Tag: chod le

XXX My Servant Fucked Me In My Bedroom Sex- indian sex stories Antavasna Sex Kahani

XXX My Servant Fucked Me In My Bedroom Sex- indian sex stories Antavasna Sex Kahani

Antarvasna Hindi Sex Stories, Antarvasna Sex Story, Bhabhi Ki Chudai, Chodan, Chut Ki Chudai, Couple Sex, Desi Boobs, Desi Khani, desi sex story, Didi Ki Chudai, English Sex Stories, Girls Sex Nude Stories, Hindi Kahani, hindi sex kahaniya, Home sex Stories, hotxxxstory, Indian Sex Stories, Indian XXX, indian xxx stories, kamacharitra, kamacharitra sex stories, Telugu sex stories, True Sex Stories
Such horny that to get satisfaction I need 5times fuck per day so my husband chooses me because of my sexiness. After marriage we move to a rented house of 3floor. In the basement there are two bedrooms, one kitchen, one bathroom cum toilet and a drawing room. And in the 2nd floor there are 2 bedrooms, 2 bathrooms cum toilet. Roof is at top of it. He was a duty of 8hours between 10 am to 6 pm. And he started for office at 9 am and return at 7-7.30pm. Between those times I was free and lonely. So I have nothing to do and as I am new there I have no friend. So after 5days I told him to fix a servant who will help me in all housework and I will get a friend. So he called her friend and told him for an honest and good servant. Couples of day later a man of age late 25 came to our house and...
behen ke liye lund ka intajam

behen ke liye lund ka intajam


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
दोस्तों, मैं अरुण लखनऊ से हूँ. . इनकी कहानियाँ बहुत ही जादा मनोरंजन देती है. और चुदाई की नयी नई टिप्स भी देती है. तो मैं भी आज अपनी सेक्स कहानी को लेकर हाजिर हूँ. तो आपको अपनी चुदाई कहानी सुनाता हूँ. क्या हिन्दुस्तान में हम अपनी बहनों को छू सकते है, उनको हाथ लगा सकते है. अगर बिना लाग लपेट के बात करे तो मैं हम सभी भाई अपनी बहनों को खुलकर बिना किसी भय और लोक लाज के चोद सकते है. हिंदुस्तान इतना रुढिवादी क्यूँ है. क्यूँ अब संस्कारों का बोझ अपने कन्धों पर धो रहे है. विदेशों की तरह हम भाई क्यूँ नहीं अपनी बहनों को चोद सकते है. सेक्स और चुदाई को लेकर हमारे देश में इतने नियम, इतने उसूल आदर्श क्यूँ है. उस दिन जब मैं शांत अकेला घर में बैठा था तो घूम फिर कर यही सब बातें मेरे जहन में आ रही थी. ये सुनने में आया था की मेरी बहन पूनम किसी मुस्लिम लड़के से बात करने लगी है. ये बात मेरे पुरे मोहल्ले में आग की
chudai karongi to tujh se raja

chudai karongi to tujh se raja

aunty ki chudai ki kahani, bahan ki chudai, behan ki chudai, bhabhi chudai kahani, Bhabhi Ki Chudai, chudai ki hindi kahaniya, chudai ki kahani photo ke sath, Dear sister's fuck, desi chudai, desi chudai kahani, Desi wife cheating sex stories, Desi wife sex stories, Desi wife sharing sex stories, Desi wife swapping sex stories, devar bhabhi ki chudai, DEVAR BHABHI SEX, devar bhabhi sex stories, english sex kahani, English Sex Stories, Family Sex Stories, Fuck in relationships, Girlfriend ki Chudai, girlfriend Sex stories, Hindi Sex Stories, Hindi Sex Story, Kamukta sex stories
नमस्कार दोस्तों मेरा नाम रवि है और मेरी बहन का नाम पूनम है और हमारी फेमिली में मेरी माँ और मेरी बहन है। मेरे पापा की कुछ समय पहले एक बीमारी की वजह से म्रत्यु हो गयी थी। मेरी उम्र 21 साल है और में एक कॉलेज में पड़ता हूँ.. मेरी बहन की उम्र 25 साल है और वो एक स्कूल में पढाती है। मेरी बहन पूनम बहुत ही सेक्सी है। उसका फिगर 34डी-32-37 है.. रंग गोरा नहीं है.. लेकिन काली भी नहीं है.. वो थोड़ा साफ कलर की लड़की है जिसको देखकर किसी का भी लंड खड़ा हो जाता होगा.. उसके बाल बहुत काले है और लंबे भी है। पूनम का स्कूल एक बजे ख़त्म हो जाता है। एक दिन में उसके स्कूल के पास से गुजर रहा था तो मैंने देखा कि वो किसी लड़के के साथ खड़ी थी और कुछ बातें कर रही थी। तभी थोड़ी ही देर में एक मेडम आई और पूनम को साथ लेकर चली गयी और मैंने देखा कि वो लड़का और एक दूसरा आदमी उसके पीछे चले गये.. वो दोनों लड़के शायद उसके स्
Nadi Kinare Chut Pukare

Nadi Kinare Chut Pukare


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
हाय फ्रेंड्स मेरा नाम चंदन है ये कहानी तब की है जब 20 साल का था, मे का महीना मैं हमेशा गाओं जाता था उस बार जब गाओं गया तो घर पे कोई नही था सिर्फ़ दादा दादी घर पे थे और कोई नही था मुझे बोर लग रहा था गर्मी बहुत था. हिन्दी सेक्स स्टोरीस हमारे गाओं मे एक नदी है जिसमे हमेशा पानी भरा हुआ रहता था वाहा एक बड़ा सा पेड़ था जिसके वजह से उस जगा बैठने मे मज़ा आता था. मैने 12 बजे वाहा जाने का प्लॅन बनाया वाहा जाके बैठा था की एक औरत वाहा आई जिसका उमर कुछ 40 के बीच मे होगी उसने शायद पेटिकोट नही पहना और ब्लाउस बिल्कुल नही पहना था उनका बूब्स साफ पता चलता और वो जब चलरहिति बूब्स हिल रहेते वो कुछ बर्तन लेके आई थीसाफ करने के लिए. वो मुझे देख के थोड़ा हसके पूछी कौन हो तुम और किसके घर आए हो मैने कहा मैं बद्री मेरा दादा जी है और मेरा नाम चंदन है तो वो बोले अछा और बर्तन नदी के कीनारे रख दिया और थोड़ा आगे
massom bache ki khawish

massom bache ki khawish

aunty ki chudai ki kahani, bahan ki chudai, behan ki chudai, bhabhi chudai kahani, Bhabhi Ki Chudai, chudai ki hindi kahaniya, chudai ki kahani photo ke sath, Dear sister's fuck, desi chudai, desi chudai kahani, Desi wife cheating sex stories, Desi wife sex stories, Desi wife sharing sex stories, Desi wife swapping sex stories, devar bhabhi ki chudai, DEVAR BHABHI SEX, devar bhabhi sex stories, english sex kahani, English Sex Stories, Family Sex Stories, Fuck in relationships, Girlfriend ki Chudai, girlfriend Sex stories, Hindi Sex Stories, hindipornstories, Kamukta sex stories
हेलो दोस्तो मैं रश्मि दिल्ली से वैसे तो पंजाबी हूँ बट शादी के बाद देल्ही आ गई, में अपने बारे मे थोड़ा इंट्रो दे दूं फिर स्टोरी पर आउन्गि तो दोस्तों मेरी एज 24 रंग गोरा और फिगर 38डी-28-40 जो कि टाइपिकाल पंजाबी गॅल्स का होता है,,,शादी को 2 साल हो चुके है बच्चा कोई नही वजह आप जानते है पति घर पर रहे तो बच्चे के चान्स बने,,,:-) मेरे पति मेरीन इंजीनियर है और साल मे 10 मंत शिप पर रहते है. हमारी फमिली में हम पति पत्नी, जेठ जी और उनकी पत्नी, उनका एक ****** साल का बेटा और मेरे ससुर रहते थे ,,,,,,,,,,,, “थे” का मतलब आप को आगे पता लग जाएगा……….. बात कुच्छ ज़्यादा पुरानी नही है कोई 6 मंत्स हुवे हैं,,मेरी शादी के 3 मंत बाद ही जेठ जी और उनकी पत्नी की डेथ एक कार आक्सिडेंट मे हो गयी, अब आप थे का मतलब समझ गये होंगे,, नाउ हम घर मे सिर्फ़ 3 लोग बचे मे, ससुर जी और जेठ जी का बेटा जब उनकी डेथ हुई तो नॅचुरली
Mujhe Randi Kisne Banaya 1

Mujhe Randi Kisne Banaya 1

antarvasnahd, aunty ki chudai ki kahani, bahan ki chudai, behan ki chudai, bhabhi chudai kahani, Bhabhi Ki Chudai, chudai ki hindi kahaniya, chudai ki kahani photo ke sath, Dear sister's fuck, desi chudai, desi chudai kahani, Desi wife cheating sex stories, Desi wife sex stories, Desi wife sharing sex stories, Desi wife swapping sex stories, devar bhabhi ki chudai, DEVAR BHABHI SEX, devar bhabhi sex stories, english sex kahani, English Sex Stories, Family Sex Stories, Fuck in relationships, Girlfriend ki Chudai, girlfriend Sex stories, Hindi Sex Stories, sex kahani
हेल्लो दोस्तों मै टीना जैन इंदौर से आज दिनांक २०/१०/२०१० को मै २० साल १० महीने २० दिन की हो गयी हूँ . आज मै अपने अतीत के बारे मै लिखना प्रारंभ कर रही हूँ . मेरे पिता जी एक बिजनेसमेंन है मम्मी गृहणी है . मेरे परिवार मै पापा मम्मी और हम दो बहने है. मेरे पापा का नाम अतुल(43) है . मम्मी का नाम वैशाली(42){36D-32-36} है . मेरी बहेन का नाम इप्शिता(17) है .हमारा घर बहुत बड़ा है .हम लोगो के पास बहुत पैसा है . बचपन से हम बहने बहुत लाड प्यार मै पली बड़ी है . मेरे पापा बहुत हैण्डसम है . मेरी माँ भी बहुत सुंदर है . मेरी माँ बहुत धर्मालु है वो रोज मंदिर जाती है .मेरे पापा के एक भाई(आशीष) भी है जो भोपाल मै रहते है . वो कभी कभी हमारे घर आते है . १. सहेली के साथ .. Mujhe Randi Kisne Banaya 2 बात तब शुरू होती है जब मै ***** साल की थी . उस समय मेरा फिगर {34D-29-33} था . एक दिन मेरी सहेली तान्या ने
Drilling Little Sisters Pussy with my huge cock  AntavasnaSexKahani

Drilling Little Sisters Pussy with my huge cock AntavasnaSexKahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
Drilling Little Sisters Pussy with my huge cock Sonali is active in sports and that day she came home moaning. She was hit by her co-player’s spike and she bled near thigh region. Her thighs are broad and bouncing like any normal sports person. My mom was out for a kitty party and dad was yet to come home. I was reading my book when she came home. She asked where mom was as she wanted her to apply some pain killer ointment on her thighs. indian sex photos big boobs I said her mom was not there and if she wanted I can apply the ointment. She looked at me and thought for a moment. Then she nodded her head in yes. Her friend who came to drop Sonali aready went and now we both were alone in entire house. She laid herself on sofa and I took out ointment from cupboard. She pulled her shorts
Mujhe Randi Kisne Banaya 2

Mujhe Randi Kisne Banaya 2


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
पापा ने पूछा आगे बताओ. Mujhe Randi Kisne Banaya – 1 मम्मी बोली की- उस दिन अग्रवाल ने जाने का नाटक किया जैसा मेने कहा था और घर की एक दुप्लीकेट चाभी उसे दे दी . फिर मेने रजनी को अपने कमरे में ले गयी और गुस्से में उससे पूछा की तुम मेरे कमरे में क्यों झाँक रही थी कल . वो डर गयी बोली मालकिन में तो झाड़ू लगाने आई थी . में किसी से नहीं कहूँगी सच . और वो रोने लगी मेने और जोर की आवाज में कहा की जा साली तेरे कहने से क्या होता है. मेरा पति मुझे बहुत प्यार करता है वो ये सुनते ही तुझे जान से मार देगा. वो बहुत दर गयी हाथ जोड़ कर मेरे पैरो में गिर कर बोली मालकिन सच में कभी अपना मुह नहीं खोलूंगी . मुज पर दया कीजिये आप जैसा कहोगी में वैसा करुँगी आज से . मेने कहा ठीक है जा एक गिलाश पानी ला मेरे लिए वो जल्दी से पानी ले आई . में बेद पर लेट गयी और उससे जमीं पर बैठने को कहा . मेने उससे पूछा की तेरे पति
Dost ki bahan ki kamukta  दोस्त की बहन की कामुकता AntavasnaSexKahani

Dost ki bahan ki kamukta दोस्त की बहन की कामुकता AntavasnaSexKahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
  दोस्तों यह बात आज से कुछ दिनों पहले की है. उस समय मेरे दोस्त के पापा किसी दूसरे शहर में किसी काम से एक सप्ताह के लिए गये हुए थे और इसी बीच उसकी बड़ी बहन भी घर पर आ गई थी और वो भी दस दिनों के लिए और किस्मत भी देखो कि उसके घर पर समस्या भी उसी वक़्त आनी थी, मेरे दोस्त को मलेरिया हो गया और वो किसी हॉस्पिटल में भर्ती था और उसी शाम को जब मैंने फोन किया तो फोन उसकी माँ ने उठाया और जब मेरी बात हुई तो मुझे पता लगा कि वो हॉस्पिटल में है और वो यह बात कहकर रोने लगी. फिर उसके बाद मैंने उन्हें थोड़ा समझाया और फिर कुछ देर बाद उन्होंने मुझसे कहा कि घर पर नेहा भी आई हुई है और वो हमारे लिए खाना बनाकर लेकर आएगी. फिर मैंने उनसे कहा कि में खुद आपके लिए खाना लेकर आ जाऊंगा और में इस बहाने से आपसे भी मिल लूँगा. फिर उन्होंने कहा कि ठीक है और फिर मैंने फोन रख दिया और में शाम के 7 बजे अपने दोस्त के घर पर
sareena mere sath jyada free thi • Hindi Sex Stories

sareena mere sath jyada free thi • Hindi Sex Stories

aunty ki chudai ki kahani, bahan ki chudai, behan ki chudai, bhabhi chudai kahani, Bhabhi Ki Chudai, chudai ki hindi kahaniya, chudai ki kahani photo ke sath, Dear sister's fuck, desi chudai, desi chudai kahani, Desi wife cheating sex stories, Desi wife sex stories, Desi wife sharing sex stories, Desi wife swapping sex stories, devar bhabhi ki chudai, DEVAR BHABHI SEX, devar bhabhi sex stories, english sex kahani, English Sex Stories, Family Sex Stories, Fuck in relationships, Girlfriend ki Chudai, girlfriend Sex stories, Hindi porn stories, Hindi Sex Stories, sex kahani
  यह आज से 1 साल पहले की बात हे जब में Bऑओम फाइनल एअर में पढ़ता था. हमारे कॉलेज में बोहट लड़कियाँ पढ़ती थी और हमारे क्लास मे भी काफ़ी लड़कियाँ थी. लेकिन उन्न में दो 2 लड़कियाँ ऐसी थी क जिन को देख कर मेरा लंड खड़ा हो जाता था और में सिर्फ़ उनकी तरफ देखता रहता था. ऐक का नाम सरीना था और दूसरी आनी. सरीना मेरे साथ ज़ियादा फ्री थी जब क आनी इतनी न्ही थी. में हमेशा उनको छोड़ने का सोचा करता था लेकिन कभी भी मोक़ा न्ही मिल सका था. ऐक हमारी क्लासस ख़तम हुए तो हम सब स्टूडेंट्स नीचे आ गाए. कुछ देर बाद में ने देखा क सरीना और आनी ऊपेर जा रही हाइन में ने उन्न्का पीछा काइया. वो दोनो क्लास में चली गई और दरवाज़ा बंद केरलिया. में दरवाज़े क साथ लग कर खड़ा हो गया और सोचा क जेसे ही वो निकलेंगी तो में क्लास मे अंडर जाने क बहाने किसी ऐक क ब्रेस्ट्स को हाथ लगा लूँगा. लेकिन काफ़ी देर गुज़र जाने क बाद जब