mastram kahani

bhabhi ka gangbang chudai

bhabhi ka gangbang chudai


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
मेरा नाम स्वाति हे और मैं 25 साल की हाउसवाइफ हूँ. मेरी शादी को एक साल हो चूका हे पर मेरे पति अभी तक मुझे दिन रात चोदते हे. एक भी रात ऐसी नहीं होती हे जब वो मेरी चूत न बजाये! मेरी कोलोनी के सारे लड़के मेरी सेक्सी फिगर के दीवाने हे. और जब भी मैं अकेले निकलती हूँ तो सब फ्लर्ट करते हे मेरे साथ. मैं हमेशा बहोत छोटा ब्लाउज पहनती हूँ और साडी भी काफी लो वेस्ट पहनती हूँ. ब्लाउज बेकलेस होता हे और इतना डीप की क्लीवेज दिखे अच्छे से. मुझे अच्छा लगता हे जब लड़के मुझे देख के ललचाते हे. एक दिन ऐसे ही मैं अकेले वाल्क पर निकली कोलोनी में. मेरे घर के पास में तिन लड़के रहते हे किराए पर जो कोलेज में पढ़ाई करने आये हे यहाँ. रोहन, अक्षय और विजय नाम हे उन्के. उन लोगों ने मुझे देखा तो आ गए बातें करने के लिए. रोहन: अरे भाभी आप तो बहुत दिनों के बाद में दिखी आज. वैसे आजकल लगता हे काफी बीजी हो आओ? मैं: नहीं बीजी त
biwi kisi or se chudai karai sex kahani

biwi kisi or se chudai karai sex kahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
दोस्तों आपको पायल के तरफ से प्यार भरा नमस्कार और बहुत बहुत प्यार। आज मैं आपको अपनी चुदाई की कहानी सूना रही हु, ये कहानी ज्यादा दिन की नहीं है ये खेल अब चल रहा है और और उम्मीद करती हु की ये कभी भी ख़तम नहीं होने बाला खेल है क्यों की पति में तो दम है नहीं की वो मुझे चोद सके और कौन ऐसी गदराई माल बाली औरत होगी जो बिना चुदे अपनी ज़िंदगी काट लेगी। दोस्तों आज मैं आपको पूरी कहानी बताने जा रही हु। मैं दिल्ली में रहती हु अपने पति के साथ शादी के हुए सिर्फ आठ महीने हुए हैं। ऐसे मैं पलवल की रहने वाली हु, शादी के बाद दिल्ली आ गई हु। शादी के बाद आजतक कभी भी मेरी सेक्स की तड़प कम नहीं हुई क्यों की मुझे मेरा पति चोद ही नहीं पाता है, वो सिर्फ मेरी चूत चाटता है और मेरी चूचियों को मसलता है, और जब वो मेरी चूत में वो अपना चार इंच का लंड डालने की कोशिश करता है चूत के ऊपर ही झड़ जाता है। उस समय मुझे कैसा लगता हो
Hindi Porn Story Makan Malik Ki Beti Ki

Hindi Porn Story Makan Malik Ki Beti Ki


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
मेरा नाम माधव शर्मा है, मैं इंदौर में पढ़ाई करता हूँ और यहाँ किराये के एक रूम में रहता हूँ। मेरी हिन्दी पोर्न स्टोरी की घटना आज से चार माह पहले की है जब मैं अपने नए रूम में रहने के लिए आया था, अभी दो दिन हुए थे यहाँ पर, एक दिन शाम के टाइम में सो कर उठा था, मेरा लंड लोअर में तम्बू बनाये हुए था और मैं उसे पकड़ कर मसलते हुए फोन पर बात करने लगा. तभी मेरी नजर खिड़की के बाहर गई जहाँ एक लड़की खड़ी थी और वो मेरे खड़े लंड को देख रही थी. मैं उसे देख के पहले तो धीरे से खिड़की से हट गया पर फिर मेरे मन में ख्याल आया क्यों न इसे लंड देखने दूँ. यह सोच कर मैं वहीं आकर खड़ा हो गया जहां से उसे मेरा लौड़ा मसलना दिखाई दे. मैंने अनजान बनते हुए लौड़ा मसलना चालू रखा और फोन पर बात करते रहा. थोड़ी देर बाद उसकी तरफ नजर घुमाई तो देखा कि वो जा चुकी थी। मेरा लौड़ा उसे देखते हुए देख कर तो उसे चोदने का मन होने लगा और मैं
pyasi chut chudai bhabhi ki • Hindi Sex Stories

pyasi chut chudai bhabhi ki • Hindi Sex Stories


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
दोस्तो, मेरा नाम सैम है (बदला हुआ नाम), मैं उदयपुर राजस्थान का रहने वाला हूँ. आज मैं अपनी एक देसी स्टोरी आपको बताना चाहता हूँ. यह मेरी अन्तर्वासना साईट पर पहली चुदाई की कहानी है. मेरी इस कहानी में कोई गलती दिखे तो माफ़ कर दीजिएगा क्योंकि यह मेरा कहानी लिखने का पहला प्रयास है. पहले मैं आप को अपने बारे में बता दूँ मेरी हाइट 5 फुट 8 इंच है और मेरी एथेलीट बॉडी है और दिखने में बहुत स्मार्ट हूँ. यह बात तब की है, जब मैं 21 साल का था. मैं मुंबई के एक माने हुए कॉलेज में अपनी ग्रेजुएशन कर रहा था. मेरे कॉलेज में कई लड़कियां मुझ पर मरती है और मेरी कई गर्लफ्रेंड भी थीं और उनमें से कई गर्लफ्रेंड के साथ सेक्स भी कर चुका था. मैं अपने कॉलेज में पढ़ाई और स्पोर्ट्स में बहुत पॉपुलर था. गर्मियों की छुट्टियों में मैं मुम्बई के अपने कॉलेज से घर आया था. घर आने के एक दिन बाद मैंने अपने बिल्कुल लगे हुए मकान म