unhone mujhe jannat dikhai • Hindi Sex Stories

hindi sex kahani मेरी मॅरिज हुए अभी 5 साल हुए है, मुझे अक डेढ़ साल की बच्ची भी है, हमारे परिवार मे सास, ससुर, देवर, उसकी पत्नी, मै और मेरे पति एक साथ ही रहते है. बड़े देवर 1 कंपनी मे मॅनेजर है, और उनकी पत्नी बॉम्बे की है और दोनो ही स्वभाव से बड़े प्यारे है. मेरी देवरानी तो दिखाने मे बहुत सुंदर है, और देवर्जी का तो क्या कहना, हू तो हर रोज सुबह 5.30 को उठकर मैदान पर एक्सर्साइज़ करने जाते है बारिश,ठंड हो या गर्मी. लकिन उनका स्वाभाव थोड़ा गरम होने के कारण घर मे सभी उनसे बहुत डरते है. मेरे पति भी बिज़्नेस मै है जिस मे कम से कम 12 घंटे खड़े रहकर ही काम करना पड़ता है. हमारी सेक्स लाइफ पहले साल तो बहूत खूब रही, रात मे दिन मे जब चाहे तब हम सेक्स का आनंद उठाते थे क्योंकि हुमारे रूम्स सेपरेट है. लेकिन जब लड़की हो गयी तबसे मेरे पति मुझसे नाराज़ हो गये ऐसा मुझे लगता था, और हुमारी सेक्स लाइफ भी बहुत बोरिंग हो गयी थी. हुमारे परिवार मे एक आदत है की जो भी सेक्स का मज़ा लेता था तो उसे सर के उपर से नहाना पढ़ता था, मै तो हफ्ते मे खाली 2 बार सेक्स का आनंद लेती थी क्योंकि मेरे पति काम पर से तक कर आते थे और जल्दी सोते थे. लेकिन मै मेरे देवरानी को देखती थी की वो तो रोज सर के उपर से नहाती थी इसका मतलब देवराजई और वो रोज सेक्स करते थे. एक दिन घर मे कोई नही था मै और मेरी देवरानी दोनो ही थे बाकी सब बाहर गये थे, देवर्जी काम पर ,और मेरे पति भी शॉप पर थे, दोफर मे खाना खाने क बाद मई और मेरी देवरानी दोनो टीवी पर हिन्दी मोविए देख रहे थे तो अचानक एक सेक्सी सीन चालू हो गया हीरो हीरॉइएन का चुंबन ले रहा था मैने देवरानी की तरफ देखा तो वो बहुत शर्मा गयी,मैने उससे कहा इसमे शरमाने की क्या बात है क्या देवर्जी आप का चुंबन नही लेते क्या? तो हू बोली अरे ये तो कुछ नही वो तो मुझे ऐसा किस करते ही तुम पूछो मत, मेरी उत्सूकता बढ़ गयी,

मैं उठा कर बाथरूम के बहाने जाकर देख आई की बाहर कोई नही है और वापस उनके पास आकर बैठ गयी, मेरा एक हाथ उनके पेट के उपर था मैने उन्हे पूछा की कैसे सेक्स करते हो आप दोनो, पहले तो वो शर्मा रही थी लकिन वो सीन देखकर वो भी खुल गयी और बताने लगी की रूम मे जाते ही वो बड़े प्यार से मूज़े बहो मे ले लेते है, फिर हम सोफे पर बैठते है, उसके बाद वो मेरे बाल से क्लिप निकालकर उन्हे खुल्ला कर देते है, और फिर बालो मे हाथ डालकर वो किस करना चालू कर देते है, पहले तो होतो पे किस करते है फिर धीरे धीरे अपनी जीभ मूह मे डालना शुरू कर देते है फिर मई भी अपनी टंग से उनकी जीभ को किस करती रहती हुन.Mएरि सासे आयी गरम चल रही थी और पेंटी गीली होने लगी थी, मैने उनके पेट पर हट फिरना शुरू कर दिया था वो भी अब खुल कर बता रही थी किस करने के बाद वो मेरे बूब्स को सहलकर एक एक करके मूह मई लेते है फिर दोनो बूब्स मूह मे लेते है, मेने फिर उनके बूब्स को हाथ लगाया तो वो चौक गयी और बोली की क्या कर रही हो तो मैने बोला तुम्हारा साइज़ देख रही हूँ उनकी साइज़ 32 थी वो बहूत ही स्लिम है, फिर वो बोली बाद मे वो धीरे धीरे पूरे बदन पर किस करते है आख़िर मे वो मेरे पनटी पर किस करते करते अपनी टंग मेरे चूत के अनादर दल कर ‘ग’ स्पॉट को चूसना चालू कर देते है, ऐसा सून कर मेरे बदन अब पूरा गरम हो चुका था मैने उनका हाथ आपने बूब्स पर रख दिया और बोली की मेरी साइज़ चेक करो, तो उन्होने अपना हाथ फिरना चालू कर दिया, मेरी बूब्स उनसे काफ़ी बड़े थे, वो बोली की उन्हे(देवर्जी को) तो बड़े बूब्स बहुत पसंद है मई तो मान ही मान मे देवर्जी का ख्याल करने लगी,उन्होने फिर मुझे बताया की उनका सेक्स कम से कम 40 मीं तक चलता है, जिसमे वो हर पोज़िशन मे चुदाई करके मज़ा लेते है, लकिन उन्होने ये भी बताया की देवर्जी को वो ठीक तरह से रेस्पॉन्स नही दे पति क्योकि वो बहूत पतली है और देवर्जी आत्लेटिक है. मई तो हैरान हो गयी की 40 मीं तक वो सेक्स का मज़ा लेते है, मेरे पति तो 8-10 मीं मे झाड़ जाते है. बाद मैने उनके बूब्स सहलाना चालू कर दिया और धीरे धीरे उनकी चूत के पास जाने लगी, उनकी चूत बहुत गोरी थी और खास
करके साफ थी, वो बोली की देवर्जी को साफ चूत बहुत पसंद है, चाटने मे बहूत मज़ा आता है, मैने तो तन लिया की जिंदगी मे अगर मोका मिला तो मई देवर्जी से ज़रूर चुड़ववँगी. देवरानी ने बताया की उनका तो लंड भी बहुत मोटा है करीब 7″ लूंबा है, मेरे हज़्बेंड का तो 5″ है ये सुन कर मैने पक्का कर दिया की मुझे तो बस देवर से चुड़वाना है. देवरानी बोली क्या सोच रही हो उनसे चुड़वाना चाहती हो क्या? मई शर्मा गयी और मैने ना कह दिया और फिर हम दोनो उठ गये और फिर वो नहाने चली गयी क्योकि दोनो का पानी चाड चक्का था. लेकिन मई देवर्जी के बारे मई सोचते हुए अपनी चूत सहलाने लगी मान ही मान मे मई अपना बदन देवर्जी को सौप चुकी थी. क्योकि मेरे पति का लंड भी छोटा था, उनका सेक्स मेी इंटेरेस्ट भी कम हो गया था, और हुमारे सेक्स का टाइमिंग भी कम थ.आउर मई जिस मोके की तलाश मे थी वो मोका आ गया, हुमारे सास के भाई के लड़के की शादी थी सनडे को और शनिवार को हम सूब प्लॅनिंग करते बैठे थे की गाओं मे शादी कई गाडियो की कमी की वजास से कैसे जाए तो देवर्जी बोले की मई तो नही आ सकता क्योंकि मुझे छूटी नही है, लेकिन वो बोले मई एक गाड़ी अड्जस्ट कर सकता हूँ, और उन्होने गाड़ी का प्राब्लम सॉल्व कर दिया फिर खाना खाने के बाद हम सोने चले गये, लेकिन मुझे तो नींद नही आ रही थी क्योंकि देवर्जी तो नही आनेवाले थे यानी वो घर पे अकेले रहेंगे ये सोच कर ही मेरी नींद उड़ गयी थी, मेरे पति बोले की क्या सोच रही हो तो मई बोली कुछ नही फिर वो मुझे चूमने लगे और मई भी गरम ही थी तो उस रात को मुझे उनसे चुड़वाने मे बड़ा मज़ा आ रहा था लकिन 5-10 मीं ही वो झाड़ गये और मेरी चूत की प्यास और बढ़ गयी, सेक्स करने के बाद मेरे पति मुझसे बोले की सो जाना जल्दी उतना है कल और वो सो गये, लेकिन मई तो
प्यासी ही थी और मुझे नींद नही आ रती थी, मई तो सोच मेी ही थी की कुछ आवाज़े आ रही थी तो मेरे मान मे शंका जाग उठी की कही ये देवरानी की आवाज़ तो नही, मैने देखा की मेरे पति तो पूरे सो गये थे और मई तो नंगी उठकर साइड वॉल को कन लगाकर ध्याँसे सून रही थी, देवरानी तो सेक्स का मज़ा ले रही थी, उसके मूह से आआ उूुउउ, बससस्स, ज़ोर सी ऐसी आवाज़े आ रही थी, फिर मैने सूना की उनके दीवान की आवाज़ निकाल रही थी और देवरानी बोली थोड़ा धीरे से करना बहुत ही ज़ोर से कर रहे हो तो देवर बोले अरे सेक्स का मज़ा तो ज़ोर से ठोकने मेी ही है धीरे धीरे क्या बोल रही हो, तो वो बोली की कितना टाइम हो गया अपनी चुदाई चल रही है तो देवर ने बोला अभी तो 33 मीं हो गये है और बहुत चुदाई बाकी है, उसी टाइम देवरानी बोली मेरा आने वाला है.आउर आआमम्म्मा करने लगी और श्यद वो झाड़ गयी लकिन देवर तो रुकने का नाम ही नही ले रहे थे वो तो तका –तक चुदाई कर रहे थे और 10-15 मीं के बाद देवर ने ज़ोर से चुदाई चालू की तो देवरानी की आवाज़े ज़ोर से आने लगी, मई तो वो सब सुनकर ही हैरान और गरम हो गयी की एक तरफ मेरा पति था जो 5-10 मीं चुदाई कर क सो गया था और दूसरी तरफ मेरे बड़े देवर थे जो चुदाई के वक़्त रुकने का नाम ही नही ले रहे थे, इतने मई मैने सुना की देवरानी उनको बोल रही थी की बस करो-बस करो तो देवर गुस्सा हो गये और उनके शेरर के उपर से उठ गये और बाथरूम मै जाने की आवाज़ पाकर मई बातरूम के दरवाजे से देखने लगी जो लगबग खुल्ला ही था देवर्जी अपना 7″ का लॉडा हाथ मई लेकर हिला रहे थे और मूह से बोल रहे थे की काश मुझे दूसरी कोई मिल जाए चुदाई के लिए क्योकि देवरानी तो उनका मूड ही घाला दिया था और हू प्यासे थे, आख़िर कर उनका वीर्या गिर गया, मई उधर से निकालकर अपने बेड पर आकर सोने लगी तो मेरे मान मई ख़याल आया की क्योना मई घर पेर रुक जौ और मैने अपनी प्यास बुझाने का पक्का एरदा बना लिया. सुबह होते ही मेरे पति बोले की चलो जल्दी तैयार हो जाओ अपने को जल्दी निकलना है, मेरे तो मूड ही नही था और मै बहाना धुन्दने लगी मै बातरूम मे चली गयी और नहाते समय सोचने लगी तो उसी टाइम सबून से मेरे हाथ फिसल गया और मेरी ट्यूब जल गयी की क्योना सबून का ईस्तमाल करे और मैने वैसा ही किया सबून दरवाजे के बाहर रखकर मैने उसके उपर अपना
पैर रख दिया सबून के वजह से मई फिसल कर गिर पड़ी और रोने लगी तो मेरे पति मुझे उठा कर बोले की क्या हुआ तो मैने जवाब दिया की मई गिर गयी हू और मुझ से उठा नही जेया रहा तो उन्होने आकर मूज़े उठाया और बेड पर लेता दिया और बोले ज़्यादा लगी है क्या तो मैने रोना शुरू कर दिया तो वो बोले की जाने दो मई आज शादी को नही जाता अगर तुम साथ मई नही तो मज़ा नही, लेकिन मैने कह दिया की आपको तो जाना ही पड़ेगा क्योंकि सब जा रहे है और ये तो गाओं मै आख़िरी शादी है, तो वो बोले ठीक हेल लेकिन ख्याल रखना और घर्से सब शादी क लिए निकाल पड़े सिवाए मै और मेरे बड़े देवर.ज़ैसे ही सब निकाल गये मेरे देवर रोज की तरह क्रिकेट खेलने को जाने लगे तो मई आपने पैर को लेकर चिल्ला उठी की मेरे पैर बहुत दर्द कर रहा है तो वो रुक गये और मैने कहा की मेरा पैर दर्द कर रहा है तो वो बोले की चलो डॉक्टर के पास चलते है, तो मैने बोला की डॉक्टर के पास नही इतनी सुबह मैं डॉक्टर कहा होगा तो वो भी परेशन हो गये की अब क्या करे, वो तो स्पेशलिस्ट खिलाड़ी थे तो वो बोले की क्या मई टुमरे पैर की मालिश कर डू, मैने तुरंत हा कर दिया, ऐसा मोका फिर बार-बार नही आने वाला था और मै इसे गवाना नही चाहती थी, तो उन्होने नारियल-नारायण टेल गरम करने को गॅस जला दिया और मेरे पास आकर बोले की कहा दर्द हो रहा है, और मई शर्मा गयी तो वो बोले आरे शरमाने की क्या बात है अगर दर्द की जगह नही बताॉगी तो मई कहा मालिश करूँगा, तो मैने उन्हे बताया की घुटने के उपर और कमर मे भी मोच आयआई है तो वो बोले थिक है और वो उठकर किचन मे गये और गरम किया हुआ टेल लेकर फिर वापस बेड पर आ गये. घर मे सिवाय मेरे और उनके कोई नही था इसलिए वो भी टेन्षन मे थे तो मैने बोला की क्या बात है, तो वो बोले की मई तुम्हे कैसे मालिश करू, तुम तो मेरे भाई की बीवी हो और पराई औरत को तो मई हाथ भी नही लगता,तो मैने झट से बोला की रहने दो मेरी जान भी चली जाए तो आप को क्या, दर्द मुझे हो रहा है तो होने दो मई तो डॉक्टर के पास नही जौंगी, मुझे मेरे हाल पर छोड़ दो और आप खेलने जा सकते हो.

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *