beti ki chudai

beti ki chudai kahani story

beti ki chudai kahani story


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
  डॉली बड़ी खुशी मे घर आई जब वो गयी थी तब लड़की थी लेकिन राज ने उसे औरत बनाके भेजा था. डॉली को पता भी नही था कि उसकी ज़िंदगी एक रात मे इतनी बदलेगी. उसके दिल-ओ-दिमाग़ मे अब राज चाचा बस गये थे. वो जानती थी कि राज चाचा के लिए वो कुछ भी करेगी. अपनी बेटी को इतनी खुश देख कर उसकी मा शन्नो को भी अच्छा लगा. डॉली का बाप हर्बार जैसे टूर पे गया था. उसकी मा ने बताया कि उसके डॅडी 4 दिन के बाद आनेवाले थे. राज चाचा के प्लान के मुताबिक डॉली ने उसकी मा को बार-बार बताया कि कैसे एक अजनबी ने उसे ट्रेन के सफ़र मे मदद की और उस भीड़ भरी बुगी मे बैठने के लिए रात भर जगह दी. डॉली ने जान बूझके राज चाचा की बहुत तारीफ की. शन्नो ने भी सोचा कि कितना भला अजनबी था जिसने उसकी बेटी के लिए इतनी तक़लीफ़ उठाई. शन्नो बोली, “आरे बेटी तूने उस आदमी को चाइ पे बुलाना चाहिए था जिसने तेरी इतनी मदद की. ” राज चाचा का प्लान सही