हिंदी सेक्स कहानियाँ

मालदीव पर हनिमून की शुरूवात

मालदीव पर हनिमून की शुरूवात


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हेल्लो दोस्तो में शाइनी परमार. आज फिर से आप सब के लिए मेरी नयी और बिल्कुल सच्ची कहानी लिखने आई हू. मेरी लास्ट स्टोरी मे आप सब ने पढ़ा ही होगा कैसे मेने और हज़्बेंड ने एरपोर्ट के जेंट्स वॉशरूम मे सेक्स किया था. मेरी दोनो कहानियो के लिए मुझे बहुत मेल मिले जो पढ़ कर बहुत खुशी हुई. आशा करूँगी ऐसे हे आप सब के लिए लिखती रहू ताकि सब लड़के अपने लंड और लड़किया चूत का पानी निकाल सके. अब ज़्यादा वक़्त नही लगाते हुई कहानी स्टार्ट करती हू. तो एरपोर्ट पर सेक्स के बाद हम ने अपनी फ्लाइट बोर्ड की और मालदीव पहुच गये. वाहा पहुचते ही वाहा का मौसम हे कुछ अलग था. वाहा की हवा मे ही रोमान्स था जो मन को बहुत खुश कर गया. हम एरपोर्ट से बाहर आए और वाहा एक आदमी हमारे नाम का बोर्ड लिए खड़ा था. वो गाड़ी से आया जिसमे हम बैठ के होटेल पहुच गये. बात तो यह है की वो होटेल नही बल्कि हज़्बेंड ने एक कॉटेज बुक कि
माँ और मामा की चुदाई, दोनो ने प्यास मिटाई

माँ और मामा की चुदाई, दोनो ने प्यास मिटाई


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
नमस्कार दोस्तों मेरा नाम सीदार्थ है । लोग मुझे सिड बुलाया करते है। मैं आपको एक मेरी आँखो देखीं कहनी सुनाऊँगा जो मेरे माँ और मेरे मुँह बोले मामा के बीच में घाटी । यह कहानी बताते मुझे शर्म भी आ रही है और मज़ा भी। बात उस समय की है जब मेरा कॉलेज में दाख़िला हुआ दिल्ली यूनिवर्सिटी में , हम लोग पटना के रहने वाले हैं। दिल्ली में हमारे एक मुँह बोला मामा रहता था जिसका नाम था तुषार , तो मुझे दिल्ली तक छोरने के लिए मेरी माँ जिसका नाम अंजु हैं वो गयी क्यूँकि मेरे पापा को कुछ काम था पटना मैं और वो जा ना सके। मैं और मेरी माँ पहली बार तुषार मामा के घर पर कुछ दिन तक रहने गए जब तक मुझे हॉस्टल ना मिल जाए। मेरी माँ अंजु की उम्र क़रीब 46 साल थी , उम्र होने के बावजूद वो काफ़ी सुंदर थी , गोरी , गोल गोल गाल , हाइट क़रीब 5’3” और स्तन गोल पर ज़्यादा बड़े नहीं पर किसी आदमी के हाथो में आराम से समा जा
दीदी को चोद बन गया बहनचोद

दीदी को चोद बन गया बहनचोद


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हेल्लो दोस्तो मैं रमण वर्मा आज आपके लिए एक बहुत ही मस्त कहानी ले कर आया हूँ. मुझे उम्मीद है आपको मेरी ये कहानी पसंद आएगी. क्योकि आज मैं आपको बताने वाला हू की कैसे मैं एक भाई से बहेनचोद भाई बन गया. ये सब मैं आपको अच्छे से डीटेल मे पूरा बताउँगा की कैसे मैं एक सिंपल भाई से बेहेनचोद भाई बन गया. तो चलिए शुरू करते है. ये बात आज से 2 महीने पहले की है, जब मैं कॉलेज से 20 दीनो के लिए फ्री हो गया था. मेरे घर मे मैं ,मेरे मम्मी पापा, और मेरी बड़ी बेहेन सोनम है. बड़ी बहन सोनम की शादी हो चुकी है. उनकी शादी को 2 साल हो चुके थे, वो पहले ही काफ़ी खूबसूरत थी. खैर अब मैं 20 दीनो के लिए एक दम फ्री हो चुका था. इसलिए मम्मी पापा ने मुझे काहा की मैं इस बार अपनी छुट्टिया अपनी बेहेन के घर बिता आउ. मुझे उनका आइडिया बहुत अच्छा लगा, इसलिए मैं अगले ही दिन अपनी पॅकिंग करके दीदी के घर की ओर निकल लिया. द
दीदी की शादी मे मिले दो लंड

दीदी की शादी मे मिले दो लंड


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
नमस्ते दोस्तो मैं रूपा अपने सब प्यारे दोस्तो का हाथ जोड़ कर और अपनी चूत खोल कर स्वागत करती हूँ. मेरी चूत आप सब के लंड को एक एक बार लेना चाहती है. क्योकि आप सब के प्यार से ही आज मैं एक और कहानी आप सब के लिए ले कर आई हूँ. मेरी उम्र अभी 19 साल हुई है, और मैने कम से कम 15 लौडे का स्वाद ले लिया है. वैसे मैने काफ़ी सुना है की जो हम कहानी पढ़ते है, वो सारी फेक होती है. पर मुझे दुनिया का तो पता न्ही, पर अपना ज़रूर पता है. क्योकि मेरे पास इतना फालतू टाइम न्ही है. की मैं सोच सोच कर लिखूं, मैं तो वो ही लिखिति हूँ. जो मेरे साथ असल मे हुआ है. क्योकि आज के टाइम जो सब कुछ टीवी, और इंटरनेट पर चल रहा है. उसे देख कर आज कल लड़किया बहोत जल्दी जवान हो रही है. और अपनी 16 साल की अम्रा मे आते आते 8 इंच का लंड लेने की हिम्मत रखती है. और तो और आज कल देवर भाभी, दोस्त की बेहेन, भाई बहेन सब के बीच सेक्स हो
स्टूडेंट को चोदा और चुदवाया

स्टूडेंट को चोदा और चुदवाया


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हेलो एवेरी वन मेरा नेम आदित्या है और मै मेडिकल कॉलेज प्रोफेसर हू. मेरी एज 39 है और मेरी वाइफ का मेरा डाइवोर्स हो चुका है 8 साल से अब वो किसी और के साथ रहती है और मै अकेला. बट मै सेक्स के बिना नही रह सकता तो मै कॉल गर्ल्स भी बहोत मँगवाता हू और कॉलेज मे भी कई लड़कियो के साथ किया था. बट जन्नत तो तब स्टार्ट हुई जब निधि कॉलेज मे आई. आपको निधि के बारे मे बता दू, एकदम वाइट पर्फेक्ट हाइट, 32 के बूब्स और ब्राउन हेयर और वेट भी पर्फेक्ट. उसको देखके हर किसी का लंड खड़ा हो जाए. दिखने मे भी फोरेनर जैसी सेम. मेरा ध्यान उसकी तरफ तब गया जब वो मिस फ्रेशर बनी उसने ब्लैक वन पीस पहेना था एक नंबर माल लग रही थी. फिर मैने उसकी तरफ ध्यान बढ़ाया और मेरा नेचर सब के साथ फ्रेंडली रहता है तो लेक्चर के टाइम भी सब गर्ल्स मुझसे अच्छे से बात करती थी और निधि भी. उसने मुझे फ़ेसबुक पर रिक्वेस्ट भेजी और हमारी
शालु निकली एक नंबर की चालू

शालु निकली एक नंबर की चालू


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
मेरा नाम राजेश है और मैं पंजाब मे रहता हूँ. मेरी उम्र 23 साल है, मेरी अभी शादी नही हुई है. मैने इंटरनेट पर बहुत सारी कहानी पढ़ी है. इसलिए आज मैं भी आपके साथ एक मस्त चुदाई का किस्सा आपके साथ शेयर करने जा रहा हूँ. मुझे उमीद है, आपको मेरी ये कहानी पसंद आएगी. ये किस्सा मेरे साथ पिछले वीक ही हुआ है. ये कहानी एक दम सच्ची है, तो अब कहानी शुरू करते है. मैं पंजाब मे एक गाव मे रहता हूँ. मेरे घर से करीब 20 की.मी दूर एक कंपनी है. जहाँ मैं टीम लीडर की पोस्ट पर लगा हुआ था. मैं अपनी जॉब से काफ़ी खुश था. मेरे अंडर काफ़ी लड़के काम करते थे, और साथ ही लड़किया भी. वाहा करीब 50-60 लड़किया होंगी, पर मुझे उन मे से कोई भी पसंद न्ही आई थी. मैं अपने काम को ज़्यादा इम्पोर्टन्स देता था. मेरे लिए मेरा काम ही मेरे लिए सब कुछ था. मैं अपने काम मे ही मस्त रहता था. खैर ऐसे ही मुझे उस कंपनी मे लग के मुझे एक सा
रेणु के साथ कार मे फुल मस्ती

रेणु के साथ कार मे फुल मस्ती


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
  दोस्तो मैं राज आज एक बहुत ही मस्त कहानी आपके लिए ले कर आया हूँ. मुझे उमीद है, की आप को मेरी ये कहानी पसंद आएगी. तो चलिए अब कहानी शुरू करते है. ये बात तब की है, जब मैं 20 साल का था. मैं कॉलेज मे स्टडी कर रहा था. मैं दिखने मे शुरू से हॅंडसम और गुड लुकिंग था. मैं कॉलेज मे काफ़ी फेमस था, क्योकि मैं एक अच्छा डॅन्सर भी था. मेरी क्लास के 4 लड़के और 3 लड़किया मेरी टीम मे था. हम सब मिल कर कॉलेज हर फंक्षन मे हर बार एक ग्रूप डॅन्स करते थे. हमारा ग्रूप डॅन्स ही हर बार नंबर वन पोज़िशन पर आता था. तभी हमारी क्लास मे एक रेणु नाम की एक मस्त लड़की आई. उसे लड़की कहना ग़लत होगा. क्योकि वो एक कयामत थी. उसका फिगर 34-28-36 था. उसको देख कर सारे कॉलेज के लकड़े पागल हो रहे थे. मैं भी उन लड़को मे से एक था. उसके मस्त जिस्म को देख कर सब पागल हुए घूम रहे थे. सारे लड़के एक रात के लिए उसके स
सहेली के बाय्फ्रेंड ने रंडी बनाया

सहेली के बाय्फ्रेंड ने रंडी बनाया


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
मेरा नाम पिंकी है और मैं आप सबको अपनी एक और सच्ची कहानी बताने जा रही हू कैसे मेरी सहेली के बॉयफ्रेंड ने मुझे रंडी बनाया ये मेरी सच्ची कहानी है.. और मैं आप सबको अपने बारे मे बता दू मैं दिल्ली मे जॉब करती हूँ और मेरा फिगर 36-30-38 है मेरी एक सहेली है वो हमेशा अपने बॉयफ्रेंड को चेंज करती रहती है मेरा मतलब उसको नये नये बॉयफ्रेंड बनाना बहुत अच्छा लगता है. उसके लिए ब्रेकप करना बहुत नोर्मल बात है. वो हमेशा मेरे घर आती है और कभी-कभी मैं भी उसके घर चली जाती हूँ. मैं और मेरी सहेली जब भी एक दूसरे से मिलते है एक दूसरे के बॉयफ्रेंड के बारे मे बाते करते है और एक दूसरे की चुदाई के बारे मे बाते करते है. एक दिन मैं अपने बेडरूम मे मूवी देख रही थी तभी डोर बेल बजी और मैं देखी की मेरी सहेली आई है और मैं उसको देख बहुत खुश हुई और मैं उसको अपने बेडरूम मे ले गयी और हम दोनो मूवी देखने लगे. मैं अपने घर
वर्जिन मेडम की चोदी चूत

वर्जिन मेडम की चोदी चूत


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
मैं एक 21 साल का सख़्त लौंडा हू. मेरे लंड की लंबाई 6. 5 इंच है और मोटाई 3 इंच. ये थी मेरी बात. अब आते हैं कहानी पर, पढ़ के अगर लड़के अपना मूठ ना मारे और लड़की अपनी चूत मे उंगली ना करे तो मुझे कमैंट्स मे ज़रूर बताना… दोस्तों बात क्लास 12वी की है जब मुझे इतना तो पता था की लंड खड़ा होता है लेकिन ये नही पता था की लड़की की चूत मे जाने के लिए होता है. अब बात आई दोस्तों से पता चला की बीफ जीफ चुदाई की बातें करते हैं तभी पता चला और मानो मेरे शरीर मे आग लग गयी हो किसी को चोदने की पर चोदु किसको अपनी तो कोई जीफ ही नही. मैं पढ़ने मे ठीक ठाक था और हिन्दी मे बहुत स्ट्रांग था और हिन्दी हम लोगो को नीता मेडम पढ़ाती थी जो कुवारी थी और 23-24 साल की होगी. और उनका फिगर 34-28-30 होगा. वो अक्सर सूट पहन कर आया करती थी और बहुत सांत नेचर की थी. गर्मी की छुट्टी का टाइम था स्कूल मे. हिन्दी का सिलेबस तोड़ा पीछे
पूजा दीदी और जीजू की सुहागरात

पूजा दीदी और जीजू की सुहागरात


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
मेरे प्यारे दोस्तो मैं पूनम आज आपके दिलो को खुश करने के लिए, एक कहानी ले कर आई हूँ. मुझे पता है की आपको ये कहानी बहुत पसंद आएगी. क्योकि जब मुझे इस कहानी को लिखने मे इतना मज़ा आया, तो इसलिए मैं कह सकती हूँ. की आप को भी कहानी पढ़ कर मज़ा आएगा. ये कहानी पिछले महीने की है. दरअसल मेरी बड़ी बेहेन पूजा की शादी उससे 5 दिन पहले ही हुई थी. हम सब काफ़ी खुश थे, दीदी भी काफ़ी खुश थी. क्योकि उनको पति उनके पसंद के जो मिले थे. मेरे जीजू दिखने मे काफ़ी अच्छे थे. जीजू हॅंडसम होने साथ के साथ हस्स्मुख भी थे. जीजू बहुत मज़ाक करते थे. शादी करते हुए उन्होने मुझे हस्सा हस्सा कर पागल कर दिया था. आख़िर करते भी क्यो ना मैं उनकी एक्लोति साली जो हूँ. अब हुआ कुछ ऐसे की जिस दिन दीदी की शादी हुई, उसी दिन दीदी को पीरियड आ गई. जिस वजह से दीदी की सुहागरात पूरी तरह से खराब हो गई. दीदी अपने सुसराल 5 दिन रही,