Train Ka Ek Safar Stranger Ke Saath

जैसे मैने बताया, मैने कोल्हापुर स्टेशन ( अहमदाबाद ) से ट्रेन ली, करीबन रात के 11 बजे थे, मेरी 2एसी मे वेटिंग थी, टीटी से सेट्टिंग किया उसको 500 पकड़ाए तो उसने मेरी फर्स्ट एसी मे करवा दी बोलके की एक सीट खाली है, जाके सो जाना.

जब मैं पोहोचा तो मेरे होश उड़ गये, फर्स्ट एसी हमेशा एक कॅबिन की तरह होता है, मैं थोड़ा जल्दी मे था इसलिए बिना नॉक किए दरवाज़ा खोल दिया, उसमे एक लड़की थी जो करीबन 20 -21 साल की होगी, वो कपड़े पहन रही थी, पूरा अंधेरा था.

जब मैने दरवाज़ा खोला वो पैजाम पहन रही थी और उपर कुछ नही था, वो ज़ोर से चिल्लाई, मैने उसके मूह पे हाथ रख दिया और बोला आई एम सॉरी, प्लीज़ फर्गिव मी इट वाज़ अनैंटेन्षनल.
वो थोड़ा सहम गयी पर मैने स्प्लिट सेकेंड मे बाहर आ गया, वो कपड़े पहन के बाहर आई और बोली सॉरी आई ओवेर्रेाकटेड मुझे दरवाज़ा अंदर से बंद करना था, आप अंदर आ जाइए.

मैने फिरसे उससे माफी माँगी और अंदर चला गया, वैसे मैं 28 ईयर्स का हू, बट मेरी फिज़ीक और स्मार्टनेस से 25 का ही लगता हू,,, उसने कहा आप भी मुंबई जा रहे हो, मैने शर्मा के सर झुकाया.

फिर करीब हाफ एन अवर के सन्नाटे के बाद उसने मुझसे पूछा आपके पास आईफोन का चारजर है, मैने उसे दे दिया, हम दोनो के बीच थोड़ी सी क्यजुअल बाते हुई नाम / काम जैसे.

उसने कहा दिस ईज़ माय फर्स्ट टाइम अलोन इन ए जर्नी, थोड़ा सा डर लग रहा है, मैने कहा कोई नही यू कॅन अस्क फॉर हेल्प इफ़ निडेड.यह कहके मैं सो गया, हमारे बाजू के कॅबिन मे शायद नया जोड़ा हनिमून पे जा रहा था, उनके लिए सुनहरा मौका था सब बंद, उनकी चुदाई की आवाज़ रात 1 बजे हमारे कॅबिन मे सुनाई दे रही थी, मुझे नींद नही आ रही थी, मैं समझ गया कांड हो रहा है, मेरी उमंग जाग गयी मैने फोन मे पॉर्न देखना शुरू कर दिया.

करीबन 10-15 मिनट के बाद, पूजा की आवाज़ आई, बन्नी ये कैसे आवाज़ है, कुछ प्राब्लम हुआ है ट्रेन मे, कोई लड़की चीख रही है आप प्लीज़ देखोना.

उसने लाइट्स भी ऑन करदी मैने शॉर्ट्स पहेने हुए थे, मेरा लंड शॉर्ट्स फाड़ के बाहर आ रह था, आपको ये बताना तो भूल ही गया, पूजा बोहोत ही हॉट लड़की थी, उसने ट्रॅन्स्परेंट टॉप और पैजामा पहना था, मैं उसे क्या कहता, जैसे ही मैं उठा तो उसका ध्यान मेरे तने हुए लंड पे गया, मैं चान्स लेना चाहता था, मैने अपना फोन उधर ही रख दिया, जैसे उसकी नज़र पड़ जाए और कहा मैं देख के आता हू.

मैं बाहर गया तो आवाज़े और भी बढ़ गयी, पूजा को पता चल गया की ज़ोरो से सेक्स चल रहा क्यूकी सिर्फ़ 2 ही कॅबिन थे, जब मैं अंदर आया तो बाजू मे से लड़की की आवाज़े आ रही थी, मेरी प्यास बुझाओ, फक मी.

पूजा शरमाई और शायद उसने मेरा फोन भी देख लिया था, मेरे पास यही मौका था, मैने अपनी टी शर्ट निकाल दी पूजा के सामने ही कहके बोहोत गर्मी है, एसी भी ठीक से काम नही कर रहा.

पूजा मेरे पर्फेक्ट सिक्स पॅक एब्स देखके दंगा रह गयी और बोली आप जिम मे जाते हो क्या, मैने कहा हा और मॉडेलिंग भी करता हू, वाउ मॉडेलिंग कोई शोस किए है ? मैने कहा अभी दिखता हू ये कहके उसके सामने ही जान बूझके वो वीडियो खोला और चलने दिया,, वो शरमाई, मैने सोचा अब चान्स मारना ही पड़ेगा, और बोला पूजा आप भी बोहोत सेक्सी हो,

पूजा कुछ नही बोली, मैं समझ गया चान्स है, मैने उसे सीधा पूछा एनी बीएफ, वो बोली था बट ब्रेक ऑफ हो गया बोहोत ठंडा था वो,

मेरे अरमान जैसे गार्डेन गार्डेन हो गये, मैने उसे पकड़कर के लीप किस ले ली तकरीबन 45 ज़ेक्स की, वो बोली बन्नी तुम तो मुझे प्लेबाय लगते हो, बोहोत एक्सपीरियेन्स है किस्सिंग का, मैने कहा तुम्हे देखके पागल हो गया.

वो बोली धात, उसके बाद क्या था, मैने कॅबिन अंदर से लॉक किया और चढ़ गया उसके उपर, उसका टॉप निकाला और बूब्स सक करने लगा, वो भी मचल रही थी, उसने मेरे सीने पे किस करने शुरू कर दिए, शायद उसे मेरी बॉडी बोहोत अछी लगी थी.

हम लगातार 10 -12 मिनट तक किस करते रहे, फिर वो मेरे उपर चढ़ गयी और मुझे पागलो की तरह किस करने लग गयी, और मेरे निपल्स काटने लगी, मेरा लंड अब पैंट फाड़ने वाला था.

वो नीचे आई और उसने खुद ही मेरा लंड मूह मे ले लिया और बोली, तुम जब अंदर आए तभी मैं पागल हो गयी थी तुम्हे देखके, मेरा 7 इंच का लंड उसने चूसना शुरू कर दिया, क्या बताउ दोस्तो, इट वाज़ हेवेन ऑन अर्थ, उसने मेरे गीतते पे चटा और एक उंगली मेरी गॅंड मे डाल दी, ऐसा तो मैने कभी नही सोचा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *