Tag: indiansexstories.net

पड़ोस वाली बबिता रंडी निकली

पड़ोस वाली बबिता रंडी निकली

Desi Boobs, Desi Khani, Girls Sex Nude Stories, Hindi Sex Stories, Indian XXX, Telugu sex stories
प्रेषक : राहुल … हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राहुल है, में IInd ईयर अंडरग्रेजुयेट स्टूडेंट हूँ। अब में आपको अपने बारे में बता दूँ, मेरी हाईट 6 फुट है और मेरे लंड का साईज़ 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है। अब में आपको अपनी पड़ोस वाली बबिता के बारे में बताता हूँ, बबिता को में आंटी कहता था, उसकी गांड बहुत बड़ी है, उसकी चूची भी बहुत बड़ी है, आप दोनों हाथ से नहीं पकड़ पाओंगे। उसके एक बेटी भी है, जिसका नाम कविता है और वो भी बहुत सेक्सी है। अब में सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ ये बात तब की है जब गर्मी का मौसम था और में अपने घर की छत पर पढ़ रहा था। उस टाईम में 12वीं क्लास में था, हम दोनों की छ्त एकदम सटी हुई है, में आंटी को कभी ग़लत नज़र से नहीं देखता था। उनके पति बहुत सीधे थे और वो एक टीचर थे, तो कभी-कभी में पढ़ने उनके घर चला जाता था। एक बार जब में उनके घर गया तो मैंने देखा कि वहाँ कविता नहीं है और आंटी
चूत मे भी आग लगती है

चूत मे भी आग लगती है

aunty ki chudai ki kahani, bahan ki chudai, behan ki chudai, bhabhi chudai kahani, Bhabhi Ki Chudai, chudai ki hindi kahaniya, chudai ki kahani photo ke sath, Dear sister's fuck, desi chudai, desi chudai kahani, Desi wife cheating sex stories, Desi wife sex stories, Desi wife sharing sex stories, Desi wife swapping sex stories, devar bhabhi ki chudai, DEVAR BHABHI SEX, devar bhabhi sex stories, english sex kahani, English Sex Stories, Family Sex Stories, Fuck in relationships, Girlfriend ki Chudai, girlfriend Sex stories, Hindi Sex Stories
सब से पहले मैं अपने शरीर के बारे मे बता दूं. मेरा रंग सांवला और मेरी हाइट कम है. मगर मेरे मम्मे बहुत भारी भारी. पतली कमर के नीचे फिर से भारी चूतड़. इस तरह मेरा बदन तो सब को सेक्सी लगता था मगर कोई मुझ से दोस्ती नहीं करना चाहता था. जब मैं जवान हुई तब तक मेरे माँ बाप मर चुके थे. मैं अपनी एक दीदी और जीजा जी के साथ रहती थी. मेरी शादी के बारे मे कोई सोचने वाला ही नहीं था. यह सोच सोच के मैं दुखी होती और मेरी चूत गरम होती रहती. मेरी चूत तब कुच्छ ज़्यादा ही गर्मी दिखाने लगी थी. 19 साल की होते होते मैं चुदने के लिए बेताब रहती थी. यहाँ तक मेरे जीजा जी ने कई बार मेरे मम्मो पर हाथ डाल कर मुझे अपनी ओर घसीटा था. वैसे तो मैं भी सेक्स चाहती थी मगर दीदी का घर बर्बाद नहीं कर सकती थी. इस लिए जीजा जी को झटक देती थी. सेक्स के लिए मेरे पहले दो प्रयास विफल रहे. मैं ने सब से पहले गली के लड़के को इशार
kamukta kahani maa beti or raju

kamukta kahani maa beti or raju


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
उस समय मैं और मम्मी उस घर में अकेले ही रह गये थे। बड़ा घर था। पापा की असामयिक मृत्यु के कारण मम्मी को उनकी जगह रेल्वे में नौकरी मिल गई थी। मम्मी की आवाज सुरीली थी सो उन्हें मुख्य स्टेशन पर अनांउन्सर का काम मिल गया था। यूँ तो अधिकतर सभी कुछ रेकोर्डेड होता था पर कुछ सूचनायें उन्हें बोल कर भी देनी होती थी। मम्मी की उमर अभी कोई अड़तीस वर्ष की थी। अपने आप को उन्होंने बहुत संवार कर रखा था। उनका दुबला पतला बदन साड़ी में खूब जंचता था। रेलवे वाले अभी भी उन पर लाईन मारा करते थे। शायद मम्मी को उसमें मजा भी आता था। मैं भी मम्मी की तरह सुन्दर हूँ… गोरी हूँ, तीखे नयन नक्श वाली। कॉलेज में मेरे कई आशिक थे, पर मैंने कभी भी आँख उठा कर उन्हें नहीं देखा था। हाँ, वैसे मैंने एक आशिक संदीप पाल रखा था। वो मेरा सारा कार्य कर देता था। घर के काम… बाहर के काम… कॉलेज के काम और कभी कभार मम्मी के काम भी कर दिया
shadi mai saali ki chudai kahani

shadi mai saali ki chudai kahani


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
shadi mai saali ki chudai kahani मेरा नाम विजय है । मैं 35 साल का नौजवान हूँ। सुन्दर लड़की को देखकर मेरा लण्ड खड़ा होने लगता है और बेकाबू हो जाता है । चोदने की ईच्छा तीव्र हो जाती है। मन करता है कि उसके नर्म नर्म गालों को छू लूँ और उसके होठों को चूम लूँ। उसे अपनी बाहों में भरकर उसकी चूचियों को दबा दूँ और अपना लण्ड उसके बुर में डालकर चोद डालूँ। सर्दियों के दिन थे और शादी का माहौल था। मेरे तीसरे छोटे साले की शादी थी और हमलोग ससुराल में इके हुए। काफी लोग होने की वजह से हर कमरे में कई लोगों के सोने का इन्तजाम था। मेरी सलहज यानि पहले साले की बीवी का नाम था सरला। गेहुआँ रगं भरा हुआ बदन 34 26 34 के आकंड़ों जैसा गदराया बदन थिरकती बड़ी बड़ी चूचियां मोटी मोटी केले के तने जैसी जांघें और गज़ब की सुन्दर। इच्छा करती कि दबोच कर बस चबा ही डालूँ। इठलाती हुई जब चलती अपनी साड़ी को सामने हाथ से चूत के पा
सेक्सी भाभी का हरामी देवर

सेक्सी भाभी का हरामी देवर

Desi Boobs, Desi Khani, Girls Sex Nude Stories, Hindi Sex Stories, Indian XXX, Telugu sex stories
प्रेषक : विशाल … हैल्लो दोस्तों, मेरी कामुकता डॉट कॉम पर यह दूसरी स्टोरी है। ये बात सर्दियों की है मेरे घर के बाहर एक रेस्ट हाउस बना है, जो हमने किराए पर दिया था। सर्दीयों में अक्सर लोग रज़ाई में जल्दी सो जाते है, लेकिन जब जवानी चढ़ी हो और लंड कुंवारा हो तो नींद कहाँ आती है? रज़ाई में मन चूत खाने को करता है और लंड भी अकड़कर तनकर सौ गालियाँ देता है की भोसड़ी के एक चूत (गुझिया) का इंतज़ाम भी नहीं कर पा रहा है गांडू। गुझिया हम लोग औरत की चूत को कहते है, वाकई में दोनों टांगो के बीच में जब चड्डी को गोरी-गोरी मोटी मासल जाँघो से नीचे सरकाओ तो हल्के घुँगराले झाटों के नीचे पतली सी सोई-सोई चूत वाकई में खाने में मेवा भरी चूत, या कहूँ मलाई-मक्खन सी मीठी लगती है। तो हम उन सर्दियों में एग्जॉम के लिए पढ़ते हुए थक से गये थे और 19 साल की उम्र में मन कर रहा था थोड़ा हस्तमैथुन कर लूँ तो मन फिर से पढ़ाई में
Chudai Sex kahani Three in one Hindi Sex Stories

Chudai Sex kahani Three in one Hindi Sex Stories


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/40/d732237198/htdocs/clickandbuilds/DesiKhani/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
Chudai Sex kahani Three in one मेरी उमर 35 साल की है. मेरा बदन एक दम गथीला है और मेरी लंबाई 5′ 6″ है. मेरा कॉक 7″ लंबा काफ़ी मोटा है. ये उस समय की बात है जब मैं अपने भैया के ससुराल गया था. मैं उस समय 20 साल का था. मेरे भैया की दो सालियाँ थी, जया और प्रेमा. जया 19 साल की और प्रेमा 18 साल की थी. मैं पहले भी काई बार भैया के ससुराल जा चुका था. प्रेमा बहुत ही चंचल थी लेकिन जया उस से भी बढ़ कर चंचल थी. वो मुझसे बहुत मज़ाक करती थी. जया ने काई बार मज़ाक मज़ाक में मेरे गालों को काट भी लिया था. एक दिन उन दोनो ने कहा कि जीजू चलो आज पिक्चर देखने चलते हैं. मैं कहा ठीक है. पिक्चर हाल वहाँ से बहुत दूर था. हमे मतनी शो देखना था. इसलिए हम तीनो पिक्चर देखने के लिए 2 बजे पर ही घर से निकल गये. मैने एक ऑटो लिया. हम ऑटो में बैठे तो जया और प्रेमा बहुत मुस्कुरा रही थी. मैने पूचछा की क्या बात है तुम दोनो बहुत
birthday pe gift mei chut mili

birthday pe gift mei chut mili

bhabi ki chudai, chudai ki kahani/sali ki chudai, Girls Sex Nude Stories, Hindi Desi Kahani, Nude Photos, Pakistani Sexy Girls, Telugu sex stories
birthday pe gift mei chut mili birthday pe gift mei chut mili Hello Doston aaj main aapko ek aisi kahani sunaa rahi hu, jisko sun kar aapkaa land khada ho jayega, kyon ki ye kahani badi hi hot hai, ye kahani mere aur mere chhote bhai kavi ke baare me hai, aaj main aapko bataungi ki wo mujhe kaise choda tha wo apne birth day ke din, aap bhi hairaan ho jayenge usne jo chaal chalaa tha, khair jo bhi hua achha hi hua, main naa chhahte huye apne bhai se chudwaa li, ab main aapko apni puri dastan sunaati hu, aasha karti hu ki aapko meri ye kahani bahoot achhi lagegi. mera naam sima hai main aise Agra ki rahne baali hu, par main abhi Delhi me rahti hu, main padhai karti hu, main Delhi college se graduation kar rahi hu, aur mera bhai abhi abhi engineering ki taiyaari karne ke liye Delhi a
सरपंच की बेटी के साथ सुहागरात

सरपंच की बेटी के साथ सुहागरात

Desi Boobs, Desi Khani, Girls Sex Nude Stories, Hindi Desi Kahani, Hindi Sex Stories, Indian Khani, Indian XXX, Nude Photos, Telugu sex stories
प्रेषक : अभिषेक … हैल्लो दोस्तों, ये बात आज से कोई 2 महीने पहले की है, में अपने ऑफीस के काम से एक गाँव में गया हुआ था। वहाँ पर मुझको उस गाँव के सरपंच से मिलना था। फिर जब में उस सरपंच के घर गया और दरवाज़ा खटखटाया तो एक कोई 25 साल की बहुत ही खूबसूरत सी औरत बाहर निकली तो में उसको देखता ही रह गया। उसकी हाईट यही कोई 5 फुट 6 इंच थी, गोरा रंग, उसने एक अच्छी सी ब्लू साड़ी पहनी हुई थी। अब में उसको देखता ही रह गया था। फिर मैंने उसको बताया कि में सरपंच से मिलना चाहता हूँ। उसने मुझको अंदर आने को कहा और अंदर एक रूम में बैठाया और बोली कि आप यहाँ बैठिए, पापा अभी आते है। तब में समझ गया कि ये सरपंच की बेटी है। फिर थोड़ी देर में वो मेरे लिए पानी लेकर आई और मुझको पानी देकर चली गयी। फिर कुछ देर के बाद सरपंच मेरे रूम में आया और मैंने उसको बताया कि में यहाँ क्यों आया हूँ? और फिर काफ़ी देर तक हमारी बात च