नौकर-नौकरानी

naukrani ke sath kamleela

naukrani ke sath kamleela


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
  हेलो देस्तो, मेरा नाम अमित है और आज मै आपको अपने जीवन से जुड़ी हुई सच्ची घटना सुनता हु, जब मैने अपने दोस्त की पार्टी मे उसकी नौकरी को चोदा | मुझे अपने दोस्त सुनील की पार्टी मे सपरिवार निमंत्रण मिला और सुनील ने अपने जन्मदिन की पार्टी एक गेस्ट हाउस मे थी | मै अपने परिबार के साथ वहां गया था; उस दिन मुझे ऑफिस मे थोडा ज्यादा काम था और मेरी तबियत ठीक नही थी, लेकिन सुनील मेरा बचपन का खास दोस्त था और मेरे ना जाने पर बुरा मान जाता ; तो मुझे अपने परिवार के साथ सुनील के यहाँ जाना पड़ा | मै पार्टी मे चला तो गया, लेकिन वहा जाने के बाद मेरी तबियत और भी ज्यादा बिगड़ गयी और मुझे अपनी पत्नी को बताना पड़ा | हम मे से किसी को अच्छा नहीं लग रहा था, लेकिन मज़बूरी मे मेरी पत्नी को सुनील से बात करनी पड़ी | जब मेरी पत्नी ने सुनील को ये बात बताई, तो सुनील मेरे पास आ गया और मेरी तबियत देखने लग | चुकी
naukri mai mili chokri

naukri mai mili chokri


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
दोस्तो, मैं सिविल इंजिनियर हूँ। मैं रोज अपने घर से कंपनी जाने की लिए बस लेता हूँ। मेरे घर से कंपनी का रास्ता एक घंटे का है। बस में कॉलेज जाने वाले विद्यार्थियों की भीड़ रहती है। एक दिन मैं जब कंपनी जा रहा था, मेरी बगल वाली सीट खाली थी। मैं सोया हुआ था। थोड़ी देर बाद जब मेरी आँख खुली तो मैं देखता ही रह गया। मेरी बाजू में एक लड़की बैठी थी। क्या सुन्दर लड़की थी ! मैंने आज तक ऐसी लड़की देखी ही नहीं थी। मैंने उसे पूछ लिया- आप क्या करती हो। बस यहाँ से हमारी बात शुरु हो गई। फिर तो मैं रोज अपने बाजू वाली सीट उसके लिए खाली रखने लगा। हम रोज मिलते थे और बात करते थे। एक बार उसने मेरा मोबाइल मांगा तो मैंने उसे अपना फ़ोन दे दिया। वो अन्दर देखने लगी। अन्दर देखते देखते उसने मेरे गर्म वीडियो देख लिए और वो उन्हें चला कर देखने लगी। मैंने उससे झट फ़ोन ले लिया, मैंने उसे कहा- तुम्हें ये देखने हैं तो म
remo babu or naukrani ki chudai

remo babu or naukrani ki chudai


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
मेरा नाम रेमो है. मेरी उम्र 24 साल की है. मै दिल्ली के एक अमीर घर का इकलौता वारिस हूँ. मेरे घर पर मेरे पापा और मम्मी के अलावा और कोई नहीं रहता. मेरे पापा एक जाने माने बिजनसमैन हैं. मम्मी घर पर ही रहती हैं. घर काफी बड़ा होने के कारण घर के काम काज करने घर में एक नौकरानी भी रख ली गयी है. नौकरानी का नाम मोहिनी है. वो बिहार के किसी गाँव की थी. उम्र कोई 25- 26 साल की होगी. तीन बच्चों की माँ होने के बावजूद देखने में काफी खुबसूरत भी थी. लेकिन मेरा ध्यान उस पर नही जाता था. मै अपने कालेज से आ कर सीधे अपने कमरे में चला जाता और अपना काम करता.मोहिनी सुबह के छः बजे ही आ जाती थी जब सभी कोई सोये रहते थे. वो आ कर सबसे पहले सभी कमरों की सफाई करती थी.एक दिन घर में पापा और मम्मी नहीं थे . वो दोनों मेरे मामा के यहाँ गए थे. उस रात मै अपने कंप्यूटर पर ब्लू फिल्म देख रहा था. मै आराम से नंगा हो कर पूरी रात फि
Naukrani Ko Apne Lund Par Bithaya

Naukrani Ko Apne Lund Par Bithaya


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
naukarai ki chudai ki kahani साहिल बेटा उठो लक्ष्मी ने आवाज़ दी. मैं पेट के बल सोया था हाआआन्ं मैने नींद में कहाँ, सुबह सुबह मेरा लंड खड़ा था लक्ष्मी ने चादर खीची मैंने झट से तकिया लिया और अपने लंड पर रख दिया वो हासणे लगी. क्यू हसी तुम कुछ नही उसने कहा मैं नहाने चला गया मेरा लॉडा तना हुआ था मैने अभी तक चुत नही चोदि थी मेरे दोस्तों मे से कुछ अपनी काम वाली बाई को चोदा था जो कमसिन कम उमर की थी पर लक्ष्मी मेरे मा की उमर की थी मुझे बचपन मे नहलाया था. आदिल घर पे आया और बेड पर बैठ गया लक्ष्मी ने हिं दोनो को चाय और बिस्कट दी और चली गयी आदिल उसे जाते उसकी गॅंड देखने लगा, वो मेरा कॉलेज का फ्रेंड था, क्या देख रहा है, मस्त गॅंड है. साले तेरी कमसिन कंवली नही है लक्ष्मी है तेरी मा की उमर की है, पर माल है यार, कमसे कम कॉंडम नही लगा ना होगा, कुत्ता है तू, अब पचपन की है पेट से नही होगी और मेर
naukar ne meri jam ke chudai ki

naukar ne meri jam ke chudai ki


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हाई, मेरा नाम मीना है. मैं अपनी पहली चुदाई की दास्तान लिख रही हूँ. उस समय मेरी उमर 18 साल की थी. मेरे घर पर पप्पू नाम का एक नौकर रहता था. उसकी उमर लगभग 42 साल थी. वो देहात का रहने वाला था और बहुत ही ताकतवर था. उसका बदन किसी पहलवान जैसा था. मेरे मम्मी पापा उस पर बहुत विश्वास करते थे. जब कभी मेरे मम्मी पापा बाहर जाते तो मुझे उसके साथ घर पर अकेला छोड़ जाते थे. एक दिन मेरे मम्मी पापा 4-5 दिनो के लिए बाहर चले गये. घर पर मैं और मेरा नौकर ही रह गये थे. शाम को उसने खाना बनाया और मुझे खिलाने के बाद खुद खाया. रात के 9 बज रहे थे. वो और मैं बैठ कर टीवी देख रहे थे. कुच्छ देर बाद मुझे नींद आने लगी और मैने टीवी बंद कर दिया. मैने अपने बेड पर सो गयी और वो हमेशा की तरह मेरे बेड के पास ही ज़मीन पर सो गया. रात के 2 बजे मैं बाथरूम जाने के लिए उठी तो मेरी निगाह उस पर पड़ी. उसकी धोती हट गयी थी और उसका लंड ध
naukrani radhika ki chudai kahani

naukrani radhika ki chudai kahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
naukrani radhika ki chudai kahani हमारे घर मे एक औरत आती थी बर्तन माँजने, उसका नाम था राधिका, बहुत ही खूबसूरत, शादी शुदा,मैं भी शादी शुदा हूँ.इतनी खूबसूरत औरत कि देखते ही मन ललचाए,हमेशा घाघरा चोली पहनती थी और उपर से एक चुन्नी,कई बार जब चुन्नी नीचे गिर जाती थी तो चोली के उपर से उसके उभरे दो संतरे दिख जाते थे,जो मुझे और भी गरम कर देते थे, लगता था कि नीचे से ब्रसियर नहीं पहनी हो और क्या चाल थी, पीछे से मैं उसे देखता ही रह जाता था, जी करता था पीछे से ही उसे अपनी बाहों मे जाकड़ लूँ, मगर तमन्ना दिल मे ही रह जाती थी, कई बार तो उसका ख़याल दिल मे लाकर मुट्ठी भी मार चुका था. ऐसे ही एक बार मेरी औरत अपनी बहन के घर गयी हुई थी हमारे बच्चे को साथ लेकर और वहीं रात बिताने का वीचार था.शाम का समय मैं अकेला था घर मे और राधिका आई बरतन माँजने, मेरे दिल मे तेज़ गुदगुदी सी होने लगी, अकेला घर, उसमे वो और म