Pados ki virgin ladki ki chudai

Pados ki virgin ladki ki chudai मैं अभी भी कॉलेज में पढ़ता हूँ. मैं अपने कॉलेज की कयी लड़कियों को चोद चुका हूँ. मेरे घर के पड़ोस में एक परिवार रहता था. उनके घर

मेरा आना जाना था. उनकी एक लड़की थी. उसका नाम मिनी था. उसकी उमर लगभग 18 साल की थी. उनके घर पर एक कंप्यूटर भी था. मिनी बहुत ही सेक्सी थी. मैं उसे चोदना चाहता था लेकिन कोई मौका नहीं मिल पा रहा था.

ये उस समय की बात है जब मिनी के पेरेंट्स 1 मंथ के लिए यूके चले गये थे. घर पर केवल मिनी ही अकेली थी. एक दिन मिनी ने मुझे घर
बुलाया. उसका कंप्यूटर खराब हो गया था. मैं कॉलेज जा रहा था इसलिए मैने शाम को आने के लिए कह कर कॉलेज चला गया.
कॉलेज से वापस आने के बाद मैं मिनी के घर 5 बजे शाम को पहुच गया. मैने कॉल बेल बजाई तो मिनी ने दरवाज़ा खोला. उसने
लाल रंग की स्कर्ट और ब्लॅक रंग की टी-शर्ट पहन रखी थी. उसने अंदर कुच्छ भी नहीं पहन रखा था. उसकी चूचियों के दोनो
निपल्स बाहर से ही महसूस हो रहे थे.

मैं घर के अंदर गया. वो मुझे कंप्यूटर के पास ले गयी. मैने कंप्यूटर को ऑन किया और चेक करने लगा. मिनी चाय बनाने चली
गयी. मैने एक फोल्डर को खोला जो मिनी ने हाइड की हुई थी. उस में बहुत सारी अडल्ट पिक्चर्स की फाइल्स थी. मैं उन पिक्चर्स को देखने
लगा. थोड़ी देर बाद मिनी चाय ले कर आ गयी. उस समय कंप्यूटर स्क्रीन पर जो फोटो थी उस में एक आदमी एक लड़की को डॉगी स्टाइल में
चोद रहा था. वो मेरे बगल में बैठ गयी और बोली, “प्लीज़. ये फाइल्स बंद कर दो. इसे मत देखो.” मैने कहा, “बहुत अच्छि पिक्चर
है.” मिनी का चेहरा शरम से लाल हो गया. उसने माउस पकड़ कर उस पिक्चर को बंद करना चाहा तो मैने कहा, “बहुत अच्छि पिक्चर
है. प्लीज़. मुझे देखने दो. तुमने इसे किस साइट से डाउनलोड किया है.” वो बोली, “प्लीज़. विकी बंद कर दो इसे.”

मैने कहा, “मैं कोई ग़लत काम थोड़े ही कर रहा हूँ. आख़िर तुम भी तो ये पिक्चर देखती होगी. तुम भी जावन् हो और मैं भी. तुमने
कभी ट्राइ किया है.” वो चुप रही तो मैने फिर पूछा. वो बोली, “मैं अभी तक कुँवारी हूँ. मैने कभी किसी से नहीं करवाया
है.” मैने उस से झूठ बोला और कहा, “मैने भी आज तक किसी लड़की के साथ कुच्छ नहीं किया है. घर पर भी कोई नहीं है. चलो,
आज हम दोनो इसे ट्राइ करते हैं.” उसने इनकार कर दिया तो मैने पूछा, “क्यों?” इस बार वो कुच्छ नहीं बोली और उसने अपना सर दूसरी
तरफ घुमा लिया. मैने उसके चेहरे को पकड़ कर अपनी तरफ घुमाया तो उसने मेरा हाथ झटक दिया. मैने फिर पूछा, “हम दोनो ही
कुंवारे हैं और आज अच्छा मौका है. तुम भी जवान हो और मैं भी.घर पर भी कोई नहीं है. हमे ट्राइ करना चाहिए.”

वो एक दम चुप रही. मैने उसकी जांघों पर हाथ फिराना शुरू कर दिया तो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया. उसने अपनी दोनो जांघों को एक
दूसरे पर रख कर ज़ोर से दबा लिया. मैने उसकी जांघों को सहलाते हुए अपना हाथ उसकी जांघों के बीच घुसा दिया. मेरा हाथ सीधा
उसकी चूत पर लगा. उसने नीचे भी कुच्छ नहीं पहन रखा था. उसकी चूत एक मुलायम और चिकनी थी. उसने इस बार मेरा हाथ नहीं हटाया.
मैं समझ गया कि मेरा काम बन जाएगा. मैने उसकी चूत को सहलाना शुरू कर दिया तो उसकी साँसें बहुत तेज़ चलने लगी और उसका चेहरा
एक दम लाल हो गया. वो कुच्छ नहीं बोली.

थोड़ी देर तक उसकी चूत सहलाने के बाद मैं उठा. मैने उसे गोद में उठा लिया और बेडरूम में ले जाने लगा तो उसने अपना चेहरा मेरे
सीने में छुपा लिया. बेडरूम में ले जा कर मैने उसे बेड पर लिटा दिया. मैने उसकी टी-शर्ट और स्कर्ट उतार दी. उसके कपड़े उतारने के बाद
मैने भी अपने सारे कपड़े उतार दिए. मुझे नंगा होते देख उसने अपनी आँखें बंद ली लेकिन उसके चेहरे पर मुस्कुराहट थी. उसका
संगमरमर सा गोरा बदन एक दम नंगा मेरे सामने था. मुझे जोश आने लगा. मैं उसके होठों को चूमना शुरू कर दिया. थोड़ी देर तक
होठों को चूमने के बाद मैने धीरे धीरे उसके चुचियों को, पेट को, जांघों को और फिर उसकी चूत को चूमने लगा.

वो एक दम गरम हो गयी और सिसकारियाँ भरने लगी. मेरा लंड भी खड़ा हो कर जोश से एक दम लोहे जैसा हो गया था और झड़ने वाला
था. मैने अपना लंड उसके मूह के पास कर दिया और चूसने को कहा. वो कुच्छ नहीं बोली. मैने उसके मूह में अपना लंड घुसाने की कोशिश
की तो उसने अपना मूह इधर उधर करना शुरू कर दिया. थोड़ी देर ना नुकुर करने के बाद आख़िर में उसने अपना मूह खोल दिया. मैने अपना
लंड उसके मूह में डाल दिया और वो उसे चूसने लगी. मैं उसके उपर लेट गया और मैने उसकी चूत चाटनी शुरू कर दी. 2 मिनिट बाद ही
मैं उसके मूह में झाड़ गया और उसने मेरे लंड का सारा पानी निगल लिया. लंड का सारा पानी निगल जाने के बाद भी उसने मेरा लंड
चूसना ज़ारी रखा. वो भी अब तक बहुत जोश में आ गयी थी और उसकी चूत से भी पानी निकलने लगा. मैने भी उसकी चूत का सारा
पानी चाट लिया. वो एक दम नमकीन और कुच्छ कुच्छ खट्टा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *