देवर भाभी

ओओओओःह्ह्ह.. भाभी चुदाई की कहानी – 2

ओओओओःह्ह्ह.. भाभी चुदाई की कहानी – 2


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
भाभी मुझको ललकार कर कहती, लगाओ शॉट मेरे राजा”, और मैं जवाब देता, “यह ले मेरी रानी, ले ले अपनीचूत मे”. “ज़रा और ज़ोर से सरकाओ अपना लंड मेरी चूत मे मेरे राजा”, “यह ले मेरी रानी, यह लंड तो तेरे लिए ही है.” “देखो राज्ज्ज्जा मेरी चूत तो तेरे लंड की दीवानी हो गयी, और ज़ोर से और ज़ोर से आआईईईई मेरे राज्ज्जज्ज्ज्जा. मैं गइईईईई रीई,” कहते हुए मेरी भाभी ने मुझको कस कर अपनी बाहों मे जाकड़ लिया और उनकी चूत ने ज्वालामुखी का लावा छोर दिया. अब तक मेरा भी लंड पानी छोड़ने वाला था और मैं बोला, “मैं भी अयाआआ मेरी जाआअन,” और मेने भी अपना लंड का पानी छोर दिया और मैं हान्फ्ते हुए उनकी चूंची पर सिर रख कर कस के चिपक कर लेट गया. यह मेरी पहली चुदाई थी. इसीलिए मुझे काफ़ी थकान महसूस हो रही थी. मैं भाभी के सिने पर सर रख कर सो गया. भाभी भी एक हाथ से मेरे सिर को धीरे धीरे से सहलाते हुए दूसरे हाथ से मेरी पीठ सहला रही थी.
bhabhi ne kia lund ko lamba

bhabhi ne kia lund ko lamba


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
जेसा की आप सभी जानते हैं की मेरा नाम गोद है आज मई आपको अपने जीवन की एक सत्यकथा सुनाने जा रहा हूँ ।जब मैं 15 साल का था तब से ही मुझे मुट्ठ मरने की आदत लग गई थी । जो की मुझे मेरे मदरचो ….. दोस्तों ने सिखाई थी ।इसके कारन मैं बड़ा परेशां था ।मैं जेसे ही किस चीनल पर कोई भी होत सीन देखता था तो तुंरत मेरा लंड कदा हो जाता था और मुझे चूत की हुड़क होने लगती थी पर चूत मिलती कहाँ से ? चूतें कोई आसमान से तो टपकती नही । तो मजबूरन मुझे मुट्ठ मरना पड़ता था . जिसके फलस्वरूप मेरा लुंड की भदत रुक गई और नाटो मेरा लुंड लुम्बा हुआ ,न उसमें पोवार रही मेरा लुंड इतना बेकार होगया की मेरा पानी १ मिनट मैं ही चूत जाता था ।मेरा लंड इतना बेकआर था की सुकारने के बाद मुझे ख़ुद पता नही नै चलता था की मेरा लूँ गया तो गया कहाँ ? क्योंकि मेरा lund खड़ा होने बाद बी मात्र ३ इंच का था । अपनी हवास को पूरा करने मैं 1 बा
chacheri bhabhi ke sath chudai story

chacheri bhabhi ke sath chudai story


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
उस समय मेरी उम्र १८ साल से ३ महीने ज्यादा थी और मैं इन्टरमीडिएट का छात्र था। दशहरे के अगले दिन मैं अपने गाँव से वापस कस्बे आ गया, माँ गाँव मे ही रह गयीं। उसी दिन मेरे चचेरे भाई साहब अपनी बीबी और डेढ़ साल की बेटी के साथ हमारे घर आये। वे लोग हमारे दूसरे गाँव मे रहते थे। घर मे मैं और मेरे पिताजी थे, उन्हें उस रात टूर पर जाना था। भाई साहब मेरे साथ पास के शहर गये, वहाँ से वे अपनी बहन के घर चले गये और मैं वापस आ गया। जब मैं शहर मे था तभी मेरे मन मे भाभी के साथ सम्भोग करने का पागलपन सवार हो गया क्योंकि रात के बारह बजे पिताजी के चले जाने के बाद घर में भाभी और मैं अकेले रहने वाले थे, बेटी उनकी काफ़ी छोटी थी। दरअसल भाभी की शादी को चार साल हो चुके थे, वे बहुत तो नहीं पर सुन्दर हैं और शुरू से ही वे हम लोगों से काफ़ी मजाक, खासकर गन्दे मजाक किया करती थीं और वे काफ़ी खुली थीं हालाँकि मैं बहुत शर्मीला
mera sapna or bhabhi ki tanhai

mera sapna or bhabhi ki tanhai


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
बात उस समय की है जब मैं नॉएडा में बी.टेक कर रहा था। मैं बिल्कुल नया था इस शहर में और मैंने होस्टल लिया हुआ था। वहीं पर दोस्तों से कन्याओं की काम-प्रवृति के बारे में पूरी जानकारी मिली ! सारे दोस्त होस्टल को सेक्स शिक्षा केंद्र नाम से संबोधित करते थे! वहीं से मैं भी एक सुन्दर सी कन्या के सपने देखने लगा ! इसी बीच मैंने होस्टल छोड़ दिया और नॉएडा में ही एक कमरा सेक्टर 49 में ले लिया ! मैं दूसरी मंजिल पर अकेला रहता था ! नीचे एक परिवार रहता था, भाभी जी उम्र 29 साल और फिगर क्या मस्त था ! देखते ही लार टपक जाये और उनका पति और 5 साल का एक बेटा था ! उनके पति एक बहुराष्ट्रीय कम्पनी में आई टी मैनेजर थे और अक्सर विदेश जाया करते थे ! पहले दिन भाभी को छत देखा जब वो कपड़े सुखाने आई थी। क्या मस्त, लाजवाब सेक्सी लग रही थी, उनको देखते ही मेरा लंड फ़ुफ़कारे छोड़ने लगा और मैं पहले दिन से ही भाभी को चोदने के
bhabhi ka gangbang chudai

bhabhi ka gangbang chudai


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
मेरा नाम स्वाति हे और मैं 25 साल की हाउसवाइफ हूँ. मेरी शादी को एक साल हो चूका हे पर मेरे पति अभी तक मुझे दिन रात चोदते हे. एक भी रात ऐसी नहीं होती हे जब वो मेरी चूत न बजाये! मेरी कोलोनी के सारे लड़के मेरी सेक्सी फिगर के दीवाने हे. और जब भी मैं अकेले निकलती हूँ तो सब फ्लर्ट करते हे मेरे साथ. मैं हमेशा बहोत छोटा ब्लाउज पहनती हूँ और साडी भी काफी लो वेस्ट पहनती हूँ. ब्लाउज बेकलेस होता हे और इतना डीप की क्लीवेज दिखे अच्छे से. मुझे अच्छा लगता हे जब लड़के मुझे देख के ललचाते हे. एक दिन ऐसे ही मैं अकेले वाल्क पर निकली कोलोनी में. मेरे घर के पास में तिन लड़के रहते हे किराए पर जो कोलेज में पढ़ाई करने आये हे यहाँ. रोहन, अक्षय और विजय नाम हे उन्के. उन लोगों ने मुझे देखा तो आ गए बातें करने के लिए. रोहन: अरे भाभी आप तो बहुत दिनों के बाद में दिखी आज. वैसे आजकल लगता हे काफी बीजी हो आओ? मैं: नहीं बीजी त
Drilling Little Sisters Pussy with my huge cock  AntavasnaSexKahani

Drilling Little Sisters Pussy with my huge cock AntavasnaSexKahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
Drilling Little Sisters Pussy with my huge cock Sonali is active in sports and that day she came home moaning. She was hit by her co-player’s spike and she bled near thigh region. Her thighs are broad and bouncing like any normal sports person. My mom was out for a kitty party and dad was yet to come home. I was reading my book when she came home. She asked where mom was as she wanted her to apply some pain killer ointment on her thighs. indian sex photos big boobs I said her mom was not there and if she wanted I can apply the ointment. She looked at me and thought for a moment. Then she nodded her head in yes. Her friend who came to drop Sonali aready went and now we both were alone in entire house. She laid herself on sofa and I took out ointment from cupboard. She pulled her shorts
Indian sex stories 2018 Desi Girl in Pardes XXX Chudai AntavasnaSexKahani

Indian sex stories 2018 Desi Girl in Pardes XXX Chudai AntavasnaSexKahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
Indian sex stories 2018 I never fucked a girl till that day and it was the first thrilling and awesome experience. Well ab hum kahani mey chaltey hey. It was a weekend, Friday night. Office key baad, mai aur mere frnds ek pub gaye tey raat ki maje lootney. Tab around 11:00 baj ra tha..aur pub kafi crowded tha.. humney beer bottles li aur andar dance house mey chale gaye.. acha rock music baaj ra tha..log kafi thali hoke naach ne lage. Aur mai apni ankhosey foreigners ke kubhsurat khajaney loot ra tha. Unke gore gore badan..mast bari lips.. aur almost transparent dresses mey jab who naach re tey..tho unkey jumping boobs ko dekh kar aaaa.. control kar nai pa rat ha..aur usi time pey..pub mey ek girls ki gang ayi thi..sare girls indians tey. Unmey se ek ladki sexy maal thi. 5.8 heigh...
Didi ki chut ka jalwa  दीदी की चूत का जलवा AntavasnaSexKahani

Didi ki chut ka jalwa दीदी की चूत का जलवा AntavasnaSexKahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
नाज़िया बहुत ही सुंदर गोरे रंग की और शुरू से बहुत हॉट, सेक्सी लड़की है और यह बात कुछ साल पुरानी है जब में 20 साल का था और वो 23 साल की थी. तब मेरे स्कूल की छुट्टियों में मेरे चाचा जी गावं से मुझे लेने आते थे और में उनके साथ चला जाता था. मेरे चाचा जी गावं के एक पोस्ट ऑफिस में काम किया करते थे और चाची जी घर का काम करती थी. उनकी यह एक ही बेटी थी जिसका नाम नाज़िया था. फिर एक बार में और नाज़िया दीदी बाहर आँगन में बैठे हुए कुछ बातें कर रहे थे कि तभी अचानक दीदी ने मुझसे कहा कि तुम दस मिनट इंतजार करो और में अभी आती हूँ. मैंने पूछा कि आप कहाँ जा रही हो? तो वो हंसकर बोली कि में बाथरूम जा रही हूँ और यह बात सुनकर मुझे कुछ कुछ होने लगा और में भी धीरे से उनके पीछे पीछे चला गया. वो बाथरूम के अंदर चली गयी और में बाहर धीरे से वहां पर जाकर रुक गया. तभी मेरी नज़र नीचे दरवाजे पर गई जहाँ पर थोड़ी सी खुली जगह
Fucking my naughty sexy aunty Jyothi AntavasnaSexKahani

Fucking my naughty sexy aunty Jyothi AntavasnaSexKahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
My naughty sexy aunty Jyothi.  desi fuck stories 2018 The same day after sweeping she came and sat next to me with a cup of coffee to watch some serial and I could not take out my eyes of her and continued to have the pleasure of her lovely 34″ breasts and she was not wearing the bra as the blouse was thick enough to prevent her tit from visibility.She saw me seeing her breasts yet she never said anything and didn’t even try to cover them and gave a smile to me. Since then my aunt and his husband went to mangalore as my uncle got transffered. After two years she came to bangalore and boy was not I delighted to see her back into business with those sexy breasts of her. She took me in her arms and kissed me on my forehead and I pressed her breasts and my cock was hard and pressed
Dost ki bahan ki kamukta  दोस्त की बहन की कामुकता AntavasnaSexKahani

Dost ki bahan ki kamukta दोस्त की बहन की कामुकता AntavasnaSexKahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
  दोस्तों यह बात आज से कुछ दिनों पहले की है. उस समय मेरे दोस्त के पापा किसी दूसरे शहर में किसी काम से एक सप्ताह के लिए गये हुए थे और इसी बीच उसकी बड़ी बहन भी घर पर आ गई थी और वो भी दस दिनों के लिए और किस्मत भी देखो कि उसके घर पर समस्या भी उसी वक़्त आनी थी, मेरे दोस्त को मलेरिया हो गया और वो किसी हॉस्पिटल में भर्ती था और उसी शाम को जब मैंने फोन किया तो फोन उसकी माँ ने उठाया और जब मेरी बात हुई तो मुझे पता लगा कि वो हॉस्पिटल में है और वो यह बात कहकर रोने लगी. फिर उसके बाद मैंने उन्हें थोड़ा समझाया और फिर कुछ देर बाद उन्होंने मुझसे कहा कि घर पर नेहा भी आई हुई है और वो हमारे लिए खाना बनाकर लेकर आएगी. फिर मैंने उनसे कहा कि में खुद आपके लिए खाना लेकर आ जाऊंगा और में इस बहाने से आपसे भी मिल लूँगा. फिर उन्होंने कहा कि ठीक है और फिर मैंने फोन रख दिया और में शाम के 7 बजे अपने दोस्त के घर पर