Mausi ki Beti Ki Chudai Kahani • Hindi Sex Stories

 

Mausi ki Beti Ki Chudai Kahani • Hindi Sex StoriesJawan ladki ki chudai एक दिन में और मेरी बहेन मेरी मोसी के यहाँ शादी में गए हुए थे मोसी की तीसरे नंबर की बेटी की शादी हो रही थी. अरे दोस्तों में तो अपना परिचय देना ही भूल गया चलो में अपने बारे में आप को बता दू.. मेरा नाम सतीश हे और में मुंबई में रहता हूँ मेरी एक छोटी बहेन हे सुरेखा मेरे माता पिता को गुजरे हुए ५ साल हो गए तब से मे ही घर की देख रेख रखता हूँ घर में में और मेरी बहेन हे. मैं चुदाई का बड़ा रसिया हूँ. मुझे लडकियों के बूब्स चूसना और चूत को चाटना बड़ा पसंद हैं. आज मैं आप को एक सेक्सी बूब्स वाली लड़की की कहानी बता रहा हूँ जो वैसे तो रिश्ते में मेरी मौसी की बेटी ही हैं.

मेरी मोसी गाऊ में रहती हे उसको ४ बेटियाँ और एक बेटा हे दो बेटियों की शादी हो चुकी हे और हम तीसरी की शादी में गए हुए थे और मोसी का लड़का जो अभी बहोत छोटा था जिसकी उम्र थी १० साल .

चलो दोस्तों अब में अपनी कहानी पे आता हूँ में और मेरी बहेन जब मोसी के यहाँ शादी में एक हफ्ता पहले गए थे यानी की शादी तो अभी ८ दिन बाद होनी थी.लेकिन मोसी की जिद की वजह से हमें जल्दी आना पड़ा. मोसी के यहाँ पहोंचते ही सब ने हमारा स्वागत किया लेकिन एक सख्स देर से आया और वो थी मेरी मोसी की सबसे छोटी बेटी आनंदी जो नहाने गयी हुई थी इस लिए वो देर से आई आहा में तो उसे गीले गिले बालो में देख कर देखता ही रह गया.

नहाकर निकली थी तो आनंदी का रूप और भी खिला था वो यु तो सुन्दर थी ही लेकिन नहाकर निकलने ने की वजह से और भी सुन्दर दिख रही थी उसके कपडे भी गले थे उसकी सुन्दरता को और बढ़ावा दे रहे थे. सबकी हाजरी होने की वजह से में चाहकर भी उसे जी भर के देख नहीं सका लेकिन एसा ही मोका मुझे दुसरे दिन मिल गया जब मोसी और घर के सारे लोग पडोसी की बेटी की गोद भराई में गए हुए थे घर में और कोई नहीं था में और आनंदी जो नहा रही थी में तो उसे नहाने जाते देख कर ही कही नहीं गया था और ऊपर से उसे जी भर के देखने का मोका जो मिला था में केसे जाने देता.

घर वाले अभी तो गए ही थे की दो ही मिनट में आनंदी नाहा कर बात रूम से निकली में तो बाथ रूम के सामने ही बता था जेसे वो अन्दर से निकली मेरी और उसकी नजर टकराई बदन में करंट हम दोनों को लगा वो शर्म के मारे नजर ज़ुकाए रूम की और भागी में भी उसके पीछे पीछे गया देखा तो वो आईने के सामने कड़ी थी में उसके पीछे जा खड़ा हुआ और उसके गले बालो को सूंघने लगा. वो सब देख रही थी और मन ही मन मुस्कुरा रही थी.

मेने बातो बातो में उससे पूछ लिया की घर के सारे लोग अब वापस कब आयेंगे तो उसने बताया की शाम हो जायेगी. में तो मन ही मन खुस हो गया क्यों की आनंदी को एसे गिले कपड़ो में देख कर में तो उसे चोदने का मन बना चूका था अब केसे भी करके उसे तैयार करना था बाथरूम से निकलने के बाद की उसकी ये हारकर मुझे शायद उसके करीब जाने की अनुमति दे रही थी जब मेने उसके बालो को सुंघा तब तो वो कुछ नहीं बोली ऊपर से मन ही मन मुस्कुरा रहि थी ये देख कर मेरी हिम्मत और बढ़ गयी और ऊपर से उसने बताया की सब लोगो को आने में शाम हो जाएगी तो मेरे पास पूरा दिन पड़ा था मज़ा लूट ने के लिए.

मेने एक पल खोये बिना उसेके पास जाके उसे कास के पकड़ लिया वो बोलती रही अरे अरे भैया आप ये क्या कर रहे हो…..??कोई देख लेगा तो मुसीबत टूट पड़ेगी ….अभी तो कोई देखने वाला घर में नहीं हे तो क्या मुसीबत आएगी….वो कुछ नहीं बोली तो में समज गया की मदम युही ना…ना… कर रही हे…

मेने उसे और भी दबोचा उसके मुह से आह्ह… निकल गया जो बड़ा सेक्सी था उसके मुह से और आःह्ह्ह.आह्ह्ह…उह्ह्ह्ह ऊउह्ह्ह्ह सुनना चाहता था में ….एसे ही उसे कसते हुए मेने उसके होठो पर किस किया फिर दूसरी बार भी होठो पर किस किया जो लगभग १० मिनट तक किया वो भी जेसे मेरा ही इन्तेजार कर रही हो एसे उसने भी अब मेरा साथ देना सुरु कर दिया.वो मेरे बालो को खिंच रही थी उसकी एसी हरकत से में और भी जोश में आ गया. मेने बिना कपडे उतारे ही उसको ऊपर से चूमने लगा उसके सारे बदन को मेने ऊपर से चूमा और उसके बूब्स को भी बाईट किया.

जब में उसके बूब्स को बाईट कर रहा था तो वो आह्ह्ह ऊउह्ह्ह्ह कर रही थी जो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था और मेरे जोश में भी बढावा कर रहा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *