devar bhabhi

देवर से चूत मरवाने की इच्छा

देवर से चूत मरवाने की इच्छा

antarvasna, Bhabhi sex story, Bhai bahan sex story, bhai behen sex kahani, bhatiji, big boobs, big cock, bikini, biwi ki chudai, Biwi ki garam dost, Blowjob sex kahani, blowjob sex stories, boobs, Boobs mote kardiye, bra, chudakkad, chudakkad ladki, chudas, COUSIN KI MUST CHUDAI, Cousin ki zabardasti chudai, cum, cunt, dardbhari chudai, Darzi Se Chudai Urdu Kahani, desi cock, Desi gangbang sex stories, desi hot stories, Desi incest sex stories, desi kahani, Desi voyeur sex stories, Desi wife fucked by beggars sex stories, Desi wife fucked by Muslim sex stories, devar bhabhi, dost ki biwi, Dost ki cute behen, DOST KI SIS KO CHODA, Ek anokhi family ki kahani, EK GHALTI COUSIN KE SAATH, Ek Mast Ladki Ko Patake Choda, Group Sex, group sex stories, Groupsex, hindi chudai kahani, hindi chudai ki kahani, hindi font sex kahani, indian lund, pyasi chut
bhabhi sex stories, antarvasna हेलो दोस्तों, मेरा नाम संगीता है और मैं 28 वर्ष की शादीशुदा महिला हूं। मेरी शादी को 5 वर्ष हो चुके हैं, मेरे पति मनोज का व्यवहार भी अच्छा है, वह मेरा बहुत ही ध्यान रखते हैं परंतु उसके बावजूद भी मैं अपने देवर के प्रति कुछ ज्यादा ही समर्पित हूं मेरे देवर का नाम गौतम है। मेरे पति मेरा बहुत ध्यान रखते हैं लेकिन उसके बावजूद भी ना जाने मेरा झुकाव मेरे देवर के तरफ ही है। वह दोनों साथ में ही काम करते हैं और हम लोग पुणे में रहते हैं। पुणे में ही मेरे पति का मार्बल का काम है और मेरे देवर भी उनके साथ ही काम करते हैं। उन दोनों भाइयों के बीच में बहुत प्रेम है लेकिन अभी गौतम की शादी नहीं हुई, उसके लिए मेरे सास और ससुर लड़की देख रहे हैं। मैं जब भी अपने देवर से बात करती हूं तो मुझे उनसे बात करना बहुत अच्छा लगता है, वह बात करने में बहुत ही शांत स्वभाव के हैं,  वह बहुत ही
Devar ke sath maje liye

Devar ke sath maje liye


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
Devar ke sath maje liye Meri age 29 yrs name poonam hai, ek saal pahle mere pati ki maut ho gayee, isliye chaddar odhayee ki rasm ke mutabik meri sadi chotte devar rohit jo ki 18 ka tha kar di gayee, uski bhi sadi toh ho chuki thi bimla 16 ki se, lekin bimla ko vida ho ke 3 saal baad aana tha, kyunki rohit ki padhai chal rahi thi, khandan mein wo hi ek padhne mein tez tha, aur engineer ban ne ka target tha. Sasurji ke pass badi zaydad thi, rohit sidha sada aur bhola sa dubla patla darpok type ka ladka tha, sasurji se bhi darta tha. Mein dekhne mein bholi sidhi lekin hatti katti aur lambi thi, sasural mein sab ka kaha bhi manti aur sewa bhi karti, gaon mein parda bhi rakhna padta hai.kabhi kisi ko shikayat ka mauka nahi diya tha. Rohit ko sahar aana tha padhai ke liyeaur ham...