जवान लड़की

Hot Sex Desi Girlfriend Ke Sath

Hot Sex Desi Girlfriend Ke Sath


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हैलो हॉट बाय्स और गरम सेक्सी गर्ल्स.. मेरा नाम विक्की है और मुझे हिंदी में हॉट सेक्स कहानियां और चुटकुले पढ़ना पसंद हैं. मैं लखनऊ में रहकर पढ़ाई करता हूँ. बात उस समय की है जब मैं 18 साल का था और अपने घर में रहता था. मेरे घर के पास में ही एक देसी सी लड़की रहती थी, जिसका नाम ममता था. ममता का फिगर स्लिम है और वो बहुत गोरी लड़की है. मैं और ममता एक-दूसरे को पसंद करते थे और मैं कभी-कभी उसको अपने घर बुलाकर उससे बातें करता था. हम दोनों एक ही उम्र के थे और कभी-कभी हम किस भी कर लिया करते थे. लेकिन परिस्थितियों के चलते हमारा चुदाई का कार्यक्रम कभी नहीं बन पाया. अब मैं जब पढ़ाई करने लखनऊ आ गया तो मैं यहाँ अलग रूम लेकर रहता था. वो भी लखनऊ के एक कॉल सेंटर में जॉब करने लगी. मैंने ममता से उसका नंबर ले लिया और फिर हम दोनों के बीच मैसेज और मोबाइल पे बातों का दौर स्टार्ट हुआ. एक दिन बात करते-करते
Tution sir se chudai kahani

Tution sir se chudai kahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
Tution sir se chudai kahani मैं एक हायर सेकण्डरी स्कुल में इंग्लिश पढाता हूँ. मेरी उम्र चालीस साल है. अपनी हेल्थ का पूरा ध्यान रखता हूँ इसलिए मैं अभी भी तीस – बत्तीस साल से बड़ा नहीं दिखाई देता. मेरी पत्नी भी नौकरी करती है. वो एक फैक्ट्री में मेनेजर है और सवेरे बहुत जल्दी चली जाती है. मैं अपनी स्कुल की छात्राओं में विशेष रूप से काफी लोकप्रिय हूँ.. लगभग हर छात्रा दिन भर मुझसे कुछ ना कुछ पूछने के बहाने स्टाफ रूम में या कहीं भी मिलने आती रहती हैं. मैं भी उन्हें हर तरह से मदद करता हूँ और इसी बहाने उन्हें काफी करीब से देख भी लेता हूँ. कुछ लडकीयाँ तो बहुत ही खुबसूरत हैं. कुछ लडकीयों का शारीरिक विकास बहुत अच्छा हुआ है. ऐसी लगभग पांच छः लड़कियाँ है. ऐसी ही एक लडकी है – साधना. साधना को देखकर कोई नहीं कहसकता कि वो बारहवीं में हैं. वो सत्रह साल की होने के बावजूद बीस बाईस साल की लगती है. उसके सीन
Hindi Porn Story Makan Malik Ki Beti Ki

Hindi Porn Story Makan Malik Ki Beti Ki


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
मेरा नाम माधव शर्मा है, मैं इंदौर में पढ़ाई करता हूँ और यहाँ किराये के एक रूम में रहता हूँ। मेरी हिन्दी पोर्न स्टोरी की घटना आज से चार माह पहले की है जब मैं अपने नए रूम में रहने के लिए आया था, अभी दो दिन हुए थे यहाँ पर, एक दिन शाम के टाइम में सो कर उठा था, मेरा लंड लोअर में तम्बू बनाये हुए था और मैं उसे पकड़ कर मसलते हुए फोन पर बात करने लगा. तभी मेरी नजर खिड़की के बाहर गई जहाँ एक लड़की खड़ी थी और वो मेरे खड़े लंड को देख रही थी. मैं उसे देख के पहले तो धीरे से खिड़की से हट गया पर फिर मेरे मन में ख्याल आया क्यों न इसे लंड देखने दूँ. यह सोच कर मैं वहीं आकर खड़ा हो गया जहां से उसे मेरा लौड़ा मसलना दिखाई दे. मैंने अनजान बनते हुए लौड़ा मसलना चालू रखा और फोन पर बात करते रहा. थोड़ी देर बाद उसकी तरफ नजर घुमाई तो देखा कि वो जा चुकी थी। मेरा लौड़ा उसे देखते हुए देख कर तो उसे चोदने का मन होने लगा और मैं
office ki ladki ki chudai kahani

office ki ladki ki chudai kahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
मेरा नाम राहुल है (बदला हुआ नाम), मैं 29 साल का थोड़ा गोरा हूँ.. मेरी हाइट 5 फुट 9 इंच है और सॉफ्टवेयर इंजीनियर हूँ. मैंने अभी आठ महीने पहले ही बंगलौर शिफ्ट किया है, इसके पहले मैं हैदराबाद की एक बड़ी कंपनी में काम करता था. फिलहाल मैं बंगलौर में ही रहता हूँ. मेरे साथ अभी एक रोचक घटना हुई है, जिसको मैं आपसे शेयर करना चाहता हूँ. मेरी ये घटना आप हवस के लिए लिए ना पढ़ें, ये सच्ची प्यार भरी सेक्स स्टोरी है. मैं उम्मीद करता हूँ, ये आपको बहुत पसंद आएगी. मैं अन्तर्वासना का बहुत पहले से ही पाठक हूँ, बहुत पहले से सोचा था कि मैं भी अपने साथ हुई घटनाओं को आप लोगों के साथ शेयर करूँ, लेकिन अभी यहाँ अकेले हूँ और समय भी है, तो मैं पहली बार यह लिख रहा हूँ. मेरी भाषा से आप लोगों को कोई असुविधा हो तो माफ़ करना. ये प्यार भरी घटना जिस लड़की के साथ हुई वो मेरे ही ऑफिस में साथ में ही काम करती थी. उसका न
girlfriend ki pahli chudai

girlfriend ki pahli chudai


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हाय, मेरा नाम राज है (नेम चेंज्ड), मैं 24 साल का हू हाइट 5.5 है और दिखने मे हॅंडसम हू, मेरा लंड 6 इंच का है, प्रोफेशनली आंड्राय्ड डेवलपर हू, ये हिन्दी सेक्स स्टोरीस मेरी और मेरी गर्लफ्रेंड की है जिसका नाम नेहा है और दिखने मे बोहोत मस्त है जो भी देखे बस उसे चोदने की सोचे ऐसी. अब आता हू मैं स्टोरी पे तो बात 4 साल पहले की है जब मैं बीसीए 1स्ट ईयर मे था और क्लास मे सबसे मेरी अछि बनती थी ज़्यादातर गर्ल्स से, सारे क्लास के बोइझ मुझसे जलते थे सभी गर्ल्स से मैं बिंदास मस्ती करता था, सभी मे से मेरी एक फ्रिनेड थी जिससे मेरी ज़्यादा बात होती थी और उसका नाम नेहा था अब उसकी शादी हो चुकी है. वो दिखने मे बोहोत खूबसूरत है और सेक्सी भी, हाइट मेरे बराबर थी उसकी और बूब्स 34 के और गॅंड तो क्या काहु दोस्तो 36 की देखते ही बस मन करता था अभी चोद दू उसको, हम डेली कॉलेज से घर जाने के बाद भी लेट नाइट तक चॅट
Shreya Ki Chudai In Lucknow

Shreya Ki Chudai In Lucknow


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हेलो दोस्तो मेरा नाम अभय हैं मैं कोलकाता से हू यह मेरी पहेली इंडियन सेक्स स्टोरीस इस साइट पे मैं अपना एक्सपीरियेन्स आप सब के साथ शेयर करना चाहता हू प्लीज़ मुझे फीडबॅक दीजिएगा मेरी उमर 19 ईयर हैं और लड़किया मेरी दीवानी हैं आप मुझसे कॉंटॅक्ट कर सकती हैं. खैर सेक्स स्टोरी पे आता की कैसे मैने अपना पहला सेक्स किया लक्नौ मे यह कहानी आज से 1 ईयर पुरानी हैं जब मैं 12थ के एग्ज़ॅम के बाद अपने बुआ के घर गया था लकनौ मेरे बुआ के 3 बेटे हैं सब ही काम मे व्यस्त रहते थे और रात को फ्री होते थे तो मैं वाहा दिन मे अपने फोन मे पॉर्न देखा करता था बाथरूम मे और आके सो जाता था. फिर मेरी मुलाकात श्रेया से हूई वो मेरे बरा बर थी वो मेरे बुआ की देवर की बेटी थी मेरी उससे अछी बनती थी हम दोपहर को घूमने जाते थे उसने अपने दोस्तो से भी मेरा इंट्रोड्यूस करवाया एक बार जब मैं बाहर से आया तो देखा की वो बुआ एक ही बिस्तर
chudai ka maza shadi se pahle

chudai ka maza shadi se pahle


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
मेरा नाम अमित है और मैं बहराइच के रहने वाला हूं, फिलहाल पढ़ाई की वजह से मैं लखनऊ में रहता हूं। पढ़ाई का खर्च निकालने के लिए मैं जिगोलो का काम भी करता हूं; इससे थोड़ी बहुत आमदनी भी हो जाती है और खर्चा भी निकल जाता है। जिगोलो के काम के चलते मेरी बहुत सारे लोगों से जान पहचान भी हो गई है, जिनमें अधिकतर आंटियां भाभियां और नई उम्र की लड़कियां भी हैं। जैसा कि सभी जानते हैं जिगोलो के काम में अपने आप को मेंटेन रखना बहुत जरूरी होता है हमारा शरीर ही हम लोगों को काम दिलाता है और नए-नए क्लाइंट दिलाता है। लखनऊ में मेरे बहुत सारे क्लाइंट थे ज्यादातर हमारी बुकिंग नाम बदल कर होती है इस तरह महीने में 10 से 12 दिन काम के निकल जाते हैं और अच्छी खासी आमदनी भी हो जाती है। एक दिन मैं बैठा हुआ था, तभी मेरे पास एक कॉल आई कॉल पिक करते ही, उधर से एक बहुत मीठी सुरीली सी आवाज सुनाई पड़ी। मैंने उससे पूछा
नौवीं कक्षा में मैं अपने पड़ोसियों से सेक्स का मजा ली – 4

नौवीं कक्षा में मैं अपने पड़ोसियों से सेक्स का मजा ली – 4


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
चाचा बोले इसको भी उतार बंध्या इसी के अंदर तो तेरे काम का औजार है, मैं मुस्कुरा दी और चाचा की अंडरवियर पकड़ कर तेजी से नीचे खिसका दी उनका लन्ड मेरे मुंह के पास बहुत ही बड़ा सामने आ गया तो चाचा मेरे होंठों में उसको लगा दिया और बोले इसे चूस बंध्या बहुत मजा आएगा, और मेरे बालों को पकड़ कर अपना लन्ड मेरे मुंह में घुसाने लगे मैंने मुंह खोला तो चाचा ने अपना लोड़ा मेरे मुंह में अंदर घुसा दिया बहुत ही अजीब गंध उनके लंड की मेरे अंदर समा गई पर मैं पूरी मस्ती में मदहोशी में थी तो चाचा का लौड़ा चूसने लगी और चाटने लगी, मैं घुटनों के बल बैठी थी और चाचा खड़े थे अब चाचा अपना लन्ड मेरे मुंह में अंदर बाहर करने लगे और गंदी गंदी गालियां देने लगे चाचा अंकड़े भी जा रहे थे, बोले कि बंध्या तू बहुत बड़ी रंडी है शाली छिनाल बंध्या और चूस लन्ड को मादरचोद तेरे को दस-दस लन्ड से चुदवाऊंगा,बहनचोद बहुत मस्त लन्ड चूसती है गा
नौवीं कक्षा में मैं अपने पड़ोसियों से सेक्स का मजा ली – 5

नौवीं कक्षा में मैं अपने पड़ोसियों से सेक्स का मजा ली – 5


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
जिससे इसे आज एक नया अहसास चुदाई का हो, चाचा ने मुझसे कहा बंध्या बोल चोदे कि नहीं मैं बोली मुझे कुछ नहीं पता चाचा जो मन हो करो पर ये मेरी आग को मेरी तड़प को खत्म करो इसे मिटाओ, चाचा बोले कि एक साथ तीनों होल में लन्ड डालेंगे सह लोगी, मैं फिर से बोली चाचा मुझे कुछ नहीं पता जो करना है बस जल्दी करो मुझसे रहा नहीं जा रहा है। चाचा ने कताहुर को बोला तुझे बंध्या से शादी करना है ना चल ऐसा चूत में लन्ड डाल और चोद कि तेरे अलावा बंध्या को किसी का लन्ड पसंद ही नहीं आये दिखा दे अपनी मर्दानगी,कताहुर बोला चाचा बंध्या की चूत को जबरदस्त चोदूंगा चाहे फट क्यूं न जाये, अब कताहुर ने मेरी दोनों टांगों को पूरा फैलाकर अपने कंधे पर चढ़ा लिया और अपने मोटे लम्बे लन्ड को मेरी चूंत में टच कराया मतलब मेरी चूंत के मुहाने पर कताहुर का लन्ड रख गया, मुझे ऐसा लगा कि बिना देर किए कताहुर लन्ड को सीधा घुसा दे और कताहुर ने बोला ब
aaj to puri raat chudai

aaj to puri raat chudai


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
मेरा नाम विराज है और हमारा बहुत छोटा सा परिवार है, जिसमें मैं, मेरी बड़ी बहन और मेरी मॉम हैं। मेरी बड़ी बहन गीता दिल्ली में रहती है और हम दोनों यहाँ चंडीगढ़ में हैं। मेरी मॉम का नाम अंजू है और वो दिखने में एकदम पटाखा माल हैं.. उनकी उम्र 41 साल की है व 32-28-36 का फिगर है। मेरे मोहल्ले के सभी लड़के और अंकल लोग उनके हुस्न के दीवाने हैं। यह बात उस वक्त की है, जब मैं 18 साल का था, मतलब आज से 3 साल पहले का किस्सा है। मैं शुरू से ही सेक्स का शौकीन था और मुझे सेक्स करना बहुत पसंद था। मेरे फादर हम सभी बचपन में ही छोड़ कर चले गए थे इसलिए मेरी मॉम घर चलाने के लिए एक बुटीक चलाती थीं, जिससे हमारा घर का गुज़ारा मुश्किल से होता था। मैंने अपनी मॉम को कभी भी बुरी नजर से नहीं देखा था, पर उस दिन के बाद जब मैंने अपनी मॉम को नहाते हुए देखा तो मेरी तो ज़िंदगी ही बदल गई और मैंने अपनी मॉम को हर वक़्त गं