रिश्तों में चुदाई Incest Kahani

बहन के साथ हनिमून

बहन के साथ हनिमून


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हेलो फ्रेंड्स, मैं फिर हाज़िर हूँ अपनी कहानी लेकर ये कहानी मेरे और बेहन के बीच मे हुए सेक्स के बारे मे है, पिछली कहानी मे आपने पढ़ा की कैसे मैने अपनी बेहन को चोदा और फिर मैं उसे चोदने लगा और एक बार मेरी बहन को पेपर देने के लिए देल्ही जाना था तो मेरी मॉम ने मुझे कहा की तू इसके साथ चला जा पेपर दिलाने के लिए और साथ मे देल्ही घूम आना, तो मैने मन मे सोचा चलो देल्ही हनीमून मना के आएगे और मेरी बेहन का पेपर संडे को था और हम सॅटर्डे सुबह वाहा से चल पड़े देल्ही के लिए हम तकरीबन 2 बजे देल्ही पहुँच गये और वाहा पर जाकर हमने पहले लंच किया और फिर एक बाड़िया सा रूम देखा अपने लिए और वाहा पर जाकर समान वगेरा सेट किया और फ्रेश हो गये, फिर मेरी सिस्टर नहाने चली गयी और मैने उसे कहा दरवाज़ा खुला रख कर नहाना तो वो बोली ठीक है और वो दरवाज़ा खुला रख कर नहाने लगी और मैं उसकी नहाती की वीडियो बनाने लगा और वीडियो बनाते
पड़ोसन भाभी को घरवाली बना कर चोदा

पड़ोसन भाभी को घरवाली बना कर चोदा


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
प्रिय पाठकों को नमस्कार, मेरा नाम आदित्य चौधरी है, यह मेरी पहली कहानी है, बात उन दिनों की है जब मैं 12वीं क्लास पास करने के बाद इलेक्ट्रिकल का डिप्लोमा करने लगा। तब हमारे गांव में लोगों की टीवी, रेडियो आदि में खराबी आने पर मुझे बुला लिया जाता था और मैं बिना किसी पैसे के उनकी समस्यायों का हल निकाल दिया करता था। हमारे गांव में मैं बहुत ही सीधा और सच्चा लड़का हुआ करता था। पर कॉलेज जाने के बाद कुछ-कुछ जानकारियाँ मेरे पास आ चुकी थीं। जैसे चुदाई, चूत इत्यादि.. और इसके साथ ही लड़कियों के बारे में मेरा नजरिया भी बदल गया था। अब मैं भी किसी भाभी या लड़की को चोदने की सोचा करता था। अब तो मेरी उम्र भी 18 हो चुकी थी तो लंड भी खड़ा होने लगा था। एक बार की बात है मेरी छुट्टियाँ चल रही थीं और मैं घर पर ही था। मेरे गांव की एक भाभी हैं, जो देखने में बहुत ही सुन्दर हैं और उनका फिगर भी बहुत मस्त है। उनकी
गर्मी मे मों के साथ मस्ती

गर्मी मे मों के साथ मस्ती


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हेलो दोस्तो, मै हू राहुल खत्री और आप लोग तो जानते ही होंगे की जब भी मुझे मौका मिलता है तो मैं अपना लंड अपनी ही मा की चूत मे डाल देता हू. आज भी मैं वैसी ही एक कहानी आप लोगो के लिए ले कर आया हू. उम्मीद हैं आप को यह कहानी पसंद आजाए गी. बताने के लिए हमें मेल कीजिएगा. अब मैं कहानी पर आता हू.. बात दरअसल गर्मियों की हैं और उस दिन काफ़ी गर्मी पड़ रही थी. मा किचन मे शाम के लिए खाना बना रही थी और घर मैं हम दोनो के अलावा कोई नही था. मैं अपने कमरे मे टीवी देख रहा था और मैने सिर्फ़ अंडरवेयर पहन रखी थी और तभी मा ने किचन से आवाज़ लगाई. मा – राहुल ज़रा यहा आजा. तो मैं किचन मैं चला गया. मैं – हा मा क्या हुआ. मा – बेटा बहुत गर्मी है और उपर से अब मै रोटिया बना रही हू और यहा गॅस की वजह से और ज़्यादा गर्मी हैं. मेरे हाथों पर आटा लगा हैं ज़रा मेरी सारी खोल दो. मैं – हा मा बहुत गर
विधवा चाची की चूत चुदाई

विधवा चाची की चूत चुदाई


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
मेरे सारे प्यारे दोस्तो को मेरा और मेरे खड़े लंड का नमस्कार. मुझे उमीद है आप सब के लंड दिन रात चुत को चोद रहे होंगे. और सभी प्यारी चुते बड़े बड़े लंड बड़े आराम से अपनी चूत की गहराइयो मे लेती होंगी. मैं आप सब का प्यारा साहिल आज फिर एक बार आप सब के लिए एक जबरदस्त कहानी ले कर आया हूँ. ये घटना ज़्यादा पुरानी नही है, ये सब अभी पिछले महीने ही हुई है. जब मैं घर पर कुछ दीनो के लिए फ्री था. दरअसल मेरी एक चाची है, जो मेरे घर के पास ही रहती है. वैसे तो मैं जवान ही उसकी जवानी देख कर हुआ हूँ. बचपन से ही उसकी चुत मे लंड डॉल कर ज़ोर ज़ोर से चोदने के बारे मे सोच कर ही लंड को 2 इंच से 7 इंच कर दिया है. हा दोस्तो ये सच है, की मैं अपनी चाची के बारे मे सोच कर ही मूठ मारता हुआ बड़ा हुआ हूँ. मेरी चाची एक बहुत मस्त आइटम है,जब चाची की दूसरी लड़की हुई तो उससे कुछ सालो बाद मेरे चाचा की मृत्यु हो गई. अ

बहन की चुदाई अपने ही दोस्तों से


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
दोस्तों मेरा नाम दीपक शुक्ला है। मैं कानपूर का रहने वाला हूँ। मैं आप लोगों को अपने जीवन की सच्ची घटना बताने जा रहा हूँ। वैसे तो आप लोगों ने ऐसी बहुत सी कहानियां पढ़ी होगी जिसे पढ़ कर आप लोगों को बहुत मज़ा आया होगा। मैं आप लोगों को अपने जीवन की अनचाही कहानी बताने जा रहा हूँ। उम्मीद करता हूँ की मेरे जीवन की सच्ची कहानी पढ़ कर भी आप लोगों को बहुत मज़ा आएगा। इस कहानी में मैं आप लोगों को बताऊंगा कि कैसे मेरे ही कुछ दोस्तों ने मेरी बड़ी बहन प्रिया दीदी की जवानी के मज़े लिए और फिर मेरी मदद से मेरी छोटी बहन रिया और मेरी माँ रश्मी शुक्ला के मज़े लिए और अपने कुछ दोस्तों को भी मज़े दिलवाए। पहले मैं आप लोगों को अपने और अपने परिवार के बारे में बता दूँ। हम घर में 4 लोग है। मेरी बड़ी बहन प्रिया दीदी उम्र उस समय 21 साल रही होगी और वो एक कॉलेज से M.A. कर रही थी। मैं भी उसी कॉलेज से B.Sc. कर रहा था और मेरी उम्र
bada badiya chodte hai babu ji • Hindi Sex Stories

bada badiya chodte hai babu ji • Hindi Sex Stories


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
रिश्तों में चुदाई Incest Kahani मेरा नाम है कम्मो , मैं इस समय 22 साल की हो गयी हूँ , जवानी छा गयी हैं मुझ पर खुदा कसम बड़ी खूबसूरत हो गयी हूँ मैं आगे से भी और पीछे से भी , मेरी माँ ने एक दिन कहा कम्मो अब तुम ताहिर साहेब का काम पकड़ लो , मुझे दो घर और मिल गए है . ताहिर साहेब अच्छा पैसा देते है और अकेले ही रहते है . इसलिए उनका काम नहीं छोड़ना है ? मैं जब पहली बार उनसे मिली तो उन्हें दिल दे बैठी ? मैंने मन में कहा वाह क्या मस्त नौजवान आदमी है हट्टा कट्टा गोरा चिट्टा ? इसका लौड़ा भी इसी तरह हट्टा कट्टा होगा ? मैंने पहले दिन ही ठान लिया की मैं एक न एक दिन इसको अपने बस में कर लूंगी . एक दिन ताहिर साहेब बाथ रूम ने नहाने चले गए . मैं कमरे में झाडू लगा रही थी . मैंने देखा की बेड पर तौलिया पड़ा है . मैं समझ गयी की वह तौलिया बाहर ही भूल गया है और इसे उठाने जरुर बाहर आएगा . मैं छुप छुप कर झाडू लगाने
bhaiya ne choda pahli baar

bhaiya ne choda pahli baar


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
इस कहानी का लेखक मैं नहीं हूं. मैंने इसमें केवल कुछ संशोधन किये हैं. तो प्रस्तुत है दोस्तों मेरा नाम सीमा है, जब यह घटना मेरे साथ घटी उस समय मेरी उम्र 22 साल थी, मेरे फिगर का आकार 36-27-32 है और में दिखने में बहुत सुंदर मेरा रंग गोरा, मेरे सेक्सी बदन को देखकर हर लड़का मुझे पाने की इच्छा अपने मन में रखता था, बहुत सारे लड़के मेरी मटकती हुई गांड, उभरे हुए गोरे बूब्स को घूर घूरकर देखते थे, क्योंकि में हमेशा बड़े गले के कपड़े पहनती हूँ और मेरी उस जालीदार चुन्नी से मेरे गोरे गोरे बूब्स उनको साफ साफ नजर आते थे. वैसे भी में दिखने में कुछ ज्यादा ही हॉट सेक्सी हूँ, इसलिए कॉलेज में क्या मेरे अड़ोस पड़ोस में भी हर कोई मुझे अपनी गंदी खा जाने वाली नजर से ही देखता. दोस्तों में एक बहुत अच्छे कॉलेज से अपनी बीए की पढ़ाई आखरी साल से कर रही हूँ और अभी में लुधियाना पंजाब में रहती हूँ और में वहीं पर ही अपने अं
mauseri behan anu ki chudai

mauseri behan anu ki chudai


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
इस कहानी पढ़ने वाली सभी यौवनाओ, लड़कियो, महिलाओ.. आप अपनी पैन्टी नीचे कर लीजिए और ब्रा से केवल एक चूची बाहर निकाल कर उसके निप्पल पर मेरे हाथ की उंगली समझ कर मेरी तरफ से उंगली फेरिए और एक हाथ की उंगली को अपनी बुर के द्वार के ऊपर रख लीजिए। जैसे-जैसे मेरी कहानी आगे बढ़ेगी.. वैसे वैसे आपकी उंगली खुद अपना काम करना शुरू कर देगी। मेरे प्यारे दोस्तो, आप भी अपने लंड को बाहर निकाल कर खुला छोड़ दीजिए और उसके उठने का इंतजार कीजिए.. मैं आशीष.. फिलहाल राँची में पढ़ने के लिए रह रहा हूँ.. मेरी उम्र 18 साल है और मैं बी.एससी. के पहले वर्ष में हूँ.. मैं अपने माँ-बाप का एकलौता लड़का.. बहुत ही चंचल और हँसमुख लड़का हूँ। मेरे घर पर कंप्यूटर है.. उसी से इंटरनेट पर ग्रेजुयेशन में ही एक्टिव हुआ। मैं अपने ‘सामान’ के बारे में बताता हूँ.. जिसके बिना कहानी कभी पूरी नहीं हो सकती। मेरा लंड जिसे मैंने नापा.. तब मुझे पत
didi ke sath honeymoon kahani

didi ke sath honeymoon kahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हेल्लो दोस्तों, मेरा नाम वरुण है, मैं लखनऊ में रहता हूं, और आज मैं मेरे पहले हनिमून के बारे में बताने जा रहा हूं, जो मैंने अपनी सगी बहन के साथ मनाया था. यह मेरे पहले हनीमून के साथ साथ मेरी पहली चुदाई भी थी और इस स्टोरी को पढ़ कर आप सब लोगो को बहुत मजा आएगा ऐसी में आशा करता हु. मैं अब आप को अपने बारे में बता देता हूं, मेरी उम्र २० साल है और मैं कॉलेज में स्टडी कर रहा हूं, मेरा रंग थोड़ा सा सांवला है, मेरी हाइट ५ फुट ६ इंच है और अब देखा जाए तो मैं एक एवरेज लड़का हूं, मैंने सिर्फ आज तक लड़कियों से बात की है पर कभी सेक्स नहीं किया हे इसलिए मुझे सेक्स के बारे में कुछ ज्यादा नहीं पता हे. अब मैं आप को अपनी बहन के बारे में बता देता हूं, मेरी बहन दिखने में पटाका है मतलब वह बहुत सेक्सी और बहुत खूबसूरत है, उसकी उम्र करीब २५ साल है इसलिए उसकी जवानी पूरी बाहर आ रही थी. उस की फिगर का साइज ३२-३४-३५ थ
mami ki chut ka ahsaan

mami ki chut ka ahsaan


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
दोस्तो, मेरा नाम योगेश है, मैं बीटेक के तीसरे वर्ष का छात्र हूँ और आगरा का रहने वाला हूँ। आज मैं आपको मेरी जिंदगी की एक सच्ची घटना सुनाने जा रहा हूँ। बात तब की है जब मैं स्कूल में पढ़ता था, गर्मी की छुट्टियों में मामा जी ने मुझे अपने पास उदयपुर में कुछ दिन बिताने के लिए बुलाया। मामी जी अजमेर में जॉब करती थीं और मुझे उनको लेते हुए उदयपुर जाना था। मामा जी ने हम दोनों के लिए एसी बस में डबल स्लीपर बुक करवा दिया। मैं घर से रवाना हो गया और बस अजमेर पहुँच गई। मैंने मामी जी का सामान रखवा दिया और वो स्लीपर में आकर लेट गईं, साथ में उनकी एक साल की बेटी भी थी। रात हो चुकी थी और हम सोने लगे। मामी जी ने बेटी को दूध पिलाने के लिए जैसे ही अपनी चूची निकाली.. तो मेरा मन डोलने लगा.. मैं छुप-छुप कर तिरछी निगाहों से उनके बोबे देखता रहा। मेरा मन कर रहा था कि बच्ची को हटा कर खुद चूसने