behen sex stories

पुणे में सेक्सी औरत की मस्त चुदाई

पुणे में सेक्सी औरत की मस्त चुदाई

assfuck, aunty, aunty chudai kahani, Beenish ke sath sex, Beggar sex stories, BEHAN CHOD BHABHI, behen sex kahani, behen sex stories, beti ki chudai, bhabhi, blowjob sex stories, Boobs mote kardiye, boyfriend, Desi Boobs, Desi Khani, Girls Sex Nude Stories, Hindi Sex Stories, Indian XXX, Telugu sex stories
प्रेषक : राहुल … हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राहुल है, में पुणे से हूँ। अब में हिन्दी में अपनी स्टोरी लिख रहा हूँ ताकि ज़्यादा लोग इसका मज़ा ले सके। में 30 साल का हूँ और इंजिनियर हूँ, में पुणे में रहता हूँ, अब में सीधा स्टोरी पर आता हूँ। ये बात साल 2015 की दीवाली के समय की है, अब में मेरी मम्मी के लिए न्यू सर्प्राइज़ साड़ी लेने के मूड में था इसलिए में अकेला सुबह दस बजे विमननगर के फीनिक्स मॉल में चला गया। अब थोड़ा इधर उधर घुमकर मुझे एक स्टोर में साड़ी अच्छी लगी तो में वहाँ ही बाकी साड़ी देखने लगा, तभी कुछ साड़ी देखकर में कन्फ्यूज़्ड हुआ कि कौन सी लूँ? तभी एक 34-35 साल की लेडी उसी स्टोर में साड़ी देख रही थी, तो मैंने उसे देखा और दंग हो गया उसका रंग बिल्कुल गोरा था, उसकी हाईट भी लगभग 5 फुट 5 इंच थी और स्लिम बॉडी, वो बहुत ही सेक्सी दिख रही थी। अब में उसे ही देखने लगा था, वो परी जैसी दिख रही थी,
Bhai behen ki chudai kahani

Bhai behen ki chudai kahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
Bhai behen ki chudai kahani दोस्तों मैं यानि आपका दोस्त राज शर्मा एक और नई कहानी के साथ हाजिर हूँ एक दिन हमारी मौसी (मदर’स सिस्टर) डिस्ट.-गया के विलेज-टेकरि से आई मुझे और शीला को अपने साथ गाओं अपनी लड़की गीता की मँगनी में ले जाने के लिए. हम दोनो भाई-बेहन का टिकेट अपने साथ बनाकर लेने आई.मम्मी हमसे कही जब तुम्हारे मौसी इतनी दूर से खुद लेने आई तो जाना तो पड़ेगा ही. लेकिन शीला की स्कूल भी खूलि है इसलिए जाओ और मँगनी के बाद दूसरे दिन वापस आ जाना. वापसी का टिकेट अभी ही जाकर लेलो. मैं देल्ही रेलवे स्टेशन गया वहाँ किसी भी ट्रेन की दो दिन की वापसी टिकेट नहीं मिली. अंत मे मैं झारखंड एक्सप्रेस का 98, 99 वेटिंग का ही टिकेट लेकर आ गया कि नहीं कन्फर्म होने पर टीटी को पैसे देकर ट्रेन पर ही सीट ले लेंगे. 29थ ऑक्टोबर. 2000 को मैं और शीला अपनी मौसी (मदर’ससिसटेर) के बेटी (गीता) के मँगनी से वापस लौट रह