी सोई-सोई चूत वाकई में खाने में मेवा भरी चूत, या कहूँ मलाई-मक्खन सी मीठी लगती है। तो हम उन सर्दियों में एग्जॉम के लिए पढ़ते हुए थक से गये थे और 19 साल की उम्र में मन कर रहा था थोड़ा हस्तमैथुन कर लूँ तो मन फिर से पढ़ाई में
raj or radha ki chudai story

raj or radha ki chudai story


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
  raj or radha ki chudai story दोनो अंधेरे में अपने बंगले के बेसमेंट की सीढ़ियाँ उत्तर रहे थे, उसने अपने हाथ मे एक मोमबत्ती पकड़ रखी थी और उसके पीछे राधा चली आ रही थी. “माना तुम्हारी बेहन काफ़ी सुंदर है पर तुम दोनो जुड़वाँ बहने ज़्यादा लगती हो. तुम मुझे भी पसंद आती हो.” जय ने धीरे से कहा.“सच!” वो जोरों से हंस दी, “और में क्यों तुम्हे पसंद आती हूँ?” “वो जब बिस्तर पर पीठ के बल लेटी होती है तो उसका बदन मे वो आकर्षण नही होता.” उसने थोड़ी हिम्मत के साथ कहा. “ये तुमने कैसे सोच लिया कि मेरे बदन मे वो आकर्षण होगा?” “यही तो हमारी बात चीत का विषय है. अगर मुझे यकीन ना होता तो इतने खुले शब्दों मे थोड़ी तुम्हे कहता. तुम्हारे अंग अंग मे एक नशा भरा है, और मुझे इस बात की भी परवाह नही है अगर तुम मेरी बात सुनकर मुझे थप्पड़ मार दो.” उसने अपने शरीर मे थोड़ी गर्मी महसूस की और उसकी चूत भी गीली ह
behen ki chudai uncle se

behen ki chudai uncle se


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
  behen ki chudai uncle se हाई मेरा नाम रहील है और आज मैं आप लोगों को अपनी बेहन किरण की स्टोरी सुनाने जा रहा हूँ. सब से पहले मैं अपना और अपनी फॅमिली का इंट्रोडक्षन दे दूं. मेरी फॅमिली मे 4 मेंबर्ज़ हैं, पापा, मम्मी, मेरी बड़ी बेहन किरण और मैं, मेरी एज 18 है और मैं इंटर पार्ट 2 का स्टूडेंट हूँ, मेरी बेहन की एज 23 साल है और उसने बी.कॉम किया है और वो आज कल ऐक प्राइवेट कंपनी मे पर्सनल सेक्रेटरी की जॉब करती है, पापा ऐक बॅंक मे जॉब करते हैं जब के मम्मी पूरी हाउस वाइफ हैं. मेरी बेहन अपनी जॉब की वजा से काफ़ी बोल्ड ड्रेसिंग करती है यानी वो ट्राउज़र्स टी-शर्ट्स और जीन्स पहनती है और कमीज़ शलवार सूट अगर पहनती है तो वो टाइट फिटिंग का होता है और बड़े गले का. मम्मी पापा को किरण बाजी की ड्रेसिंग पर कोई अतराज़ नही था. मेरी बेहन परदा भी नही करती है इस लिए आते जाते मोहल्ले के बदमाश लड़के किरण बा
Roshni-part 3 – Indian Sex Stories

Roshni-part 3 – Indian Sex Stories


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
What if I went to meet him with this oil dripping body? That thought itself made me almost cum. I decided to play a little. But I had to wear something. There was a towel which I used to rub the water off the body after taking the bath. In the south Indian towels, they are stitched in such a way that there is a bigger gap between threads. Even though it doesn’t make the towel transparent, the material is very thin. It shows the outlines of the nipples if you’re not wearing anything underneath. Obviously, people never use it for wearing purpose. But I chose it for wearing it tonight while meeting this uncle. Wear only it. I wrapped that towel around my oiled up naked body. But there was a problem. Lengthwise it was short. If I tried to drape it around my chest
मौसी को लंड पर बैठाकर झूला झुलाया

मौसी को लंड पर बैठाकर झूला झुलाया

Desi Boobs, Desi Khani, Girls Sex Nude Stories, Hindi Sex Stories, Indian XXX, Telugu sex stories
प्रेषक : राजेश … हैल्लो दोस्तों, ये बात उन दिनों की है जब मेरी मौसी सहारनपुर से आई थी, जो मेरी मम्मी से छोटी थी यानि कि उनकी उम्र 35 साल के करीब थी और उनके 3 बच्चे थे, उनके बच्चे भी उनके साथ आए थे, उनकी शादी 16 साल पहले हुई थी और उनके पति सरकारी जॉब करते थे और सपना मौसी अपनी फिगर का बहुत ख्याल रखती थी, एक तो उनका रंग गोरा था और गाल भी हमेशा गुलाबी रहते थे, उनकी चूची बहुत ज़्यादा बड़ी नहीं थी, लेकिन हाँ उनकी गांड बहुत जबरदस्त थी, जब वो चलती थी तो तब मेरा ध्यान अक्सर ही उनकी गांड पर अटक जाता था और वो साड़ी ही पहना करती थी, वो कसम से साड़ी में बिल्कुल कयामत लगती थी। उनका साड़ी बाँधने का स्टाइल भी नया था, वो नाभि के काफ़ी नीचे साड़ी बाँधती थी और वो हमेशा हाफ स्लीवलेस का डीपकट ब्लाउज पहना करती थी, जिससे कि जब भी वो झुकती थी तो उनके बूब्स का नज़ारा में बहुत आराम से ले लिया करता था। अब में अप
naukrani radhika ki chudai kahani

naukrani radhika ki chudai kahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
naukrani radhika ki chudai kahani हमारे घर मे एक औरत आती थी बर्तन माँजने, उसका नाम था राधिका, बहुत ही खूबसूरत, शादी शुदा,मैं भी शादी शुदा हूँ.इतनी खूबसूरत औरत कि देखते ही मन ललचाए,हमेशा घाघरा चोली पहनती थी और उपर से एक चुन्नी,कई बार जब चुन्नी नीचे गिर जाती थी तो चोली के उपर से उसके उभरे दो संतरे दिख जाते थे,जो मुझे और भी गरम कर देते थे, लगता था कि नीचे से ब्रसियर नहीं पहनी हो और क्या चाल थी, पीछे से मैं उसे देखता ही रह जाता था, जी करता था पीछे से ही उसे अपनी बाहों मे जाकड़ लूँ, मगर तमन्ना दिल मे ही रह जाती थी, कई बार तो उसका ख़याल दिल मे लाकर मुट्ठी भी मार चुका था. ऐसे ही एक बार मेरी औरत अपनी बहन के घर गयी हुई थी हमारे बच्चे को साथ लेकर और वहीं रात बिताने का वीचार था.शाम का समय मैं अकेला था घर मे और राधिका आई बरतन माँजने, मेरे दिल मे तेज़ गुदगुदी सी होने लगी, अकेला घर, उसमे वो और म