Bhabhi Ki Chudai

nahi bhool sakti sex story

nahi bhool sakti sex story

aunty ki chudai ki kahani, bahan ki chudai, behan ki chudai, bhabhi chudai kahani, Bhabhi Ki Chudai, chudai ki hindi kahaniya, chudai ki kahani photo ke sath, Dear sister's fuck, desi chudai, desi chudai kahani, Desi wife cheating sex stories, Desi wife sex stories, Desi wife sharing sex stories, Desi wife swapping sex stories, devar bhabhi ki chudai, DEVAR BHABHI SEX, devar bhabhi sex stories, english sex kahani, English Sex Stories, Family Sex Stories, Fuck in relationships, Girlfriend ki Chudai, girlfriend Sex stories, Hindi Sex Stories
जिस औरत की मैं बात कर रहा हूँ वो मेरी पड़ोसन शिल्पा है। दरअसल मेरी और मेरे सामने वाले घर में रहने वाले लड़के की शादी करीब करीब एक साथ ही हुई थी। मेरी बीवी और वो दोनों नई दुल्हन थी तो दोनों सहेलियाँ बन गई। वो लड़की गज़ब की चीज़ है। मेरी बीवी भी कम खूबसूरत नहीं है मगर उस लड़की की फिगर और आँखें बहुत नशीली हैं। वो काफी आधुनिक घर की है इसलिए हमेशा जींस और टॉप वगैरह पहनती है जिसमें उसकी फिगर शादी के बाद भी बड़ी मादक लगती है। उसको देखते ही मैं अपनी बीवी को भूल जाता हूँ और मन करता है उसको रगड़ दूं ! काफी समय से यह इच्छा थी, मगर मौका ही नहीं मिल रहा था। एक बार मेरी बीवी अपने मायके गई थी और मेरे माँ-बाप भी शहर से बाहर गए थे। मैं रात की नौकरी करता हूँ इसलिए सुबह घर पर आता हूँ। जिस वक्त मैं घर आ रहा था उस वक्त शिल्पा अपने पति से बाय-बाय कर रही थी क्योंकि वो अपनी दुकान जा रहा था। मुझे देख के उस
harami balma sex kahani

harami balma sex kahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
मैं नंदिनी, उमर 18 देसी साल, 12 क्लास में पढ़ती हूँ. मेरे पिता जी बिज़्नेसमॅन हैं और काफ़ी अमीर हैं. घर में मा के अलावा एक छ्होटा भाई है जो कि बस 10 साल का है. मेरी मा उमा देवी की उमर 38 साल की है और वो एक भरपूर सेक्सी औरत है. पिताजी, राम शर्मा सारा दिन पैसे बनाने में लगे रहते हैं और उनके दोस्त मा के साथ खूब मौज कर लेते हैं. मेरा छ्होटा भाई राजू पड़ोस के लड़कों के साथ क्रिकेट खेलने चला जाता है, पापा दुकान पर और मैं पढ़ने लग जाती हूँ तो मा पापा के दोस्तों से चुदाई करवाती है. एक दिन बारिश हो रही थी और राजू खेलने नहीं गया. वो मुझे परेशान कर रहा था तो मैं उसस्की शिकायत करने मा के कमरे में चली गयी. कमरा बंद था. मैं डोर खोलने ही लगी थी कि मुझे मा की चीख सुनाई पड़ी.”उईईइ धीरे से करो असलम भाई, अब फाड़ ही डालो गे मेरी चूत को?एक तो आपका है ही इतना मोटा और दूसरा आप ऐसे चोद रहे है के जैसे मैं कही
bina sandoor ka suhag

bina sandoor ka suhag

aunty ki chudai ki kahani, bahan ki chudai, behan ki chudai, bhabhi chudai kahani, Bhabhi Ki Chudai, chudai ki hindi kahaniya, chudai ki kahani photo ke sath, Dear sister's fuck, desi chudai, desi chudai kahani, Desi wife cheating sex stories, Desi wife sex stories, Desi wife sharing sex stories, Desi wife swapping sex stories, devar bhabhi ki chudai, DEVAR BHABHI SEX, devar bhabhi sex stories, english sex kahani, English Sex Stories, Family Sex Stories, Fuck in relationships, Girlfriend ki Chudai, girlfriend Sex stories, Hindi Sex Stories
मुझे सेक्स के बारे में जादा जानकारी नहीं थी …में २३ साल की युवती हु…. में कॉलेज में बी ए फिनल इयर की स्टुडेंट हु,,, एक बार की बात है में गौरव टावर पर शौपिंग करने गयी थी… वहा मुझे एक लड़का बार बार घुर रहा था…जब में वहा से निकली तो वो लड़का भी मेरा पीछा करने लगा,,, में कॉलेज जा रही थी …वो भी मेरे पीछे पीछे आने लगा मुझे डर लगने लगा जेसे ही में बस से उतारी तो वो एक दम मेरे पीछे आकर बोला हेल्लो में तरुण …लेकिन मेने उसकी बातो पर ध्यान नहीं दिया और चलती रही मेरी सासे और धड़कन बढ़ रही थी… एक दम से मेरे सामने आकार बोला में तरुण हु और में आप से दोस्ती करना चाहता हु… में बोली अभी में कॉलेज के लिए लेट हो रही हु…बाद में बतौगी… फिर में पूरी क्लास में उसी लड़के के बारे में सोचती रही की लड़का तो स्मार्ट है.. पर अगर किसी को पता चल गया तो… फिर में २ क्लास के बाद ही कॉलेज से आ गयी… अब वो कॉलेज के
दो लंडो का स्वाद अपनी ही चुत मे

दो लंडो का स्वाद अपनी ही चुत मे


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
दोस्तों आपका स्वागत है फिर से एक नयी कहानी के साथ, जिसमे में आपको अपने बारे में बताती हूँ मेरा नाम सपना है | मैं आपको अपनी सची कहानी सुनाने जा रही हूँ | मैं बी. ऐ की स्टूडेंट हूँ, जब मैंने नया नया कालेज जाना शुरू किया था, इतनी आजादी और लडको साथ और लडकियो को घूमते देख कर मेरा मन भी मचलने लगा, और मैंने भी किसी लड़के के साथ दोस्ती करनी की थान ली, कुछ ही दिनों में सबी स्टूडेंट अपनी क्लास लगाने लगे, और मेरी दोस्ती एक श्लोक नाम के लड़के के साथ होई, मेरे लिए तो बॉय फ्रेंड बनाना सिर्फ आज़ादी से घूमना और बातें करना ही था, मगर मुझे क्या पता था कि बॉय फ्रेंड ऐसा गजब है जो जिन्दगी को खुशियो से भर देता है | जिसे पाकर कोई भी लड़की यही कहेगी कि बॉय फ्रेंड बिना जिन्दगी अधूरी सी है | अब्ब मैं आपको हमारी इस दोस्ती के बारे में बताती हूँ | मैं और श्लोक एक ही क्लास में थे, धीरे धीरे हम में बात चीत होने लगी
सोनिया की चुदाई की कहानी 2

सोनिया की चुदाई की कहानी 2


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
मुझे उसके नशीले होंठों कामुक्त निप्पलों़़ सैक्सी नाभी मीठी योर्नी सब का स्वाद पता था। मुझे उसकी पीठ़़ उसके नितम्बों उसके हाथ मेरे ट्टटों पर और मेरा लण्ड पर उसकी कोमल चूत की पकड़। सब का र्स्पश पता था। उसकी सिस्कियां जो संगीत की तरह थी उन पर नाचना आता था। ओह कितना उतेजित करने वाला मेरे लण्ड को चूसना उसकी ज़ुबान का मेरे लण्ड के टोपे पर झूमना उसके मूंह की नर्मी जो मेरे लण्ड को और भी उतेजित कर रही थी कि मैं आपे से बाहर हो कर अपने वीर्य की वर्षा उसके स्तनों हाथाे़ं बांहों योनि पर करने से रुक नहीं पाया। इन सब चीज़ों का ज्ञान मुझे उन पलों में आया जब सोनिया और मैं कस कर आलिंगन कर रहे थे और कामुक्ता के बुखार में विर्सजित हो कर अपनी अन्दर की भावनाआ को प्रकट कर रहे थे। मैंने अपने हाथों को उसके नितम्बों से सरका कर उसके उभरे हुये स्तनों पर रख दिया। हम अचनक अलग हुये और आंखे खोली। सोनिया ने मेरी तरफ
ओओओओःह्ह्ह.. भाभी चुदाई की कहानी – 2

ओओओओःह्ह्ह.. भाभी चुदाई की कहानी – 2


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
भाभी मुझको ललकार कर कहती, लगाओ शॉट मेरे राजा”, और मैं जवाब देता, “यह ले मेरी रानी, ले ले अपनीचूत मे”. “ज़रा और ज़ोर से सरकाओ अपना लंड मेरी चूत मे मेरे राजा”, “यह ले मेरी रानी, यह लंड तो तेरे लिए ही है.” “देखो राज्ज्ज्जा मेरी चूत तो तेरे लंड की दीवानी हो गयी, और ज़ोर से और ज़ोर से आआईईईई मेरे राज्ज्जज्ज्ज्जा. मैं गइईईईई रीई,” कहते हुए मेरी भाभी ने मुझको कस कर अपनी बाहों मे जाकड़ लिया और उनकी चूत ने ज्वालामुखी का लावा छोर दिया. अब तक मेरा भी लंड पानी छोड़ने वाला था और मैं बोला, “मैं भी अयाआआ मेरी जाआअन,” और मेने भी अपना लंड का पानी छोर दिया और मैं हान्फ्ते हुए उनकी चूंची पर सिर रख कर कस के चिपक कर लेट गया. यह मेरी पहली चुदाई थी. इसीलिए मुझे काफ़ी थकान महसूस हो रही थी. मैं भाभी के सिने पर सर रख कर सो गया. भाभी भी एक हाथ से मेरे सिर को धीरे धीरे से सहलाते हुए दूसरे हाथ से मेरी पीठ सहला रही थी.
bhabhi ne kia lund ko lamba

bhabhi ne kia lund ko lamba


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
जेसा की आप सभी जानते हैं की मेरा नाम गोद है आज मई आपको अपने जीवन की एक सत्यकथा सुनाने जा रहा हूँ ।जब मैं 15 साल का था तब से ही मुझे मुट्ठ मरने की आदत लग गई थी । जो की मुझे मेरे मदरचो ….. दोस्तों ने सिखाई थी ।इसके कारन मैं बड़ा परेशां था ।मैं जेसे ही किस चीनल पर कोई भी होत सीन देखता था तो तुंरत मेरा लंड कदा हो जाता था और मुझे चूत की हुड़क होने लगती थी पर चूत मिलती कहाँ से ? चूतें कोई आसमान से तो टपकती नही । तो मजबूरन मुझे मुट्ठ मरना पड़ता था . जिसके फलस्वरूप मेरा लुंड की भदत रुक गई और नाटो मेरा लुंड लुम्बा हुआ ,न उसमें पोवार रही मेरा लुंड इतना बेकार होगया की मेरा पानी १ मिनट मैं ही चूत जाता था ।मेरा लंड इतना बेकआर था की सुकारने के बाद मुझे ख़ुद पता नही नै चलता था की मेरा लूँ गया तो गया कहाँ ? क्योंकि मेरा lund खड़ा होने बाद बी मात्र ३ इंच का था । अपनी हवास को पूरा करने मैं 1 बा
bench par chudai ki vo raat

bench par chudai ki vo raat

aunty ki chudai ki kahani, bahan ki chudai, behan ki chudai, bhabhi chudai kahani, Bhabhi Ki Chudai, chudai ki hindi kahaniya, chudai ki kahani photo ke sath, Dear sister's fuck, desi chudai, desi chudai kahani, Desi wife cheating sex stories, Desi wife sex stories, Desi wife sharing sex stories, Desi wife swapping sex stories, devar bhabhi ki chudai, DEVAR BHABHI SEX, devar bhabhi sex stories, english sex kahani, English Sex Stories, Family Sex Stories, Fuck in relationships, Girlfriend ki Chudai, girlfriend Sex stories, Hindi Sex Stories
सबसे पहले मैं आपको अपने बारे मैं बता दूँ मेरा नाम धनंजय है और मेरे दोस्त मुझे प्यार से DJ कहते हैं। मैं मूलतः बिहार से हूँ और दिल्ली में रहता हूँ और जहाँ तक पढ़ाई की बात है, तो मैं ग्रेजुएशन कर रहा हूँ। आप सभी पाठकों को प्रणाम करते हुए, मैं अपनी कहानी पर आता हूँ। मैं अपनी पढ़ाई के साथ ही अपने घरवालों की हेल्प करने के लिए जॉब ढूँढ़ रहा था, इसी बीच मुझे एक कॉल सेंटर में टीम लीडर की जॉब मिल गई क्योंकि मेरे पास पहले भी कॉल सेंटर में काम करने का तजुर्बा था। वहाँ एक लड़की की टेली कॉलर की पोस्ट पर नई-नई भरती हुई थी। उसका नाम रश्मि था। मुझे वो लड़की बहुत अच्छी लगती थी, पर मैं उससे बात नहीं कर पाता था। सबसे बड़ी दिक्कत तो यह थी कि मैं टीम लीडर था और वो मेरी टीम में नहीं थी, किसी और की टीम में थी। पर एक दिन किस्मत ने मेरा साथ दिया और उसकी टीम लीडर को डेंगू हो गया और उसकी टीम के 12 कॉलर्स को म
mami ko do mardo ne choda

mami ko do mardo ne choda


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
मेरा नाम यश है, मैं 19 साल का हूँ और यूनिवर्सिटी में पढ़ता हूँ। मैं अपने घर से दूर अपनी मामी-मामा के पास रहता हूँ। मैं आपको अपनी मामी की एक सच्ची घटना के बारे में बताने से पहले, यह बता देता हूँ कि कैसे एक औरत सैक्स के लिए क्या क्या नहीं कर गुजरती है। आपको मैं अपनी मामी के बारे में बता देता हूँ, उनकी उमर 38 साल की है, उनका एक लड़का है, जो घर से दूर पढ़ाई के लिए हॉस्टल में रहता है, और घर कभी-कभी ही आता है, मामा जी बिजनेस मैन हैं जो कि बिजनेस के मामले में कभी दिल्ली, तो कभी जालंधर आदि दूर दूर जाते रहते हैं। अधिकतर घर में मैं और मेरी मामी ही रहते हैं। मामी देखने में इतनी सैक्सी हैं कि देखते ही मन में सम्भोग का ख्याल आ जाता है। उनका गोरा जिस्म है, उनके स्तन इतने टाईट हैं कि क्या बताऊँ, उनके चूतड़ भी उनके स्तनों की तरह बड़े बड़े और टाईट हैं। वे सलवार सूट पहनती हैं। चलो, अब मुद्दे पर आता
bhaiya ne choda pahli baar

bhaiya ne choda pahli baar


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
इस कहानी का लेखक मैं नहीं हूं. मैंने इसमें केवल कुछ संशोधन किये हैं. तो प्रस्तुत है दोस्तों मेरा नाम सीमा है, जब यह घटना मेरे साथ घटी उस समय मेरी उम्र 22 साल थी, मेरे फिगर का आकार 36-27-32 है और में दिखने में बहुत सुंदर मेरा रंग गोरा, मेरे सेक्सी बदन को देखकर हर लड़का मुझे पाने की इच्छा अपने मन में रखता था, बहुत सारे लड़के मेरी मटकती हुई गांड, उभरे हुए गोरे बूब्स को घूर घूरकर देखते थे, क्योंकि में हमेशा बड़े गले के कपड़े पहनती हूँ और मेरी उस जालीदार चुन्नी से मेरे गोरे गोरे बूब्स उनको साफ साफ नजर आते थे. वैसे भी में दिखने में कुछ ज्यादा ही हॉट सेक्सी हूँ, इसलिए कॉलेज में क्या मेरे अड़ोस पड़ोस में भी हर कोई मुझे अपनी गंदी खा जाने वाली नजर से ही देखता. दोस्तों में एक बहुत अच्छे कॉलेज से अपनी बीए की पढ़ाई आखरी साल से कर रही हूँ और अभी में लुधियाना पंजाब में रहती हूँ और में वहीं पर ही अपने अं