stranger

हाउसवाइफ भाभी की धमाकेदार चुदाई

हाउसवाइफ भाभी की धमाकेदार चुदाई


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हेल्लो फ्रेंड्स मेरा नाम विराट राजपूत है, मैं नोएडा से हू जॉब करता हू पर मैं एक कॉलबॉय हू. आज मैं आपको दो दिन पहले हुई अपनी कस्टमर की चुदाई की कहानी सुनाने जा रहा हू अच्छी लगे तो बताना. मेरी हाइट 6फिट है देखने मे स्मार्ट हू लंड का साइज़ 6इंच, तो अब स्टोरी शुरू करता हू. एक नवम्बर को मेरी आईडी पर एक मेल आया नोएडा की ही एक हाउसवाइफ थी पायल नाम था (नाम चेंज) एज 28 उसकी दो साल पहले शादी हुई थी पर उसके हज़्बेंड 6 महीने से आउट ऑफ सिटी जॉब कर रहे थे इसलिए वो अनसॅटिस्फाइड थी. उसने मुझसे बात की और रेट फायनल करने कर बाद मिलने बुलाया उसके सास ससुर कही बाहर गये थे एक नाइट के लिए. मैने उसको कॉल करके उसके घर गया तो उसने दरवाजा खोला और जल्दी से मुझे अंदर बुला लिया, वो देखने मे थोड़ी सावली थी पर उसकी हाइट 5.6 थी और भरा हुवा जिस्म मोटे मोटे बूब्स और निकली हुई गांड और सेक्सी लिप्स. उसने थोड़
ट्रेन मे मिली, बेडरूम मे चुदाई की

ट्रेन मे मिली, बेडरूम मे चुदाई की

aunty ki chudai ki kahani, bahan ki chudai, bathroom, bedroom, behan ki chudai, bhabhi chudai kahani, Bhabhi Ki Chudai, chudai ki hindi kahaniya, chudai ki kahani photo ke sath, Dear sister's fuck, desi chudai, desi chudai kahani, Desi wife cheating sex stories, Desi wife sex stories, Desi wife sharing sex stories, Desi wife swapping sex stories, devar bhabhi ki chudai, DEVAR BHABHI SEX, devar bhabhi sex stories, english sex kahani, English Sex Stories, Family Sex Stories, Fuck in relationships, Girlfriend ki Chudai, girlfriend Sex stories, Hindi Sex Stories, stranger, train
  हेल्लो फ्रेंड्स, मेरा नाम रोहित है. और मैं बहोत ही मस्त हूँ. मैं दिखने मे काफ़ी हॅंडसम हूँ. मैं 25 साल का हूँ और मुंबई मे रहता हूँ. मैं जॉब करता हूँ और खूब मज़े लेता हूँ. मुझे बहोत अच्छा लगता है जब मैं बिज़ी होता हूँ क्योकि मुझे अपनी बिज़ी लाइफ बहोत ही अच्छी लगती है. मैं आज आपके लिए एक कहानी ले कर आया हूँ जो की बहोत ही मस्त है. पर कहानी शुरू करने से पहले मैं आपको अपने बारे मे बताना चाहता हूँ. तो बिना किसी देरी के मैं आपको अपनी कहानी पर ले कर चलता हूँ. पर इतनी भी जल्दी क्या है. मैं आपको अब अपने बारे मे बता देता हूँ. मैं जिम भी जाता हूँ और मुझे जिम जाना बहोत अच्छा लगता है. मैं बहोत ही मज़े से रहता हूँ. मैं अब ज़्यादा टाइम ना लेते हुए कहानी पर ही चलता हूँ. कहानी पर ले कर जाने मे ही मज़ा है क्योकि सबके लंड को चूत की प्यास होंगी. तो बिना किसी देरी के मैं आपको कहानी पर
दीदी की शादी मे मिले दो लंड

दीदी की शादी मे मिले दो लंड


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
नमस्ते दोस्तो मैं रूपा अपने सब प्यारे दोस्तो का हाथ जोड़ कर और अपनी चूत खोल कर स्वागत करती हूँ. मेरी चूत आप सब के लंड को एक एक बार लेना चाहती है. क्योकि आप सब के प्यार से ही आज मैं एक और कहानी आप सब के लिए ले कर आई हूँ. मेरी उम्र अभी 19 साल हुई है, और मैने कम से कम 15 लौडे का स्वाद ले लिया है. वैसे मैने काफ़ी सुना है की जो हम कहानी पढ़ते है, वो सारी फेक होती है. पर मुझे दुनिया का तो पता न्ही, पर अपना ज़रूर पता है. क्योकि मेरे पास इतना फालतू टाइम न्ही है. की मैं सोच सोच कर लिखूं, मैं तो वो ही लिखिति हूँ. जो मेरे साथ असल मे हुआ है. क्योकि आज के टाइम जो सब कुछ टीवी, और इंटरनेट पर चल रहा है. उसे देख कर आज कल लड़किया बहोत जल्दी जवान हो रही है. और अपनी 16 साल की अम्रा मे आते आते 8 इंच का लंड लेने की हिम्मत रखती है. और तो और आज कल देवर भाभी, दोस्त की बेहेन, भाई बहेन सब के बीच सेक्स हो
साइबर केफे मे रंडी की चुदाई

साइबर केफे मे रंडी की चुदाई


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हाय, मेरा नाम प्रवीण है और मैं भोपाल मे रहता हूँ न्यू मार्केट के पास तो अब तक की स्टोरीस का रेस्पॉन्स थोड़ा धीमा था लड़किया पता नही क्यो डरती है या झीजाकती है मैल ही नही करती प्लीज़ मैल कीजिए, तो मैं अब अपने बारे मे बता देता हूँ मैं सावला हूँ आवरेज बिल्ड बॉडी हाइट भी ठीक है और शायद थोड़ा हॅंडसम भी दिखता हूँ जैसा लड़कियाँ कहती है, तो अब मैं स्टार्ट करता हूँ तो ये कहानी एक रंडी लड़की और मेरी चुदाई की है जो मुझे एक नेट क्याफे मे मिली थी तो कहानी कुछ ऐसी है की एक दिन मैं एक नेट क्याफे मे पीसी ठीक कर रहा था पॉकेट मनी के लिए, तो वाहा मेरे सामने एक लड़की बैठी थी मैं आछे से उसे देख नही पा रहा था तो मैं थोड़ा उठ के समान लेने गया तो वो दिखी बहुत सेक्सी थी सावली थी वो और उसका फिगर बहुत प्यारा था, दिखने मे इतनी खास नही थी पर बस देख के चोदने का मन कर रहा था और उसने बहुत छोटा टॉप पहना था और जींस पहनी थी
ट्रिप का मज़ा विथ वोड्का

ट्रिप का मज़ा विथ वोड्का


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हेलो दोस्तो मैं अरिश राज आज आपको अपनी न्यू स्टोरी सुनाता हू जोकि मेरे साथ अभी अभी हुई है हुआ यू की अपने ऑफीस के काम से दूसरे सिटी जा रहा था जोकि तीन घंटे की दूरी पे है तो मैने मॉर्निंग मे 6एम की बस ली अभी ठंड का मौसम है तो बस मे ज़्यादा भीड़ नही थी और मैं एक खाली सीट देख कर बैठ गया थोड़ी देर बाद मुझे नींद आ गयी मैं सो गया बस चल पड़ी थी, थोड़ी देर के बाद धूप निकली और मेरे विंडो साइड से धूप आने लगी जिससे मुझे काफ़ी अछा लग रहा था और मैं मज़े मे सो रहा था कुछ देर के बाद मुझे किसी ने क्नॉक किया तो मैं जगा एक मस्त भाभी जी सारी पहने और समान लिए खड़ी थी बोली क्या मैं आपके साथ बैठ सकती हूँ तो मैने बोला काफ़ी सीट खाली है कही भी बैठ जाओ तो बोली इस तरफ से धूप आ रही है क्या मैं आपके साथ बैठ जाउ प्लीज़, मैं थोड़ा साइड हो गया और वो बैठ गयी एंड थॅंक्स बोला मैने बोला इट्स ओके मुझे भी ठंड लग रही थी अब आप आ
मेरी चुदाई की कहानी मेरी ज़ुबानी

मेरी चुदाई की कहानी मेरी ज़ुबानी


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हेलो फ्रेंड्स, कैसे हो आप सब मैं आप की जान हाज़िर हूँ आज एक नयी स्टोरी के साथ जिसमे मैं आपको अपनी ज़िंदगी की हक़ीकत बताने जा रही हूँ, इस स्टोरी मे मैं आपको बतौँगी की कैसे मेरी ज़िंदगी का सफ़र शुरू हुआ चुदाई के साथ और कैसे कैसे मैने सेक्स अड्वेंचर एंजॉय किए कुछ ज़बरदस्ती तो कुछ अपनी मर्ज़ी से अपने मेरी पिछली स्टोरीस पढ़ी होंगी की कैसे मैने लॉंड्री वाले से और फोजी से चुदवाया और अब मैं आपको बताने जा रही हूँ आगे की स्टोरी मुझे चुदाई का नशा सा हो गया था बगैर चुदवाये नींद ही नही आती थी और मैं जब अपनी हाइयर स्टडी के लिए शहर से दूसरे शहर गयी तो वाहा मुझे खुली आज़ादी मिल गयी अपनी लाइफ एंजॉय करने की और अपने ख्वाब पूरे करने की तो अब स्टोरी पर आती हूँ, एक दफ़ा मैं घर से यूनिवर्सिटी गयी छुट्टियो के बाद तो वाहा जा कर पता चला की यूनिवर्सिटी 2 दिन बाद खुलेगी, तो मुझे बहोत टेंशन हुई की अब क्या करूँ कहाँ जा
वियाग्रा पिल्स देकर चुदाई की

वियाग्रा पिल्स देकर चुदाई की


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हेलो फ्रेंड्स, मेरा नाम एस. के. यादव है और मैं पहले भी “अपनी अकाउंटेंट की अनवॉंटेड चुदाई” स्टोरी सब्मिट कर चुका हूँ और अब एक काफ़ी अरसे के बाद फिर एक बार और एक नई घटना आप सभी के साथ शेर करना चाहता हूँ जो की बहुत ही इंटरेस्टिंग है और आप सभी का मूड फुल ऑफ एग्ज़ाइट्मेंट कर देगी ये मेरा चॅलेंज है, ज़्यादा समय ना लेते हुए अब मैं सीधे स्टोरी पे आता हूँ, जैसा की आपको पहले भी बताया था की मैं कुछ बीझणस मे डील करता हूँ जिसकी वजह से मैं राजस्थान, यूपी, एम.पी, देल्ही और हरयाणा आता जाता रहता हूँ और आप मुझे अपने फीडबॅक्स देना ना भूले मेरी मैल आईडी है “[email protected]”, एक दिन नवेंबर 21, 2014 को मैं देल्ही से अपनी कार से अपने घर की और वापस जा रहा था और शाम के करीब 7 बज चुके थे और थोड़ा-थोड़ा अंधेरा होने लगा था, मैने गाड़ी कर्नल बाय-पास की तरफ टर्न की ही थी की एक लेडी जिसकी उमर करीब 35 साल के आस पास रही
देल्ही मेट्रो मे मिले गॅंड के मज़े

देल्ही मेट्रो मे मिले गॅंड के मज़े


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हेलो, मैं मॅक्स न्यू देल्ही मे रहता हूँ और देल्ही मे ही एक अछी कंपनी मे जॉब करता हूँ, पहले मैं सारी लड़कियों और आंटीओ को नमस्कार कहता हूँ और आज मैं जो स्टोरी सुनाने जा रहा हूँ वो मेरे साथ देल्ही मेट्रो मे हुई थी (प्लीज़ देल्ही की फीमेल्स मुझे मैल ज़रूर करना सेक्स के बारे मे किसी भी तरहा की बात करने के लिए मेरी मैल आईडी है “[email protected]”) ये वाक़या करीब दस दिन पहले का है मैं रोज़ की तरह ऑफीस “नोईडा सएक 16 मेट्रो” से अपने घर लौट रहा था और मेट्रो मे बहोत भीड़ थी और शाम को ऑफीस टाइमिंग्स की वजह से बहोत भीड़ होती मेट्रो मे, मैं धक्का मुक्की करके जैसे तैसे चढ़ गया मेट्रो मे पर ट्रेन मे पैर रखने की भी जगह नही थी, अगले स्टेशन पे कुछ लोग उतरे तो थोड़ी जगह हुई और मैं अंदर घुस गया पर उससे दुगने लोग चढ़ गये और फिर वही कंडीशन हो गयी, अब मैं जहाँ खड़ा था वाहा मेरे आगे 29-30 साल की एक मॅरीड आंटी खड़
रूम नंबर 102 मे चुदाई

रूम नंबर 102 मे चुदाई


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
मेरा नाम अरुण है, और मैं हरयाणा से आज अपनी जिंदगी की एक सेक्स की घटना लेकर आया हूँ. मुझे उमीद है, ये कहानी आपको बहुत पसंद आएगी. इस कहानी मे एक एक शब्द सच है, तो इसलिए इस कहानी को मज़ा ले कर पढ़िए. आज मैं पहली बार अपनी कोई कहानी लिख रा हूँ. मैने कुछ महीने पहले हिन्दी सेक्स स्टोरी पढ़ना शुरू किया था. मुझे ये इतनी अच्छी लगी, की आज मैं खुद अपनी एक कहानी लिखरहा हूँ. दरअसल ये बात आज से करीब एक साल पहले की है. जब मैं एक आंटी को चोदने के लिए देल्ही गया था, ये सब कैसे हुआ अब मैं आपको शुरू से बताता हूँ. मैं आज एक प्ले बॉय हूँ, और प्यासी लड़कियो, भाभियो और औरतो की चूत की प्यास को शांत करता हूँ. मेरा लंड 8 इंच का है, ये शायद उपर वाले ने मुझे इसलिए ही दिया है. की मैं प्यासी चूत की प्यास और आग को शांत कर सकूँ. क्योकि जब मैने अपनी लाइफ मे अपनी चाची को चोदा था. उन्होने देखते ही कह दिया था, की ब
जवानी के दिन है चार

जवानी के दिन है चार


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हाय फ्रेंड्स, मैं अरिश आपको एक न्यू स्टोरी बताता हूँ इस स्टोरी का मैने नाम दिया है “जवानी के दिन है चार” जी हान जैसा की स्टोरी का नाम है स्टोरी भी बिल्कुल वैसी ही है मैं तो ये सोचता हूँ की मेरा जनम ही फीमेल्स की सेवा के लिए हुआ है, जिसे मेरी ज़रूरत है मुझे अपने पास बुला लेता है या आगे भी जिसको मेरी ज़रूरत हो मुझे बुला लेना मैं सेवा के लिए रेडी रहता हूँ, सो डॉन’ट बी शाइ प्लीज़ कॉल ओर मैल मी जैसी भी सेवा हो मैं करने की कोशिश करूँगा और मैं पहले अपने बारे मे आप लोगो को बता दू मेरे लॅंड का साइज़ करीब ६इंच का है, पर थोड़ा मोटा है लॅंड मे मोटी-मोटी नसे उभरी है जिससे रिब्स कॉंडम वाली फिल्लिंग आती है ऐसा मेरी फीमेल पार्ट्नर्स कहती है जो मेरे साथ सेक्स कर चुकी है और मुझे सेक्स करने से पहले सेक्स मसाज करना काफ़ी अछा लगता है और मसाज भी मैं कई तरीके से करता हूँ, लाइक ओइल से बटर से हुन्नी से जॅम एट्सेटर