aunty bahut achi lagti hai • Hindi Sex Stories

aunty bahut achi lagti hai • Hindi Sex StoriesAunty ki chudai kahani यह जो स्टोरी लिखने जा रहा हूँ वो कल की ही बात है। मेरे पड़ोस में एक आंटी रहती है उसकी स्टोरी है। मुझे यह आंटी बहुत अच्छी लगती थी। क्या माल था। उसकी फ़ीगर 38-30-38 थी, बड़े 2 चूतड़ और इतनी सेक्सी गाँड थी कि मेरा लंड उसको देख कर टाइट हो जाता था। गाँड का पूछो मत मोटी मोटी गाँड जब जब वो चलती थी तो गाँड हिलती रहती। जब जब मैंने आंटी की गाँड देखा करता था मेरा लंड जोश में आ जता। आंटी बहुत ही सेक्सी थी। बेचारी आंटी अंकल के काम की वजह से एंजोय भी नही करती थी।

उसके पति आर्मी ओफ़िसेर थे। अक्सर बाहर ही रहते थे। एक दिन मैं उनके घर गया सोनिया आंटी अकेली थी। मैंने आंटी से पूछा कि सब लोग कहाँ है आंटी ने जवाब दिया की अंकल का तो तुमको पता ही है और सभी बच्चे मामा के घर गये हैं, आज रात को नहीं आयेंगे। फिर मैंने आंटी को कहा कि ओके आंटी, मैं चलता हूँ। आंटी ने मुझे रोक लिया और कहा अभी रुक जाओ मुझे नहाना है, तब तक तुम मेरे घर का ख्याल रखना, मैं अभी नहा कर आती हूँ। आंटी नाइटी में थी, पिंक नाइटी में उनके बूब्स बड़े सेक्सी लग रहे थे। बोली तू मेरा पीसी भी ठीक कर के जाना खराब है। मुझे नहीं पता था कि आंटी भी पीसी चलाना जानती हैं। मैं रुक गया आंटी नहाने चली गयी।

मैं इनके बेडरूम में आंटी का इन्तज़ार कर रहा था कि अचानक मेरी नज़र बेड पर पड़ी, बेड पर टोवल, पैंटी और ब्रा पड़ा था। ब्रा और पैंटी बहुत बड़ी थी। तकरीबन 15 मिनट बाद आंटी ने आवाज़ दी और कहा टोवल दे दो मुझे। मैं आंटी को टोवेल दिया फिर आंटी ने कहा सैम, प्लीज़ मेरी पैंटी और ब्रा भी दे दो। मैंने आंटी को पैंटी और ब्रा भी दे दी। अब आंटी नहा कर निकली। आंटी ने सफ़ेद कोटन का शूट पहना हुआ था। आंटी की ब्लैक ब्रा नज़र आ रही थी। अब मैंने आंटी को कहा आंटी अब मैं चलता हूँ। आंटी ने कहा तुम्हें कुछ काम से जाना है क्या? मैंने जवाब दिया नहीं फिर आंटी ने मुझे कहा कि रुक जाओ मैं अकेली बोर हो जाऊंगी। कुछ बातें वगैरह करते हैं। मैं बैठ गया और आंटी अपनी लाइफ़ के बारे में बता रही थी। अब आंटी कुछ खुल कर बातें करने लगी। मेरे से पूछने लगी के तुम्हारी गर्लफ़्रेंड्स हैं या नहीं, कभी सेक्स किया है या नहीं। मैं ऐसी बात सुन के हैरान हो गया।

अब मैं भी खुल गया था। मैंने आंटी से फूछा कि आंटी आप को सेक्स पसंद है? आंटी ने जवाब दिया कि सेक्स हर किसी को पसंद होता है पागल। क्या तुम्हें पसंद नहीं है, आंटी ने कहा? मैंने जवाब दिया कभी किया ही नहीं है। आंटी ने कहा झूठ मत बोलो, मुझे मालुम है तुम बहुत बुरे हो तुमने अपनी काम वाली को चोदा है और नेहा को भी, मुझे सब पता है और तुमने उन पर स्टोरी भी लिखी, मैंने भी तुम्हारी स्टोरी कल रात को पढ़ी थी और मेरी चूत गीली हो गयी थी, जि करता था कि तुमको रात को ही अपने घर बुलाकर अपनी प्यास भुझा लूँ, लेकिन बच्चे घर पे थे, झूठ बोलता है, तूने अपना मोबाइल नम्बर भी दे रखा है, लेकिन मैंने सोचा जब घर आओगे तब ही बात करूंगी तुमसे। तेरी माँ को बोलना पड़ेगा कि तेरा विवाह कर दे। मैं अचानक डर गया।

आंटी ने कहा डरो मत, मैं कुछ नहीं कहुंगी। मैंने तो तुमको नंगा भी देखा है। मैंने आंटी से पूछा कब देखा आप ने मुझे नंगा? आंटी ने जवाब दिया जब तुम मेरे घर के बाथरूम में पेशाब कर रहे थे। मैंने कुछ नहीं कहा। मेरी भी चूत प्यासी है क्या अपनि आंटी की प्यास नहीं बुझाओगे स्टोरी में तो लिख रखा है गुलाम हाज़िर है, अब चुप क्यों बैठे हो बोलो,..अब तुम्हारा लंड प्यास बुजायेगा मेरी चूत की प्यास को। मैं सोनिया आंटी की बातों से मन ही मन खुश हो रहा था सोचा नहीं था कि कभी कि आंटी खुद तैयार हो जायेगी। मैं उनसे डरता भी था वो बहुत गुस्सेवाली थी। आंटी ने अब अपना हाथ मेरे लंड पर रखा मुझे। तब बहुत अच्छा लगा। मेरी आंटी बहुत प्यासी थी वो बिल्कुल गोरी थी। उनकी उमर 38 की थी लेकिन अभी भी बिल्कुल जवान लगती थी।

ज़िंदगी में आज पहली बार 38 साल की औरत के साथ सेक्स करने जा रहा था। अब आंटी ने मुझसे कहा अपनी पैंट उतारो। मैं भी देखूँ तुम्हारा प्यारा सा लंड। मैंने अपनी पैंट उतार दी। मैंने उस दन अंडरवियर नहीं पहना हुआ था। मैं अब नीचे से नंगा था। आंटी मेरे पास आयी और मेरी शर्ट भी उतार दी और मुझे पूरा नंगा कर दिया। आंटी को मेरा लंड बहुत अच्छा लगा। आंटी ने मेरा हाथ अपने बूब्स पर रखा और कहा प्रेस करते रहो प्लीज़। मैंने खूब प्रेस किये। आंटी को मज़ा आ रहा था। फिर आंटी ने अपनी कमीज़ उतारी फिर सलवार उतरी। फिर मेरे लंड को चूसने लगी। फिर मैं आंटी की ब्रा खोलने की कोशिश कर रहा था।

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *